नाहेद हत्तर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नाहेद हत्तर
Nahed Hattar
ناهض حتر
Nahed Hattar.jpg
जन्म 1960
मृत्यु 25 सितम्बर 2016
अम्मान, उर्दुन
मृत्यु का कारण बन्दूक की गोली
नागरिकता उर्दुनी
शिक्षा प्राप्त की उर्दुन विश्वविद्यालय
व्यवसाय लेखक और राजनीति से जुड़े कार्यकर्ता

नाहेद हत्तर (अरबी: ناهض حترNāhiḍ Ḥattar [na:hidˤ ħɑt.taɾˤ]; 1960 – 25 सितम्बर 2016) उर्दुन के एक लेखक और राजनीति से जुड़े कार्यकर्ता थे।

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

हत्तर 1960 में अम्मान में जन्मे थे। हालांकि बचपन में उन्हें ईसाई वातावरण में पले-बढ़े, आगे की आयु में हत्तर स्वयं को नास्तिक समझते थे। [1]

राजनीति से जुड़े विचार[संपादित करें]

हत्तर ने प्रगतिवादी और वामपंथी राजनैतिक आन्दोलनों की अगुवाई की, विशेष रूप से दो राजनैतिक दलों का नेतृत्व किया: नैश्नल प्रोग्रेसिव करंट और उर्दुनी सामाजिक वामपंथी आन्दोलन।[2] वह उर्दुन की नई आर्थिक नीतियों के आलोचक थे।[3] उन्होंने ईसाइयों हथियारबन्द प्रतिरोध की वकालत की - विशेष रूप से अल-नस्रह फ़न्ट, अल कायदा और आईएसआईएस के विरुद्ध।[4] इसके अतिरिक्त उन्होंने उर्दुन को फ़िलस्तीनियों की वैकल्पित भूमि बनाने का विरोध किया और फ़िलस्तीनियों की वापसी के अधिकार का समर्थन किया।[5]

गिरफ़्तारी[संपादित करें]

अगस्त 2016 में हत्तर ने हास्यास्पद कार्टून सामाजिक नेटवार्क फ़ेस्बुक पर प्रस्तुत किया जिसमें एक दाढ़ी वाले पुरुष को स्वर्ग में बिस्तर पर दो महिलाओं के साथ धूम्रपान करते हुए और दैहिक भगवान से शराब और काजू लाने के लिए कहते हुए दिखाया गया है। [6] इस पुरुष ने भगवान से बरतन साफ़ करने और ख़ेमे का एक दरवाज़ा बनाने के लिए भी कहा ताकि अगली बार भगवान अन्दर आने से पहले दस्तक दे सकें।[7] इस कार्टून से एक विवाद उत्पन्न हुआ क्योंकि कुछ उर्दुनी इसे इस्लाम का अपमान मानने लगे थे।

इस कार्टून के कारण, लेखक पर "सामाजिक वर्गों के बीच अशांति और नसलवाद" का बढ़ावा देने का आरोप लगा जो कि उर्दुनी दंड संहिता की धारा 150 का उल्लंधन था। इस धारा के अंतरगत हर प्रकार के भाषण पर दंड का प्रावधान है कि सामाजिक वर्गों या नसली भेदभाव या विभिन्न वर्गों के बीच विवाद को बढ़ावा देते हैं और ऐसा करने वालों को दंडित भी किया जा सकता है। [8] हत्तर पर उर्दुनी दंड संहिता की धारा 278 के उल्लंधन का भी आरोप लगा है जिसके अन्तरगत किसी भी प्रकाशित सामग्री या चित्र के छपने पर रोक है जो धार्मिक भावनाओं को चोट पहुँचाने के इरादे से किया गया हो। [8] हत्तर को आपराधिक आरोप लगने के पश्चात एक सप्ताह के लिए हिरासत में रखा गया था।

लेखक ने फ़ेस्बुक पर एक क्षमा-याचिका रखी थी, जिसमें स्पष्ट किया गया कि कार्टून से उसका इरादा भगवान का अपमान करना नहीं है, बल्कि कार्टून "दाइश के भगवान" का प्रतिनिधित्व करती थी और इसका लक्ष्य आतंगवादियों की स्वर्ग की कल्पना को चित्रित करना था।[9] उसने यह भी कहा कि वह भली-भाँती परिचित है कि आस्तिकों को कार्टून के पीछे के हास्य व्यंग्य की समझ नहीं है।[10]

मृत्यु[संपादित करें]

25 सितम्बर 2016 को हत्तर को एक बन्दूकधारी ने राजधानी अम्मान के न्याय महल के पास गोली मार दी जब वह न्यायिक सुनवाई के लिए जा रहे थे। [11][12]

बन्दूकधारी को वारदात की जगह ही दबोच लिया गया। सुरक्षादलों के एक सूत्र के अनुसार संदिग्ध व्यक्ति की पहचान राइद इस्माईल अब्दुल्लाह के तौर पर की गई है जो पश्चिमी उर्दुन का निवासी है। अब्दुल्लाह अम्मान की एक मस्जिद में प्रचारक है। [13] and an extremist.[14] यह व्यक्ति अभी हिरासत में है और आतंगवाद के आरोपों का सामना कर रहा है।

कुछ रूढ़िवादी उर्दुनी मुसलमान हत्तर के कार्टून पोस्ट करने को अपकारक मानते हैं। उर्दुन के सर्वोच्च धार्मिक अधिकारी हत्तर को ऐश्वर्य अस्तित्व और इस्लाम तथा धार्मिक चिन्हों के अपमान का आरोप लगाते हैं। परन्तु यह लोग हत्या का भी विरोध करते हैं।[15]

