नगेन सइकीया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
नगेन सइकीया
Nagen Saikia.jpg
जन्म11 फरवरी 1939
गोलघाट , असम
मृत्यु स्थान/समाधिडिब्रुगढ़, असम
व्यवसायडिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय में प्राध्यापक,
राज्य सभा सदस्य (1986 से 1992 टक)
भाषाअसमिया
राष्ट्रीयता India
नागरिकताभारतीय
उल्लेखनीय कार्यsमितभाष (মিতভাষ)
उल्लेखनीय सम्मानसाहित्य अकादमी पुरस्कार (1997)
असम घाटी साहित्य पुरस्कार (2007)

नगेन सइकीया असमिया भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह आंधारत निजरमुख के लिये उन्हें सन् 1997 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[1]

साहित्यिक जीवन[संपादित करें]

वे लम्बे समय तक असम साहित्य सभा से जुड़े रहे। इसके भीतर उल्लेखयोग्य कार्य ये हैं-

असम साहित्य सभा के

  • सह-सम्पादक (१९६६-७०),
  • भाषाज्ञान परीक्षा और प्रकाशन के सचिव (१९७०-७१),
  • कोषाधक्ष्य (१९७७-७८),
  • प्रधान सम्पादक (१९७३-७६),
  • प्रधान सम्पादक (१९८०-८५),
  • शिशु ज्ञानकोष के सदस्य,
  • ग्रन्थ बाछनि समिति,
  • जातीय न्यास समिति,
  • पत्रिका सम्पादना,
  • साहित्य बँटा समिति,
  • परिकल्पना और कार्यसूची समिति के सदस्य।

असम प्रकाशन परिषद के

  • कार्यवाहक समिति,
  • बिश्वकोष प्रणयन समिति,
  • बँटा निर्बाचक समिति,
  • ग्रन्थ परिकल्पना समिति,
  • प्रशासनीय संस्कार समिति के सदस्य।

इसके अतिरिक्त

साहित्य अकादमी के असमीया भाषा उपदेष्टा परिषद के सदस्य (१९७५-८५, १९९३-९८, २००३-०८), साधारण परिषद के सदस्य (१९९३-९८)। भारतीय लेखक संघ के सदस्य (१९७४), भारतीय भाषा समिति, सरस्वती सम्मान के सदस्य (१९९१-९४), उत्तर-पूर्व पार्वत्य विश्वविद्यालय के कर्टर सदस्य (१९९३-९६), डिब्रुगड़ विश्वविद्याबिलय में टाइ भाषा शिक्षा के सदस्य (१९९२-२००३), डिब्रुगड़ विश्वविद्यालय के कार्यवाही परिषद के सदस्य (१९८६-९१), प्रकाश आलोचनी सम्पादना समितिर उद्देश्य, संज्ञा आलोचनी के सम्पादना समिति के सदस्य (१९७५-७८), काव्यायालोचनी साम्प्रतिक के सम्पादक (१९७१), ब्रह्मपुत्र आलोचनी के मुख्य सम्पादक (१९८५), नाटकम के सभापति (१९६६-६८), राज्यिक संहति परिषद के सभापति (१९८७-९०), शिशु भारती के सभापति (१९८७-२००१), शंकरी संगीत विद्यापीठ के सभापति (१९९७)।

प्रकाशित पुस्तकें[संपादित करें]

गवेषणामूलक[संपादित करें]

  • Background Of Modern Assamese Literature (१९८८)
  • चिन्ता आरु चिन्तामूलक चर्चा (१९८०)
  • उनबिंश शतिकात असमीया भाषार संकट (१९८८)
  • भारतर सांस्कृतिक ऐतिह्य आरु अन्यान्य रचना (१९९३)
  • अग्निगर्भा असम (१९९३)
  • असमीया कबिता आरु अन्यान्य बिषय (१९९६)
  • गवेषणा पद्धति परिचय (१९९६)
  • तुलनामूलक साहित्य बिचार (१९९६)
  • असम साहित्य सभार सभापतिर अभिभाषण (१९९७-९८)
  • सांबादिकता : एटि गधुर आरु पवित्र दायित्ब (२०००)
  • एजन सन्त ताँतीर जीवन (२००१)
  • ब्यक्तित्बर भास्कर्यर
  • असमीया बर्णमालार (२००१)
  • महेश्बर नेओग
  • आनन्द चन्द्र बरुवा
  • शङ्करदेव

