द्रविड़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

द्रविड़ दक्षिण एशिया से संबंधित शब्द है:स्कन्दपुराणके अनुसार विन्ध्याचलसे दक्षिण भरतका समग्र भूभाग पञ्चद्रविड कहलाता है | प्राचीन भारतके इतिहास मे विन्ध्याचलकी उत्पत्तिसे ही वैदिक ब्राह्मण दो तरफ होगये | उत्तरमे औत्तरीयपथके अनुयायी पञ्चगौड और दक्षिणमे दाक्षिणात्यपथके अनुयायी पञ्चद्रविड | पञ्चगौडमे - गौड,सारस्वत,कान्यकुब्ज,मैथिल और औत्कल है|वैसे पञ्चद्रविडमे-द्रविड, कार्णाटक,तैलंग,महाराष्ट्र और गौर्जर है | भारतके सभी ब्राह्मण जाति इन्ही दश वर्गमे आते है |उनमेसे द्रविड यह शब्द द्राविडौंकी प्रिय है |