दुख़्तरान-ए-मिल्लत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

दुख़्तरान-ए-मिल्लत (अर्थ: राष्ट्र की बेटियाँ) कश्मीर में इस्लामी क़ानून स्थापित करने के लिए और भारत से एक अलग राष्ट्र स्थापित करने के लिए, कश्मीरी महिलाओं का एक जिहादी संगठन है।[1] भारत द्वारा यह संगठन को आतंकवादी घोषित किया गया है। [2] [3]

समूह की स्थापना 1987 में की गई थी, और आसिया अंद्राबी इसकी अगवाई कर रही है, जो अपने आप को एक "इस्लामी नारीवादी" मानती है।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Dukhtaran-e-Millat Archived 10 जनवरी 2019 at the वेबैक मशीन. STAP.org
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 10 जनवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 10 अक्तूबर 2016.
  3. "संग्रहीत प्रति". मूल से 10 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अक्तूबर 2016.
  4. An Islamic Feminist: Asiya Andrabi and the Dukhtaran-e-Millat of Kashmir Archived 3 दिसम्बर 2013 at the वेबैक मशीन. Francesca Marino, Journal of South Asia Women Studies, Vol. 12 Nº. 1 (December 3, 2010)