नसीरुद्दीन मौज़ी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नसीरुद्दीन मौज़ी नागर
जन्म लखीमपुर खेरी, ब्रिटिश भारत

नसीरुद्दीन मौज़ी नगर एक भारतीय ख़िलाफ़त आंदोलन कार्यकर्ता थे। इनका जन्म भारत उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में हुआ। यह खिलाफत आंदोलन के साथ जुड़ गए और ब्रिटिश राज के खिलाफ काम काने लगे। इसी दौरान नसीरुद्दीन ने 26 अगस्त 1920 को खेरी के उप आयुक्त सर रॉबर्ट विलियम डगलस विलोबी की हत्या कर दी। इस ह्त्या में ख़िलाफ़त आंदोलन के तीन कार्यकर्ता शामिल थे। इस हत्या की प्रणाली रचने में नसीरुद्दीन ने प्रमुख भूमिका निभाई। इस साज़िश और ह्त्या के लिए उन्हें ब्रिटिश सरकार के औपनिवेशिक अधिकारियों द्वारा फांसी दी गयी। ख़िलाफ़त आंदोलन के इन तीनों कार्यकर्ताओं को फांसी दी गई, नसीरुद्दीन उन तीनों में से एक थे। [1]

ईस्ट इंडिया कंपनी ने सर रॉबर्ट विलियम डगलस विलोबी की याद में 1924 में विलोबी मेमोरियल हॉल का निर्माण किया। [2][3] 26 अप्रैल 1936 को, विलोबी मेमोरियल लाइब्रेरी की स्थापना हुई थी। विलोबी मेमोरियल हॉल के नाम को खिलाफत आंदोलन क्रांतिकारी नसीरुद्दीन मौज़ी नगर के स्मारक में, हाल ही में नसीरुद्दीन मेमोरियल हॉल का नाम बदल दिया गया।

यह भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Uttar Pradesh district gazetteers, Vol. 33. Govt. of Uttar Pradesh, 1979. p. 34
  2. "Haileybury Roll of Honour: India 1920s". Haileybury School website. अभिगमन तिथि 19 June 2013.
  3. "Archived copy". मूल से 12 November 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 July 2013.