सामग्री पर जाएँ

द वेलिंग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
The Wailing
निर्देशक Na Hong-jin
लेखक Na Hong-jin[1]
निर्माता
  • Suh Dong-hyun
  • Kim Ho-sung[1]
अभिनेता
छायाकार Hong Kyung-pyo[1]
संपादक Kim Sun-min[1]
संगीतकार Jang Young-gyu
Dalpalan[1]
निर्माण
कंपनियां
वितरक 20th Century Fox
प्रदर्शन तिथियाँ
  • मई 12, 2016 (2016-05-12) (South Korea)
लम्बाई
156 minutes[1]
देश South Korea[1]
भाषायें Korean
Japanese
लागत US$8 million
कुल कारोबार US$51.3 million[2]

द वेलिंग ( हंगुल곡성; हांजा哭聲; आरआर लिप्यंतरणGokseong ; ) ना होंग-जिन द्वारा लिखित और निर्देशित 2016 की एक दक्षिण कोरियाई हॉरर फिल्म है और इसमें क्वाक डो-वोन, ह्वांग जंग-मिन, चुन वू-ही ने अभिनय किया है। फिल्म एक पुलिसकर्मी पर केंद्रित है जो अपनी बेटी को बचाने के लिए गोक्सियोंग नामक एक सुदूर कोरियाई गांव में रहस्यमय हत्याओं और बीमारियों की एक श्रृंखला की जांच करता है। फिल्म व्यावसायिक और आलोचनात्मक दोनों तरह से सफल रही। [3] [4] [5]

भूखंड[संपादित करें]

दक्षिण कोरिया के पहाड़ों के एक छोटे से गाँव गोकसेओंग में एक जापानी व्यक्ति के आने के बाद, एक रहस्यमय संक्रमण फैल जाता है जो ग्रामीणों को विक्षिप्त कर देता है और वे अपने परिवारों को हिंसक रूप से मार देते हैं।

एक रात पुलिस स्टेशन में, अधिकारी ओह सेओंग-बोक और जोंग-गू जापानी अजनबी के बारे मे चर्चा कर रहे हैं जब बारिश में एक नग्न महिला दिखाई देती है। बाद में उन्हें पता चलता है कि संक्रमित महिला, जिसका जापानी अजनबी ने बलात्कार किया गया था और जिसे कई बार अलग-अलग जगहों पर नग्न देखा गया था, ने अपने परिवार की हत्या कर दी है। अपराध स्थल पर, जोंग-गू एक रहस्यमय युवती से मिलता है जिसे मू-मायोंग ( कोरियाई में "जिसका कोई नाम नहीं") कहा जाता है, जो उसे बताती है कि जापानी व्यक्ति एक भूत और अपराधी है। जोंग-गू ओह सेओंग-बोक को फोन करने के लिए बाहर जाता है| जब वह वापस आता है तो वह युवती गायब हो जाती है और उसे एक बहुत ही डरावनी आकृति दिखाई देती है। एक स्थानीय शिकारी उन्हें बताता है कि उसने चमकती लाल आंखों वाले अजनबी को जंगल में हिरन को कच्चा खाते हुए देखा था।

जोंग-गू अजनबी के बारे में समान सपने देखता है और ओह सेओंग-बोक के साथ जांच करने का फैसला करता है। वे ओह सेओंग-बोक के भतीजे, यांग आई-सैम नामक एक जापानी बोलने वाले ईसाई पादरी की मदद लेते हैं। जब वे बाहर होते हैं तो वे अजनबी के घर की जांच करते हैं और मारे गए ग्रामीणों और उनके सामान की तस्वीरें, साथ ही एक पूजा कक्ष पाते हैं। अजनबी का कुत्ता उन पर हमला करता है और जब अजनबी वापस आता है तो रुक जाता है, इसलिए जोंग-गू और उसकी टीम निकल जाती है। रास्ते में, ओह सेओंग-बोक अपने साथी को एक जूता दिखाता है जो जोंग-गू की बेटी, ह्यो-जिन का है। अन्य संक्रमितों के समान लक्षणों के साथ, ह्यो-जिन बीमार हो जाती है। जोंग-गू अजनबी के घर लौटता है, लेकिन पाता है कि उसने सबूत जला दिए हैं। क्रोधित होकर, वह पूजा कक्ष को तोड़ देता है, कुत्ते को जान से मार देता है, और अजनबी को गांव छोड़ने का आदेश देता है।

