दोस्त (1989 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दोस्त
दोस्त (1989 फ़िल्म).jpg
दोस्त का पोस्टर
निर्देशक के मुरलीमोहन राव
निर्माता ए सुर्यनारायणा
भानोदय प्रोडक्शंस
पटकथा एम डी सुंदर
अभिनेता विकास आनन्द,
असरानी,
मिथुन चक्रवर्ती,
अमला,
बॉब क्रिस्टो,
जैक गौड़,
घनश्याम,
अनु कपूर,
अमज़द ख़ान,
कादर ख़ान,
शुभा खोटे,
किरन कुमार,
सुजीत कुमार,
मनमौजी,
शरत सक्सेना,
दलीप ताहिल,
संगीतकार राहुल देव बर्मन
इंदीवर (गीत)
छायाकार वी एस आर स्वामी
संपादक जे नरसिंहा राव
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • 4 अगस्त 1989 (1989-08-04) (भारत)
समय सीमा 160 मिनट[1]
देश भारत
भाषा हिन्दी

दोस्त 1989 में भानोदय प्रोडक्शंस पताका अन्तर्गत ए सुर्यनारायणा द्वारा निर्मित, के मुरलीमोहन राव निर्देशित हिन्दी फिल्म है। पारिवारिक कथा आधारित इस फिल्म के प्रमुख कलाकार मिथुन चक्रवर्ती एवं अमला और सहायक कलाकार अमज़द ख़ान, किरण कुमार, असरानी, सुजीत कुमार, बंदिनी मिश्रा, शुभा खोटे, शरत सक्सेना, विकास आनंद, घनश्याम, कादर ख़ान, मनमौजी, दलीप ताहिल, अनु कपूर, बॉब क्रिस्टो, जैक गौड़ व मास्टर अन्तरिक्ष है। इंदीवर ने इस फिल्म के गीत की रचना की, तथा संगीतकार राहुल देव बर्मन है।

संक्षेप[संपादित करें]

पिता शेर सिंह (अमज़द ख़ान) व पुत्र नागेंद्र (किरण कुमार) जंगल में अवैध शिकारी व पेड़ों को काट उन्हें अवैध रूप से बाहर भेजते हैं। वन्य अधिकारी एंथनी (दिलीप ताहिल) की ह्त्या के बाद वन्य विभाग राजा (मिथुन चक्रवर्ती) को उसकी जगह नियुक्त करते हैं। जंगली कबीले के लोगों के साथ एक हाथी (राम नामक), बंदर (बंसी) एवं तोता (मिट्ठू) राजा के साथी है। एक सन्दर्भ में राम को मगरमच्छ के शिकंजे से राजा बचाता है। इधर शेर सिंह अपने नालायक बेटे नागेंद्र का विवाह धनिक ब्रिजमोहन (सुजीत कुमार) की बेटी पूजा (अमला) से कराना चाहता है। उसकी पत्नी भारती (शुभा खोटे) भतीजा बुद्धिराम अव्वलचन्द दिमागवाला (कादर ख़ान) से पूजा का विवाह कराने में दिलचस्पी रखती है क्योंकि पूजा व बुद्धिराम के पिता मित्र थे। एक दिन पूजा के शिकार करते समय, नागेंद्र के कामुक इरादों से राजा के बचाने पर, उससे विवाह करना चाहती है। अपने पिता की इच्छा के विरुद्ध पूजा राजा से विवाह करती है, जिसमे जंगली कबीले कर नायक मंगोला (शरत सक्सेना) उसके पिता का रस्म निभाता है। राजा एक दिन शेर सिंह व नागेंद्र को जंगल से तस्करी करते रंगेहाथों पकड़ता है। न्यायालय उन्हें छः वर्ष की कठोर दंड सुनाती है। दंड पूरा कर लौटने पर वे, राजा व पूजा के पुत्र रवि (मास्टर अन्तरिक्ष) को देख, उन्हें बहुत तंग करते हैं। नागेंद्र की नीचता इस हद तक पहुँचती है कि एक दिन वह राम को उन्मत्त कर छोड़ता है। इसी उन्मत्तता में वह आसपास की सम्पत्ति नष्ट किये, राजा के परिवार पर हमला कर, रवि को घायल करता है। इसपर क्रोधित पूजा पति से लड़ पड़ती है और पिता ब्रिजमोहन के पास चली जाती है। कुछ दिन बाद राजा का नौकर सुखिया (असरानी) राम का सन्देश लिए ब्रिजमोहन के घर जाता है। रवि के लिए राम का सन्देश, पूजा व राजा के उलझनों का सुलझना, शेर सिंह व नागेंद्र की दशा और इनमे बुद्धिराम का पात्र को शेष कथा में दर्शाया गया है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

गीत गायक
"छोटा सा परिवार हमारा" आशा भोंसले, अमित कुमार, जयश्री
"दिल तो चाहे यह हमारा" आशा भोंसले, अमित कुमार
"एक तो जंगल उस पे अकेली" अमित कुमार
"हाथी राजा" अलका याज्ञनिक
"हिरणी जैसी आंखोंवाली" अमित कुमार
"स्टेप बाई स्टेप" आशा भोंसले, अमित कुमार
"तू ही हीरा तू ही मोती" आशा भोंसले, अमित कुमार
"यही तो है" आशा भोंसले, अमित कुमार

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]