द राइट ऑनरेबल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

द राइट ऑनरेबल (अंग्रेज़ी: The Right Honourable) संक्षेप में (The Rt Hon. या Rt Hon.) एक ऐसी सम्माननीय शैली या सम्मानसूचक शब्द है जिसे परंपरागत रूप से यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड, कुछ राष्ट्रमंडल देशों, मॉरिशस इत्यादि में कुछ अति विशिष्ट लोगों या समूहों के लिये उनके नाम के आगे उपसर्ग के रूप में प्रयोग किया जाता है।

सामूहिक संस्थाओं[संपादित करें]

द राइट ऑनरेबल विभिन्न लोगों के समूह को संदर्भित करने के लिये प्रयोग की जाती है, जैसे:

  • यूनाइटेड किंगडम में हाउस ऑफ लॉर्ड्स में बैठने वाली संसदीय सभा के लिये: द राइट ऑनरेबल द लॉर्ड्स स्पिरिचुअल व टेम्पोरल
  • हाउस ऑफ कॉमन्स की संसदीय सभा के लिये द राइट ऑनरेबल द नाइट्स, सिटिज़ेन्स एंड बर्गेसेज़[1] (द हाउस ऑफ कॉमन्स);[2] और
  • द राइट ऑनरेबल द लॉर्ड्स कमिस्नर्स ऑफ़ द ऐडमिराल्टी
  • द राइट ऑनरेबल द लॉर्ड्स ऑफ़ द कमेटी ऑफ़ द प्रिवी काउंसिल, व्यापार परिषद के लिये जिसे विदेश में खेती व व्यापार संबन्धित मामलों पर निर्णय लेने के लिये चुना गया होता है।

सम्मानसूचक शब्द का प्रयोग[संपादित करें]

ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमन्स में सदस्य एक दूसरे को "द ऑनरेबल मेम्बर फॉर ..." यानि (<निर्वाचन क्षेत्र>) से आने वाले आदरणीय सदस्य कहकर बुलाते हैं। लेकिन अगर वह सांसद सम्राट के सलाहकार समिति में रह चुके हैं तो उन्हें "द राइट ऑनरेबल मेम्बर फॉर ..." कहकर संबोधित किया जाता है। सम्मानसूचक उपसर्ग में राइट शब्द का प्रयोग सलाहकार समिति (प्रिवी काउन्सिल) के सदस्यों के लिये किया जाता है। अन्य सांसदों के लिये यह प्रयुक्त नहीं होता है। पहले कुछ सदस्यों के लिये ऑनरेबल ऐंड रेवरेन्ड,[3] "ऑनरेबल ऐंड गैलेन्ट"[4] और "ऑनरेबल ऐंड लर्न्ड"[5]) का भी प्रयोग किया जाता था, लेकिन अब ये आम नहीं हैं।

सामान्यत: राष्ट्रकुल में मंत्रियों व न्यायधीषों को द ऑनरेबल कह कर तब तक संबोधित किया जाता है जब तक वह यूनाइटेड किंगडम की सलाहकार समिति के सदस्य नहीं चुन लिये जाते। इसके बाद उन्हें "द राइट ऑनरेबल" कह कर संबोधित किया जाता है। सामान्यत: ऐसे लोगों में प्रधानमंत्री, न्यूज़ीलैंड के न्यायाधीष व अन्य राष्ट्रकुल देशों के प्रधानमंत्री शामिल होते हैं।

ऑस्ट्रेलिया[संपादित करें]

In ऑस्ट्रेलिया में उन्नीसवीं शताब्दी के कुछ औपनिवेशिक वायसरायों को परामर्श समिति का सदस्य भी चुना गया था, और इस तरह उन्हें द राइट ऑनरेबल भी कहा गया। १९०१ में संघ बनने के बाद ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर जनरल ऑस्ट्रेलिया का उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीष, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री और कुछ अन्य मंत्रियों को ये उपाधि मिली थी।

कुछ ऑस्ट्रेलियाई जिनके परिवार इंग्लैंड के बैरों, विस्काउंट और अर्ल सामंती व्यवस्था से ताल्लुक रखते हैं भी राइट ऑनरेबल का उपयोग करते हैं। ऑस्ट्रेलिया में मेयरों को भी उनके कार्यकाल के दौरान द राइट ऑनरेबल कहकर पुकारा जाता है।