गल्प साहित्य[संपादित करें]

  • कुबेर हातीबरुवा (१९६७)
  • छबि आरु फ्रेम (१९६९)
  • बन्ध कोठात धुमुहा (१९७१)
  • माटिर चाकि (१९७६)
  • अस्तित्बर शिकलि (१९७६)
  • अपार्थिव पार्थिव (१९८२)
  • आन्धारत निजर मुख (१९९५) (बंगाली और हिन्दी भाषा में अनूदित)
  • हेमन्त कालर एटि गधूलि (२००१)

भ्रमण कथा[संपादित करें]

  • आमेरिकात दह दिन (१९८८)
  • महाचीनर दिनलिपि (१९९४)

आत्मजीवनीमूलक ग्रन्थ-

  • स्बप्न आरु स्मृतिर (प्रथम खण्ड)
  • धूलिर धेमालि (२००२)

सम्पादित ग्रन्थ[संपादित करें]

  • असम बन्धु (१९८४)
  • चन्द्रधर बरुवा रचनावली- प्रथम खण्ड (१९७५)
  • असमीय़ा गल्प कौमुदी (१९७४)
  • साहित्यर बाद बैचित्र्य (२००३)
  • प्रबन्ध सञ्चय़न (१९७८)
  • अध्यय़न परिचय़ (१९७८)
  • आधुनिक असमीया साहित्यर अभिलेख (१९७७)
  • आधुनिक असमीया कबिता मञ्जरी (१९८५)
  • श्रीश्री शंकरदेव (१९८५)
  • आमार लिपि समस्या (१९७५)
  • अध्ययन चक्र (१९७५)
  • कीर्तन घोषा (१९७५)
  • संगीत साधना (१९८६)
  • शिक्षा समस्यात आलोकपात (१९७१)
  • सेउजी पातर माजे माजे (१९६६)
  • हितेश्बर बरुवा स्मृतिमाल्य (१९७६)
  • अभिनय शेष ह’ल (१९८५)
  • सर्बानन्द सिंह नगरर अभिज्ञान (१९८१)
  • पद्मनाथ गोहाञि बरुवा स्मृतिग्रन्थ (१९७१)
  • जोनाकी (२००१)
  • चन्द्र कुमारर कबिता समग्र (१९९३)
  • स्नातक कबिता चयन (१९९३)
  • महेश्बर नेओग रचनावली : तृतीय खण्ड (१९९६)
  • बेजबरुवा निर्बाचित रचना (१९९८)
  • चिठि पालो पढ़ि चालो (२००१)
  • बकुल बनर गीत (२००२)
  • आमार ऐतिह्य आरु भण्डामि (२००७)
  • मणिराम देवानर बुरञ्जी बिबेक रत्न (२००२)
  • जटाय़ु (२००३)
  • असमर सांस्कृतिक ऐतिह्य (२००५)
  • बीरेन्द्र कुमार भट्टाचार्यर रामधेनुर सम्पादकीय़ (२००७)
  • देवदत्त देव चरित्र (२००३)
  • बरगीत (२००३)
  • Assam And The Assamese Mind (1991)
  • Gramitical Notes Of The Assamese Language by Dr. Nathan Brown, Revised P H Moore
  • लक्ष्मीनाथ बेजबरुवार रचनावलीक छय़टा खण्डत प्रकाश। (२०११)

अनुवाद साहित्य[संपादित करें]

  • Kashavsut by P. Machewe ( Sahitya Akademi) 1978 by S N Desai (नेशनल बुक ट्रस्ट)

बृहत् कर्म[संपादित करें]

  • असमीय़ा मानुहर इतिहास (प्रायः दो हजार पृष्ठ)
  • बङाली-असमीया अभिधान

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. मूल से 15 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.