प्रतिक्रिया[संपादित करें]

देश में
  •  जॉर्डन - उर्दुन की सरकार ने हत्तर की हत्या का खंडन किया [16] और सामाजिक मीडिया के उपयोगकर्ताओं को हिरासत में लेना शुरू किया जो द्वेषपूर्ण भाषण का प्रचार कर रहे थे।[17] हत्या के एक दिन बाद सरकार ने चुप रहने का आदेश (gag order) जारी किया ताकि तहकीकात की गोपनीयता बनी रहे।[18] इस के फलस्वरूप और पत्रकार्यता और प्रकाशन कानून की धारा 39 के तहत सभी मीडिया केन्द्रों को - उर्दुनी और विदेशी - दोनों ही ने गोली मारने से जुड़े लेखों का प्रकाशन रोक दिया।[19]
International
  • साँचा:देश आँकड़े युनेस्को – युनेस्को की महानिर्देशिका इरीना बोकोवा ने नाहेद हत्तर की हत्या की निन्दा की, जो कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर एक घोर प्रहार है और उर्दुनी समाज को सम्पूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है।[20]
  • ह्यूमन राइट्स वॉच – ह०र०च० की मध्य पूर्व और उत्तरी अफ़्रीका की निर्देशिका सारा लिया विट्सन ने घोषणा की: "नाहेद हत्तर की हत्या अम्मान के एक न्यायालय के समक्ष उसी समय हो सम्भव हुई है जब सरकार ने उन पर अर्थहीन आरोप एक ऐसे कार्टून के लिए लगाए जो कि उनके फ़ेस्बुक के पन्ने पर डाला गया था", और यह भी कहा कि "एक एकपक्षीय मुकदमे जो धर्म की मानहानि के लिए लगाए जाते हैं, व्यक्तियों को कलंकित करते हैं और उन्हें सतर्क प्रतिहिंसा का निशाना बनाते हैं।"[21]
  • एक याचिका को कामेल दाऊद, ताहर बेकरी और यहया बेलासकरी जैसे लेखक और मनोवैज्ञानिक ऍलिस चेरकी और फ़ेतही बेनस्लामा कुछ अन्य व्यक्तियों के साथ एक साझा हस्ताक्षरित बयान जारी किया[22] जिसमें उर्दुन सरकार की निन्दा की गई है कि उसने नाहेद हत्तर को सुरक्षा प्रदान करने से इंकार किया हालांकि वह जानती थी कि उसे जान का खतरा था।[23]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. McKernan, Bethan (25 September 2016). "Alleged killer who shot atheist Jordanian writer identified". The Independent. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  2. "TLAXCALA: Lessons of the Tunisian and Egyptian Revolutions: Not realized in Jordan!". www.tlaxcala-int.org. अभिगमन तिथि 2016-09-26.
  3. "The Arab Left: How Jordan Has Fared". अभिगमन तिथि 2016-09-26.
  4. "Christians in the region have the right to armed resistance". अभिगमन तिथि 2016-09-26.
  5. "The "Jordan is Palestine" Scheme is no Illusion". Al-Akhbar English. Al_Akhbar_(Lebanon). 7 May 2012. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  6. "Jordanian writer shot dead outside court before trial over cartoon". Today Online. 25 September 2016.
  7. Ghazal, Mohammad (13 August 2016). "Writer turns himself in after cartoon sparks outrage". Jordan Times. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  8. "Writer Hattar charged with inciting strife". Petra Jordan News Agency. 14 August 2016. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  9. Ghazal, Mohammad (14 August 2016). "Gag order bans coverage of writer detained over cartoon". Jordan Times. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  10. "Jordan: Nahed Hattar shot dead ahead of cartoon trial". अल जज़ीरा. 26 September 2016. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  11. "Hattar shot to death". Jordan Times. अभिगमन तिथि 25 September 2016.
  12. Beaumont, Peter (September 25, 2016). "Jordanian writer shot dead as he arrives at trial for insulting Islam". द गार्डियन. अभिगमन तिथि October 5, 2016.
  13. Al-Khalidi, Suleiman (25 September 2016). "Jordanian writer shot dead outside court before trial over cartoon". Reuters. अभिगमन तिथि 25 September 2016.
  14. Reed, John (25 September 2016). "Jordanian satirist murdered in front of court". Jordan Times. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  15. "Jordanian writer shot dead outside court before trial over cartoon". AFP. Yahoo. 26 September 2016. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  16. "Government condemns assassination of Nahed Hattar". Petra Jordan News Agency. 25 September 2016. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  17. Husseini, Rana (26 September 2016). "'Social media users to be sued over hate speech in reaction to Hattar shooting'". Jordan Times. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  18. "Gag order issued in Hattar shooting". Jordan Times. 26 September 2016. अभिगमन तिथि 26 September 2016.
  19. "Jordan: Press and publications law". Al-Bab. Translated by Sa’eda Kilani. अभिगमन तिथि 28 September 2016.
  20. Director-General condemns murder of Jordanian writer Nahed Hattar युनेस्कोPRESS 29 September 2016
  21. Jordan: Prominent Writer Gunned Down at Court HRW, 27 September 2016
  22. "Protestation contre l'assassinat de Nahed Hattar". L'Humanité. October 2, 2016. अभिगमन तिथि October 6, 2016.
  23. Marin La Meslée, Valérie (October 1, 2016). "Assassinat de Nahed Hattar : le gouvernement jordanien mis en cause dans une pétition". Le Point. अभिगमन तिथि October 6, 2016.