जोंग-गू के परिवार को अगले दिन उनके मुख्य द्वार के सामने एक मृत बकरी टंगी हुई मिलती है और जोंग-गू का शरीर अकड़ जाता है| जब जोंग-गू अपने परिवार के साथ अपने इलाज के लिए ह्यो-जिन को अकेला छोड़ कर जाता है तो ह्यो-जिन एक पड़ोसी को चाकू मारकर गंभीर रूप से घायल कर देती है। ह्यो-जिन के हिंसक व्यवहार और स्वास्थ्य में बदलाव से परेशान, जोंग-गू की सास एक तान्त्रिक, इल-ग्वांग से मदद मांगती है। इल-ग्वांग का कहना है कि एक दुष्ट आत्मा ने ह्यो-जिन को अपने वस मे कर रखा है। इल-ग्वांग उसका भूत भगाने में विफल हो जाता है। यह जानने के बाद की जोंग-गू ने अजनबी को परेशान किया था, इल-ग्वांग के अनुसार वह एक दानव है, इल-ग्वांग एक मृत्यु-श्राप अनुष्ठान तैयार करता है और जोंग-गू को बताता है कि यह विधि बाधित नहीं होना चाहिए। उसी समय पर अपने घर पर अजनबी, मृत पीड़ितों में से एक, पार्क चून-बे के शरीर को वस मे करने के लिए एक अनुष्ठान करता है। जैसे-जैसे इल-ग्वांग का अनुष्ठान आगे बढ़ता है, ह्यो-जिन को कष्टदायी दर्द का अनुभव होता है। अपने बेटी को दर्द मे देख कर जोंग-गू अनुष्ठान को रोकता है और अपनी बेटी को अस्पताल ले जाता है। अजनबी अपने स्वयं के अनुष्ठान के बाद खुद बिस्तर पर सोने जाता है और अपने घर के बाहर मू-म्योंग को देखता है।

अगले दिन, जोंग-गू अपने साथियों को अजनबी का शिकार करने के लिए इकट्ठा करता है। जैसे ही वे उसके घर की तलाशी लेते हैं, पार्क चून-बे की अब पुनर्जीवित लाश उन पर हमला कर देती है, इस हमले मे यांग आई-सैम घायल हो जाता है और अजनबी भाग जाता है। पार्क फिर से लाश हो जाता है| वे अजनबी का पीछा करते हैं लेकिन उसे एक चट्टान पर खो देते हैं। अजनबी, जो जोंग-गू और उसके साथियो से छिपा होता है, मू-म्योंग को दूर से उसे घूरते हुए देखता है। जैसे ही वे लोग वापस आ रहे होते है तो अजनबी विंडशील्ड पर उपर से गिरता है। वे उसके शरीर को चोटी से निचे फेंक देते हैं और मू-मायोंग ऊपर से देखती है। जोंग-गू जब वापस आता है तो ह्यो-जिन की स्वास्थ्य सुधर रही होती है।

इल-ग्वांग जोंग-गू के घर जाता है , जहां वह मू-मायोंग का सामना करता है और खून की उल्टी करता है। इल-ग्वांग अपने कमरे में दौड़ता है और एक मोमबत्ती जलाता है जो बुझ जाती है जिससे वह बहुत डर जाता है और शहर से सियोल की ओर भागता है। हालांकि, रास्ते में उसके कार पर कौए हमला कर देते हैं और वह वापस आने के लिए मुड़ता है और जोंग-गू को चेतावनी देने के लिए कहता है कि मू-मायोंग असली दानव है और अजनबी एक जादूगर है जो उसे(मू-मायोंग को) रोकने की कोशिश कर रहा था, लेकिन वह उससे कॉल नहीं उठाता। इस बीच, घायल यांग आई-सैम को खबर मिलती है कि ओह सेओंग-बोक ने अपने परिवार को मार डाला है, उसी समय ह्यो-जिन गायब हो जाती है। उसकी तलाश करते हुए, जोंग-गू मू-मायोंग से मिलता है, जो दावा करती है कि अजनबी अभी भी जीवित है और उसने उसके लिए एक जाल बिछाया है| अगर जोंग-गू मुर्गे के तीन बार बांग देने से पहले घर जाता है तो यह जाल विफल हो जाएगा और ह्यो-जिन सभी को मार डालेगी। मू-मायोंग का कहना है कि इल-ग्वांग असली दानव का मोहरा है। उलझन में, जोंग-गू उससे पूछता है कि क्या वह मानव है या भूत। वह गूढ़ उत्तर देती है। जोंग-गू देखता है कि मू-मायोंग पीड़ितों के व्यक्तिगत सामान पहने हुए है, जिसमें उसकी बेटी का हेयर पिन भी शामिल है। यह मानते हुए कि इस सबके लिए मू-मायोंग जिम्मेदार है, वह मुर्गे के तीसरे बांग से पहले घर के लिए निकल जाता है। जैसे ही वह अपनी दहलीज पार करता है, मू-मायोंग द्वारा लगाया गया पुष्प जाल मुरझा जाता है।

