नन्द गोपाल गुप्ता "नंदी"

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नन्द गोपाल गुप्ता "नंदी"

जन्म 23 अप्रैल 1974 (1974-04-23) (आयु 46)
प्रयागराज
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी अभिलाषा गुप्ता (महापौर,प्रयागराज)

नन्द गोपाल गुप्ता (जन्म:२३ अप्रैल १९७४) इलाहबाद से राजनेता, उद्योगपति है। वे "नन्दी" के नाम से लोकप्रिय हैं। वर्तमान में वे उत्तर प्रदेश की भाजपा नेतृत्व वाली सरकार में पंजीयन न्याय शुल्क और नागरिक उड्डयन मंत्री हैं। नंदी ने अपने मेहनत के बल पर समोसे चाट बेचने से अपनी जिंदगी की शुरुवात की बचपन मे लोगों के जूते चप्पल पोलिश करवाया करते थे पर 10 साल में अपनी मेहनत के बल पर उन्होंने करोड़ों की जयदाद और फैक्ट्री खड़ी कर ली। प्रयागराज की गलियों में ये भी चर्चित है कि सीमेंट का व्यापार करते करते उन्होंने करोड़ों कमाया और उससे अपने करोड़ों की संपत्ति बनाई । प्रयागराज के बालू, शराब का ठेका टेंडर, और किसी उद्योग का माफिया भी कहा जाता है । मंत्री पद पर रहते हुए 2019 में 300 ट्रांसफर पोस्टिंग के आरोप भी लगाया गया और इसकी वजह से इसए कई अहम विभाग मुख्यमंत्री द्वारा छीन लिए गए यहां तक कि मंत्री द्वारा किये गए सारे ट्रांसफर पोस्टिंग को स्वयं सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने रद्द कर दिया पर बाहुबली नेता और मंत्रिमंडल के सबसे रईस उद्योगपति पर पार्टी ने सारे आरोप खारिज कर उन्हें दुबारा अल्पसंख्यक, हज, वक़्फ़ बोर्ड मंत्रालय सौंप गया। मंत्री को सूबे में व्यापारियों का नेता और गरीबों के लिए मसीहा भी कहा जाता है क्योंकि गुप्त दान करना इनकी आदतों में शुमार है। पहले बसपा से राजनीतिक करियर की शुरूआत करने वाले मंत्री कांग्रेस से भी चुनाव लड़ चुके हैं और फिर भाजपा में पदार्पण किया इनका सिद्धांत है सरकार किसी की भी हो मंत्री पद पर बने रहना है। मंत्री को अगर कोई अपना बिज़नस गुरु बना ले तो वो करोड़पति बनने में ज्यादा समय नही लगाएगा 10 से में 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति बनाना आसान नही है।

राजनीतिक कैरियर[संपादित करें]

पहली बार वे वर्ष 2007 में बहुजन समाज पार्टी के लिए विधानसभा में इलाहाबाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में वे इलाहाबाद दक्षिण सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार हाजी परवेज अहमद टैंकी से हार गए थे। वर्तमान में वेभारतीय जनता पार्टी के विधायक और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री हैं।[1] पूर्व के दिनों में वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से भी संलग्न रहे हैं। वर्तमान में इनकी पत्नी अभिलाषा गुप्ता नंदी इलाहबाद की सबसे युवा महापौर है।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "CM Yogi Adityanath keeps home, revenue: UP portfolio allocation highlights" [मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होम, राजस्व: यूपी पोर्टफोलियो आवंटन पर प्रकाश], हिंदुस्तान टाइम्स (अंग्रेज़ी में), 22 मार्च 2017, मूल से 26 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 24 मार्च 2017
  2. "नन्द गोपाल गुप्ता: सारांश". मूल से 5 अप्रैल 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 जुलाई 2014.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

आप समस्त वैश्य समाज के स्वीकार्य नेता है आपने समस्त वैश्य समाज की समस्यायों को कई बार सदन में आवाज दी है

आपने वैश्य समाज नामक संगठन का गठन करके समत वैश्य समाज को एक माला में पिरोने का कार्य किया है

वैश्य समाज आज पुरे प्रदेश के प्रत्येक जिले और उनमे होने वाली बाजारों में सक्रिय होकर कार्य कर रहा है