ध्रुवीय हवा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
धरती का प्लाज्मा फव्वारा ऑक्सीजन, हीलियम, हाइड्रोजन अणुओं कों दर्शाता है जो पृथ्वी के गोलार्धों के पास क्षेत्रों से अंतरिक्ष में बहती हैं। उत्तरी गोलार्ध के ऊपरी हिस्से में पीले रंग का हिस्सा पृथ्वी से अन्तरिक्ष में हुई गैस लोस कों दर्शाता है। हरा हिस्सा aurora borealis -या प्लाज्मा ऊर्जा है जो वातावरण में वापिस दल रही है। [1]


परिचय[संपादित करें]

ध्रुवीय हवा ( en: Polar wind) ध्रुवीय क्षेत्र से प्लाज्मा की एक स्थायी बहिर्वाह है। जो कि पृथ्वी की मैगनेटोस्फीयर के ध्रुवीय क्षेत्रों से बहती है। यह सौर हवा और पृथ्वी के वायुमंडल के बीच संपर्क की वजह से बहती है। सौर हवा ऊपरी वायुमंडल में गैस के अणुओं को इस प्रकार से आयनाइज़ करती है कि उनमे से कुछ का वेग इतना ज्यादा हो जाता है कि वह वापिस से अन्तरिक्ष में पहुंच जाते हैं।

यह परिभाषा १९६८ में बैंक्स और होल्ज़र ने दी थी।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Plasma fountain Source Archived 6 सितंबर 2008 at the वेबैक मशीन., press release: Solar Wind Squeezes Some of Earth's Atmosphere into Space Archived 20 मार्च 2009 at the वेबैक मशीन.