नंदिनी साहू

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नंदिनी साहू
जन्म 23 जुलाई 1973 (1973-07-23) (आयु 46)
जी. उदयगिरि, ओडिशा, भारत
आवास नई दिल्ली, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय आलोचक, लेखिका, कवयित्री
धार्मिक मान्यता हिन्दू

नंदिनी साहू (जन्म 23 जुलाई 1973) एक भारतीय कवयित्री, लेखिका और आलोचक हैं।[1]संप्रति वे भारत के इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्‍वविद्यालय, नई दिल्ली में अंग्रेजी की प्राध्यापिका एवं स्कूल ऑफ फॉरेन लैंग्वेजेस की निदेशक भी हैं।प्रोफेसर नंदिनी साहू समकालीन भारतीय अंग्रेजी साहित्य की प्रमुख हस्ताक्षर हैं। उन्होंने विश्व भारती, शांतिनिकेतन के अँग्रेजी प्रोफेसर स्वर्गीय प्रोफेसर निरंजन मोहंती के मार्गदर्शन में अंग्रेजी साहित्य में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है। आप अंतरराष्ट्रीय ख्याति-लब्ध अँग्रेजी भाषा की कवयित्री होने के साथ-साथ प्रबुद्ध सर्जनशील लेखिका हैं। [2] वे एक प्रशंसित कवियित्री हैं।[3] आपकी रचनाएँ भारत, संयुक्त राज्य (यू एस), यूनाइटेड किंगडम (यूके), अफ़्रीका और पकिस्तान में व्यापक रूप से पढ़ी जाती हैं। उन्होंने अंग्रेजी साहित्य में तीन स्वर्ण पदक प्राप्त किए। उन्होंने शिक्षा रत्न पुरुस्कार, बुद्ध रचनात्मक लेखक पुरुस्कार एवं अखिल भारतीय कविता प्रतियोगिता और पोयसिस पुरस्कार-2015, बौध्द क्रिएटिव राइटर्स अवार्ड और भारत में अंग्रेजी अध्ययन में अभूतपूर्व योगदान के लिए भारत के उपराष्ट्रपति के कर-कमलों द्वारा स्वर्ण पदक से भी पुरस्कृत किया गया हैं। [4] डॉ॰ साहू ने इग्नू के लिए लोकगीत और सांस्कृतिक अध्ययन, बाल-साहित्य और अमेरिकी साहित्य पर अकादमिक कार्यक्रम/पाठ्यक्रम तैयार किए हैं। आपके शोध के विषयों में भारतीय साहित्य, नए साहित्य, लोककथा और संस्कृति अध्ययन, अमेरिकी साहित्य, बाल-साहित्य एवं महत्वपूर्ण सिद्धांत शामिल हैं। अँग्रेजी की द्विवार्षिक समीक्षा पत्रिका ‘इंटरडिस्सिप्लिनेरी जर्नल ऑफ लिटरेचर एंड लेंग्वेज’ और ‘पैनोरमा लिटेरेरिया’की मुख्य-संपादक/संस्थापक-संपादक हैं।

आरंभिक जीवन[संपादित करें]

नंदिनी साहू का जन्म 23 जुलाई 1973 में ओडिशा के उदयगिरि नगर में हुआ। उनके माता-पिता भारतीय स्थानीय विद्यालय में शिक्षक थे। नंदिनी और उनकी पाँच बहनें एक आज्ञाकारिता जीवन में बड़ी हुईं।प्राध्यापक निरंजन मोहंती के निर्देशन में उन्होंने भारतीय अंग्रेजी काव्यात्मकता में पीएचडी की शैक्षिक उपाधि प्राप्त की।वे इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्‍वविद्यालय में अंग्रेजी की सह-प्राध्यापिका की तरह काम कर रही हैं।[5] वे कई राष्ट्रिय संगोष्ठी में भी उपस्थित हुई हैं।[6]

साहित्यिक कैरियर[संपादित करें]

नंदिनी साहू ने प्रारंभिक अवस्था से लिखना शुरु कर दिया था।उन्होंने कविता संग्रह समेत कई किताबें लिखी हैं।भारतीय अंग्रेजी साहित्य, अमेरिकी साहित्य, अंग्रेजी भाषा शिक्षण (ई एल टी), लोकसाहित्य, सांस्कृतिक अध्ययन एवं बच्चों के साहित्य जैसे विषयों पर उनके लेख आधारित हैं।उन्होंने इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्‍वविद्यालय के लिए लोकसाहित्य और सांस्कृतिक अध्ययन के कार्यक्रम भी रूपांकित व आयोजित किये हैं।[7] हिन्दी के प्रसिद्ध अनुवादक एवं साहित्यकार दिनेश कुमार माली ने उनकी दीर्घ कविता सीता,[8],अन्य कविताओं और कहानियों का हिन्दी में अनुवाद किया है।[9]

पुरुस्कार[संपादित करें]

  • अंग्रेजी साहित्य में तीन स्वर्ण पदक
  • अखिल भारतीय कविता प्रतियोगिता में पुरुस्कार
  • शिक्षा रत्न पुरुस्कार
  • बुद्ध रचनात्मक लेखक पुरूस्कार
  • "भारत के उपराष्ट्रपति के कर-कमलों द्वारा स्वर्ण पदक"


इन्हें भी देखें[संपादित करें]

ग्रन्थसूची[संपादित करें]

चयनित कार्य

  • सीता (एक कविता)
  • सिल्वर पोयम्स ओन माय लिप्स, 2009[10]
  • द साइलेंस(कविता-संग्रह), 2005[11]
  • सुवर्णरेखा : भारतीय महिला कवियों का एक संकलन[12]
  • "द वॉयस"
  • " जीरो पॉइंट "
  • "द पोस्ट कॉलोनियल स्पेस: द सेल्फ एंड द नेशन"
  • "फॉकलोर एंड अल्टरनेटिव मॉडर्निटीज (भाग-1)"
  • "फॉकलोर एंड अल्टरनेटिव मॉडर्निटीज (भाग-2)"
  • "सुकमा एंड अदर पोएम्स"
  • "डायनेमिक्स ऑफ चिल्ड्रेन लिटरेचर"

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]