नाग नाइक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नाग नाइक (नाग नायक) (अंग्रेजी: Nag Naik) सिंहगड किले का कोली राजा था। नाग नाइक महादेव कोली थे। 1340 ईसा पश्चात दिल्ली सल्तनत के सुल्तान मुहम्मद बिन तुगलुक़ ने सिंहगड किले पर आक्रमण कर दिया था लेकिन सुल्तान कोली राजा नाग नाइक को हरा नही पाया क्योंकि नाग नाइक ने सिंहगड की किलेबन्दी बहुत ही अच्छी तरीके से की हुई थी। नाग नाइक कभी भी किसी के सामने नही झुका था। मुग़ल सेना भी नाग नाइक के किले को भेद नही पायी। सुल्तान और नाइक के बीच आठ महीने तक संघर्ष चला। दिल्ली के सुल्तान ने सिंहगड किले लो आठ महीने तक घेर के रखा और किले में खाने की कमी के कारण सुल्तान नाग नाइक को हराने में कामयाब हुआ।[1][2][3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. State), Bombay (India : (1885). Gazetteer (अंग्रेज़ी में). Government Central Press.सीएस1 रखरखाव: फालतू चिह्न (link)
  2. Nagpur University Journal: humanities (अंग्रेज़ी में). Nagpur University. 1973.
  3. "Sinhagad Fort, hotels near Sinhagad Fort - Noorya Hometel". www.nooryahometelpune.com. मूल से 13 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-09-19.