यांग आई-सैम एक दरांती और एक क्रॉस के साथ अजनबी के घर लौटता है। वह पास में एक गुप्त गुफा और उसके अंदर जीवित अजनबी को पाता है। वह अजनबी से उसके असली रूप के बारे में पूछता है और कहता है कि उसे लगता है कि अजनबी शैतान है, लेकिन अगर वह गलत है, तो वह उसे शांति से छोड़ देगा। अजनबी हंसता है और कहता है कि वह वही है जो उसे जाने नहीं देगा। वह यांग आई-सैम की तस्वीर लेते हुए पूछता है कि उसे अभी भी अजनबी की पहचान पर संदेह क्यों है। यांग आई-सैम डर के मारे खड़ा रह जाता है, अजनबी एक दानव में बदल जाता है और उसे ताना मारता है।

घर जाने पर जोंग-गू को पता चलता है कि ह्यो-जिन ने उसके परिवार की बेरहमी से हत्या कर दी है। वह रोते-बिलखते उसे पुकारता है, लेकिन वह कोई उत्तर नहीं देती। यह निहित है कि वह उस पर भी हमला करती है। इल-ग्वांग आता है और जोंग-गू के मृत परिवार की तस्वीरें लेता है जबकि ह्यो-जिन मूर्छित बैठी रहती है। अपनी कार में लौटते हुए वह गलती से एक बक्सा गिरा देता है जिसमे मारे गए ग्रामीणों की तस्वीरों रहती है, जिसे अजनबी ने जलाने का दावा किया था।|अपने परिवार की मौत से तबाह हो जैसे ही जोंग-गू मर रहा होता है, वह अपनी बेटी के साथ खुशी के बिताए समय को याद करता है और मुस्कुराने लगता है और उसे आश्वासन देता है कि वह उसकी रक्षा करेगा।

फिल्म का मिटाया गया अंत[संपादित करें]

कहानी के समापन के ठीक बाद हो रहे एक हटाए गए दृश्य में, जापानी व्यक्ति सड़क के किनारे एक बेंच पर बैठा दिखाई देता है। वह सड़क के दूसरी ओर एक परिवार को देखता है और एक बच्चे को अपनी कैंडी भेंट करके अपने पास आमंत्रित करता है, लेकिन इससे पहले कि वह अजनबी तक पहुँच सके माँ बच्चे को उठा लेती है। इल-ग्वांग एक कार मे आता है और जापानी व्यक्ति को ले करके जाता है। सड़क के केंद्र में, मू-मायओंग क्षितिज में कार को लुप्त होते देखती है।

बाहरी लिन्क्स[संपादित करें]

साँचा:Na Hong-jin

  1. Lee, Maggie (May 19, 2016). "Cannes Film Review: 'The Wailing'". Variety. अभिगमन तिथि July 31, 2016.
  2. "Goksung (2016)". The Numbers. October 21, 2016. मूल से 21 जनवरी 2021 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि July 31, 2016.
  3. Hughes, David (21 November 2016). "The Wailing". Empire (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 20 December 2019.
  4. Abrams, Simon. "The Wailing movie review & film summary (2016) | Roger Ebert". rogerebert.com (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 20 December 2019.
  5. "The Wailing (2016)". Letterboxed (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 20 December 2019.