द इम्मोर्टल्स ऑफ़ मेलुहा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह शिव पर रचना-त्रय की प्रथम पुस्तक है। शिव एक साधारण मनुष्य है जिसके कर्म उसे देवों के देव महादेव में परिवर्तित कर देते हैं।

पुस्तक के कुछ अंश[संपादित करें]

1900 ईसवी पूर्व, जिसे आधुनिक भारतीय सिन्धु घाटी सभ्यता के नाम से कह जाने की गलती कर बैठते हैं। उस समय के निवासी उस भूमि को मेलूहा के नाम से पुकारते थे - इस साम्राज्य की स्थापना भारत के सबसे महान् सम्राट प्रभु श्रीराम ने कई शताब्दियों पूर्व की थी। एक समय गर्वशील रहे इस साम्राज्य एवं इसके सूर्यवंशी शासकों ने कई संकटों का सामना किया था क्योंकि उनकी प्राथमिक नदी पवित्र सरस्वती शनैः-शनैः सूखती हुई मृतप्राय होती जा रही है। पूर्व दिशा से अर्थात् चन्द्रवंशियों के साम्राज्य की ओर से वे अत्यंत ही विध्वंसक आतंकवादी आक्रमणों का सामना कर रहे हैं। चकित कर देने वाली एवं दुःखदायी बात यह प्रतीत होती है कि चन्द्रवंशियों ने उन नागाओं से समझौता कर लिया है जो मानव जाति में जाति बहिष्कृत एवं अशुभ जाति थी, किन्तु उनके पास अद्भुत युद्ध कौशल है।

सूर्यवंशियों की आस मात्र एक पौराणिक गाथा पर टिकी है - ‘जब बुराई एक महाकाय रूप धारण कर लेती है, जब ऐसा प्रतीत होता है कि सब कुछ लुप्त हो चुका है कि आपके शत्रु विजय प्राप्त कर लेंगे, तब एक महानायक अवतरित होगा।’

क्या वह रूखा एवं खुरदुरा तिब्बती प्रवासी शिव सचमुच ही महानायक है?

और क्या वह महानायक बनना भी चाहता है अथवा नहीं?

अपने प्रारब्ध एवं कर्त्तव्य की ओर खिंच जाने वाले एवं साथ ही प्रेम से प्रेरित शिव क्या सूर्यवंशियों के प्रतिशोध में उनका नेतृत्व करेंगे और बुराइयों का नाश करेंगे?

लेखक के बारें में[संपादित करें]

अमीश त्रिपाठी एक भारतीय लेखक हैं। इनकी कहानी पर हॉलीवुड फिल्म भी बनी है।[1] ‘द इम्मारटल्स ऑफ मेलुहा’ (2010), ‘द सीक्रेट ऑफ नागाज’(2011) और ‘द ओथ ऑफ द वायुपुत्राज’ (2013) के लेखन के कहानी के अधिकार के लिए एक अमेरिकी निर्माता ने बहुत अच्छे सौदे की पेशकश की है।[2] शिवा ट्रायलॉजीपर बेस्डह थर्ड और लास्ट पार्ट द ओथ ऑफ वायुपुत्र की 5 लाख प्रति एक सप्ताह में ही बिक गई।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अमीश त्रिपाठी की किताब 'इमॉर्टल्स ऑफ मेलुहा' पर बनेगी हॉलीवुड फिल्म!". आज तक. 29 जनवरी 2014. अभिगमन तिथि 3 जुलाई 2015.
  2. "अमीश त्रिपाठी की शिवा ट्रायोलॉजी का अमेरिकी निर्माता ने खरीदा अधिकार". पंजाब केसरी. 20 जनवरी 2014. अभिगमन तिथि 3 जुलाई 2015.
  3. "मेरे ऊपर शिव की कृपा है-अमीश त्रिपाठी". दैनिक जागरण. 9 मार्च 2013. अभिगमन तिथि 3 जुलाई 2015.