देवल देवी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

देवल देवी कणॅदेव द्वितीय तथा कमला देवी की पुत्री थी। देवगिरी को जीतकर अल्लाउद्दीन खिलज़ी उन्हें दिल्ली लाया जहाँ उनका विवाह ख़िज़्र खान के साथ जबरन करवाया गया। देवलदेवी ने बाद में योजनाबद्ध ढंग से अपना प्रतिशोध लिया। इसे आधार बनाकर हिंदी लेखक सुधीर मौर्य ने प्रसिद्धि उपन्यास देवलदेवी लिखा है।