नई टिहरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(नरेंद्रनगर से अनुप्रेषित)
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
नई टिहरी
New Tehri
नई टिहरी से टिहरी बाँध जलाशय और पहाड़ो का दृश्य
नई टिहरी से टिहरी बाँध जलाशय और पहाड़ो का दृश्य
नई टिहरी is located in उत्तराखण्ड
नई टिहरी
नई टिहरी
उत्तराखण्ड में स्थिति
निर्देशांक: 30°22′55″N 78°28′12″E / 30.382°N 78.470°E / 30.382; 78.470निर्देशांक: 30°22′55″N 78°28′12″E / 30.382°N 78.470°E / 30.382; 78.470
देश भारत
प्रान्तउत्तराखण्ड
ज़िलाटिहरी गढ़वाल ज़िला
ऊँचाई1750 मी (5,740 फीट)
जनसंख्या (2011)
 • कुल24,014
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी, गढ़वाली
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड249001
दूरभाष कोड01376

नई टिहरी (New Tehri) भारत के उत्तराखण्ड राज्य के टिहरी गढ़वाल ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले का मुख्यालय भी है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

नई टिहरी में श्री आदिनाथ दिगाम्बर मन्दिर
टिहरी बाँध से भागीरथी नदी पर बना जलाशय

पर्वतों के बीच स्थित यह जगह काफी खूबसूरत है। हर वर्ष काफी संख्या में पर्यटक यहां पर घूमने के लिए आते हैं। यह स्थान धार्मिक स्थल के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है। यहां आप चम्बा, बूढ़ा केदार मंदिर, कैम्पटी फॉल, देवप्रयाग आदि स्थानों में घूम सकते हैं। यहां की प्राकृतिक खूबसूरती काफी संख्या में पर्यटकों को अपनी ओर खिंचती है।

इतिहास[संपादित करें]

मूल टिहरी नगर भागीरथी और भीलांगना नदियों के संगमस्थल पर स्थित था, जिस स्थान को गणेशप्रयाग भी कहा जाता था। यह एक छोटा सा ग्राम हुआ करता था, लेकिन १८१५ में गढ़वाल के राजा सुदर्शन शाह ने इस नगर को अपनी रियासत की राजधानी बनाया, और इसी के नाम पर राज्य का नाम टिहरी-गढ़वाल रियासत पड़ा। १९०१ में टिहरी की जनसंख्या ३,३८७ थी, और इसका विस्तार लम्बाई में तीन चौथाई मील और चौड़ाई में लगभग आधा मील था। १८वीं शताब्दी में ईस्ट इंडिया कंपनी के जहाज़ टिहरी के पोत तक आते थे।[3]

२१ वीं शताब्दी की शुरुआत में टिहरी बाँध के निर्माण के कारण पूरा टिहरी नगर जलमग्न हो गया। इस त्रासदी ने लगभग १,००,००० लोगों को प्रभावित किया था, जिनके निवास के लिए उत्तराखण्ड सरकार ने इस नगर की स्थापना की। इस नगर का निर्माण ९० के दशक में ही शुरू हो गया था, और इसके लिए ३ गांवों और थोड़ी वन भूमि का अधिग्रहण किया गया। २००४ तक टिहरी नगर को पूरा खाली कर वहां के निवासियों को नई टिहरी में स्थानांतरित कर दिया गया था।[4][5][6]

भूगोल[संपादित करें]

टिहरी की स्थिति 30°23′N 78°29′E / 30.38°N 78.48°E / 30.38; 78.48 पर है। यहां की औसत ऊँचाई 933 मीटर (3,061 फुट) है।

अवागमन[संपादित करें]

हवाई अड्डा

सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जोलीग्रांट हवाई अड्डा है। टिहरी जोलीग्रांट से 93 किलोमीटर की दूरी पर है।

रेल मार्ग

ऋषिकेश सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। ऋषिकेश से टिहरी 76 किलोमीटर दूर स्थित है।

सड़क मार्ग

नई टिहरी कई महत्वूर्ण मार्गो जैसे देहरादून, मसूरी, हरिद्वार, पौढ़ी, ऋषिकेश और उत्तरकाशी आदि जगहों से जुड़ा हुआ है। आस-पास की जगह घूमने के लिए टैक्सी द्वारा भी जाया जा सकता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Uttarakhand: Land and People," Sharad Singh Negi, MD Publications, 1995
  2. "Development of Uttarakhand: Issues and Perspectives," GS Mehta, APH Publishing, 1999, ISBN 9788176480994
  3. "The Ganga". Official Website of district Haridwar, Uttarakhand. National Informatics Centre, Haridwar District Unit. मूल से 13 फ़रवरी 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 March 2010.
  4. Terminski, Bogumil (2013). "Development-Induced Displacement and Resettlement: Theoretical Frameworks and Current Challenges", Indiana University, available at: http://dlc.dlib.indiana.edu/dlc/handle/10535/8833?show=full Archived 2013-12-14 at the Wayback Machine
  5. Reddy, A. Amarender (2016). Rehabilitation and Resettlement in Tehri Hydro Power Project (अंग्रेज़ी में). Partridge Publishing. पृ॰ 13. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781482871807. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 May 2018.
  6. Govardhan, Veerlapani (1993). Environmental impact assessment of Tehri Dam (अंग्रेज़ी में). Ashish Pub. House. पृ॰ 217. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170245254. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 May 2018.