द राइट ऑनरेबल के हकदार जीवित ऑस्ट्रेलियाई कारण पहले
डॉग एंथोनी, एसी, सीएच परामर्श समिति के सदस्य पहले ऑस्ट्रेलिया के उप प्रधानमंत्री
ईयान सिनक्लेयर, एसी परामर्श समिति के सदस्य पहले ऑस्ट्रेलिया की हाउस ऑफ़ रिप्रज़ेंटेटिव्स के स्पीकर
सर निनियन स्टीफ़न, केजी, एके, जीसीएमजी, जीसीवीओ, केबीई, क़्युसी परामर्श समिति के सदस्य पहले [[ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर जनरल]]
विलियम हेसेलटाइन, जीसीबी, जीसीवीओ, एसी परामर्श समिति के सदस्य पहले सम्राट के निज़ी सहायक
रॉबर्ट मे, ओएम, एसी वंशानुगत सामंत पहले सरकार के शीर्ष वैज्ञानिक सलाहकर
ट्रिक्सी गार्डनर, पार्केस की बैरोनेस गार्डनर, एएम, जेपी वंशानुगत सामंत पहले वेस्टमिंस्टर सिटी काउंसिल की सलाहकार
मैल्कम मर्रे, डुनमोर के बारहवें अर्ल डुनमोर के अर्ल पहले सांसद
रॉबर्ट क्लिंटन, लिंकन के उन्नीसवें अर्ल लिंकन के अर्ल
साइमन हैस्टिंग्स लोडुन के पंद्रहवें अर्ल लोडुन के अर्ल
जॉर्ज डावसन डेमर, पोटरलिंग्टन के सातवें अर्ल पोटरलिंग्टन के अर्ल
कीथ रौस, स्ट्रैडब्रोक के छठे अर्ल स्ट्रैडब्रोक के अर्ल
फ्रांसिस ग्रॉसवेनर, विल्टन के आठवें अर्ल विल्टन के अर्ल
निकोलस सेंट जॉन, नवें विसकाउन्ट बोलिंगब्रोक, दसवें विसकाउन्ट सेंट जॉन विसकाउन्ट बोलिंगब्रोक
चार्ल्स कैवेन्डिश, सातवें बैरोन चेशाम बैरोन चेशाम
जेम्स, बर्कर के तीसरे बैरोन लिंडसे बर्कर के बैरोन लिंडसे
डेविड कैम्पबेल, स्ट्रैथेडेन व कैम्पबेल के सातवें बैरोन बैरोन स्ट्रैथेडेन

कनाडा[संपादित करें]

कनाडा में सम्मानसूचक शब्दों के रूप में, L'Honorable और le Très Honorable का फ्रेंच भाषा में संघीय सरकार द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। सिर्फ़ सरकार के अति विशिष्ट और वरिष्ठ पदों पर नियुक्त व्यक्तिओं के लिये ही द राइट ऑनरेबल का प्रयोग होता है। कनाडा में निम्नलिखित पदवियों को धारण करने वालों को आजीवन द राइट ऑनरेबल की उपाधि मिलती है।

हालांकि कनाडा के गवर्नर जनरल इस उपाधि को किसी भी अन्य कनाडियाई विशिष्ट नागरिक को यह उपाधि प्रदान कर सकते हैं भले ही उसने कभी उपरोक्त तीन पदवियाँ धारण ना की हों।:

गवर्नर जनरलों को उनके कार्यकाल के दौरान हिज़/हर एक्सीलेम्सी से भी संबोधित किया जाता है। रानी के लिये कनाडा की परामर्श समिति व कनाडा की सीनेट के सदस्यों को द ऑनरेबल सम्मानसूचक उपसर्ग से संबोधित किया जाता है।

आयरलैंड[संपादित करें]

आयरलैंड की परामर्श समिति के सदस्य द राइट ऑनरेबल कहलाने के हकदार होते थे लेकिन दिसम्बर १९२२ में आइरिश स्वतम्त्र गणराज्य के गठन के बाद परामर्श समितियाँ भंग कर दी गयीं और उसके साथ ही यह उपाधि भी किसी को नहीं मिली। हालांकि डब्लिन के लॉर्ड मेयर ने इसका उपयोग ज़ारी रखा और अंतत: उसे भी २००१ में स्थानीय सरकार के कानूनी सुधारों के अम्तर्गत खत्म कर दिया गया।

न्यूज़ीलैंड[संपादित करें]

न्यूज़ीलैंड में प्रधानमंत्री और कुछ अन्य वरिष्ठ काबीना मंत्रीयों को परंपरागत रूप से यूनाइटेड किंगडम की परामर्श समिति में नियुक्त किया जाता था और इसलिये उन्हें भी द राइट ऑनरेबल के नाम से जाना जाता था। [6][7]

अगस्त 2010 में, न्यूज़ीलैंड की रानी ने घोषणा की, कि वो व्यक्ति जो निम्नलिखित पदवियों पर हैं या कभी थे वो आजीवन द राइट ऑनरेबल कहलाने के हकदार होंगे। [6]

