नम्रता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

विनम्रता मानव व्यवहार और प्रकृति की एक विशेषता है। इसका शाब्दिक अर्थ मृदुता होता है। इसे नीति परायणता, विनम्रता और धैर्य के रूप में देखा जाता है।

हमारे धर्म ग्रन्थों का एक मूलमंत्र है-- जो नम्र होकर झुकते हैं, वही ऊपर उठते हैं ।विनम्र होकर ही हम पात्रता विकसित कर सकते हैं ।विनम्र होकर हम ग्रहण करना सीखते हैं और विनम्रता के कारण ही हम दूसरों से जुड़ पाते हैं ।भारतीय संस्कृति में इसी विनम्रता को व्यक्त करने के लिए प्रणाम व अभिवादन करने की परम्परा है।बड़ों के समक्ष झुककर आशीर्वाद लेने की प्रथा है।मन की कोमलता और व्यवहार में नम्रता एक बड़ी शक्ति है।विनम्रता और प्रेम से सबके मन को जीता जा सकता है।जो विनम्र होते हैं, वे हर जगह सम्मान पाते हैं ।

उदाहरण[संपादित करें]

  • नम्रता हर किसी का हृदय जीत सकती है।

मूल[संपादित करें]

  • नम्रता संस्कृत मूल का शब्द है।

अन्य अर्थ[संपादित करें]

समानार्थी शब्द[संपादित करें]

  • शिष्टता
  • भद्रता
  • सानुनयता
  • दीनता

संबंधित शब्द[संपादित करें]

हिंदी में[संपादित करें]

अन्य भारतीय भाषाओं में निकटतम शब्द[संपादित करें]