नन्दिनाथ सम्प्रदाय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

नन्दिनाथ सम्प्रदाय, हिंदू धर्म के शैव सम्प्रदाय का एक उपसम्प्रदाय है जो योग के अभ्यास पर बहुत बल देता है। यह नाथ सम्प्रदाय का एक उपसम्प्रदाय है। नंदिनाथ सम्प्रदाय के कैलासा परम्परा के १६३वें प्रमुख तथा जीवित उपदेशक बोधिनाथ वेल्लनस्वामी हैं। यह तमिल हिंदुओं में सबसे लोकप्रिय सम्प्रदाय है।

शैव परम्परा में नन्दी को नन्दिनाथ सम्प्रदाय का मुख्य गुरु माना जाता है, जिनके ८ शिष्य हैं- सनक, सनातन, सनन्दन, सनत्कुमार, तिरुमूलर, व्याघ्रपाद, पतञ्जलि, और शिवयोग मुनि। ये आठ शिष्य आठ दिशाओं में शैवधर्म का प्ररसार करने के लिए भेजे गये थे।