ऐसा परिवर्तन इसलिये किया गया क्योंकि अब न्यूज़ीलैंड से परामर्श समिति में नियुक्तियाँ नहीं होती थीं।[8]


यूनाइटेड किंगडम[संपादित करें]

The prefix is customarily abbreviated to "The" in many situations, but never for Privy Counsellors.[9] The following persons are entitled to the style in a personal capacity:

The following persons are entitled to the style ex officio. The style is added to the name of the office, not the name of the person:

All other Lord Mayors are "The Right Worshipful"; other Lord Provosts do not use an honorific. By the 1920s, a number of city mayors, including that of Leeds, were unofficially using the prefix "The Right Honourable" and the matter was consequently raised in Parliament. Interestingly, the Lord Mayor of Bristol at present still uses the prefix "Right Honourable", without official sanction.[16][17] The Chairman of the London County Council (LCC) was granted the style in 1935 as part of the celebrations of the silver jubilee of King George V.[18] The Chairman of the Greater London Council, the body that replaced the LCC in 1965, was similarly granted the prefix,[19] but was abolished in 1986.

Privy Counsellors are appointed for life by the Monarch, on the advice of the Prime Minister. All members of the British Cabinet (technically a committee of the Privy Council) are appointed to the Privy Council, as are certain other senior ministers in the government and leaders of the major political parties. The Privy Council thus includes all current and former members of the Cabinet of the United Kingdom, excepting those who have resigned from the Privy Council. The First Ministers of Scotland, Wales and Northern Ireland are also so appointed.

In order to differentiate peers who are Privy Counsellors from those who are not, the suffix "PC" should be added after the name (according to Debrett's Peerage (2015)[20][21][22]). This is not however considered correct by Who's Who (2002).[23]

स्कॉटलैंड[संपादित करें]

स्कॉटलैंड के फ़्युडल बैरों को द मच ऑनर्ड शैली का उपयोग करते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Catalogue.nla.gov.au
  2. Parliament.uk
  3. A use in the Commons in 1898 हैन्सार्ड. HL Deb 02 May 1898 vol 57 c43 Retrieved 6 May 2014
  4. A use by either House of Parliament in 2005 हैन्सार्ड. HL Deb 14 March 2005 vol 670 cc399-468GC Retrieved 30-03-2013
  5. A use in 2005 again in the Lords Hansard. HL Deb 17 March 2005 vol 670 cc1441-76. Retrieved 30-03-2013
  6. "Rules for the Grant, Use and Retention of the Title “The Right Honourable” in New Zealand" (23 September 2010) 124 न्यूज़ीलैंड गैज़ेट 3251 at 3285
  7. "The title "The Honourable" and the Privy Council". Department of the Prime Minister and Cabinet. अभिगमन तिथि 2009-06-16.
  8. "Use of the title 'The Right Honourable' in New Zealand, 2 August 2010". The Queen's Printer. 2 August 2010. अभिगमन तिथि 3 August 2010.
  9. 'The Prefix "The"'. In Titles and Forms of Address, 21st ed., pp. 8–9. A & C Black, London, 2002.
  10. http://www.debretts.com/forms-address/titles/earl-and-countess
  11. http://www.debretts.com/forms-address/titles/viscount-and-viscountess
  12. http://www.debretts.com/forms-address/titles/baron
  13. "Privy Council members". Privy Council Office. अभिगमन तिथि 15 June 2015.
  14. http://www.theyworkforyou.com/glossary/?gl=214
  15. Citation needed
  16. The Title of Lord Mayor – Use of the Prefix "Right Honourable", in The Times, July 7, 1932, p. 16
  17. "Lord Mayor of Bristol". Bristol City Council. अभिगमन तिथि 26 December 2008.
  18. "Royal Guests of L.C.C. The Queen At The County Hall, Honour For Chairman". The Times. 1 June 1935. पृ॰ 16.
  19. London Gazette: no. 43613, p. 3195, 30 March 1965.
  20. Kidd, Charles, Debrett's Peerage & Baronetage 2015 Edition, London, 2015, Forms of Addressing Persons of Title, pp.56-60, p.60
  21. Debrett's recommends the use of the post-nominal letters "PC" in a social style of address for a peer who is a Privy Counsellor."Privy Counsellors and Crown Appointments". Debrett’s. अभिगमन तिथि 15 June 2015.
  22. "Privy counsellors". Debretts. अभिगमन तिथि 24 May 2015.
  23. ' Privy Counsellors'. In Titles and Forms of Address, 21st ed., pp. 72–73. A & C Black, London, 2002.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]