दुर्गा कुंड, वाराणसी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दुर्गा कुंड, वाराणसी

बनारस में अस्‍सी रोड से कुछ ही दूरी पर आनन्‍द बाग के पास दुर्गा कुण्‍ड नामका स्थान है। यहां आदि शक्ति का दुर्गा मंदिर भी है। यह मंदिर और कुंड का निर्माण १८ वी सदीमें बंगाल की महारानी ने करवाया था। यह कुंड पहले गंगा नदी से जूडा हुआ था। माना जाता है कि यहां देवी माता की मूर्ति स्वयंभू प्रकट हुई थी। कालांतर में वाराणसी नगर महापालिका सुन्दरी करण के अंतर्गत खूबसूरत फव्वारे का निर्माण किया ।[1]

नवरात्रि सावन तथा मंगलवार और शनिवार को इस मंदिर में भक्‍तों की काफी भीड़ रहती है। इसी के पास राम चरित मानस के रचइता गोस्वामी तुलसी दास जी द्वारा स्थापित हनुमान जी का संकटमोचन मंदिर है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Durga Temple". Varanasi City website. अभिगमन तिथि १ मार्च २०१५.