दीर्घकालिक स्मृति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

दीर्घकालिक स्मृति एक प्रकार की स्मृति है जो लम्बे समय तक स्मृति को सहेजे रखती है। यदि आप कुछ वर्षो या महीनों की कोई भी स्मृति याद रखते हैं या कोई बड़ी जानकारी तो वह सभी दीर्घकालिक स्मृति में आती है। यह लम्बे समय तक अनगिनत जानकारी याद रख सकती है।

जानकारी का कूटबन्धन[संपादित करें]

एक अनुसंधान में पाया गया कि दीर्घकालिक स्मृति को याद रखने के लिए दिमाग उस जानकारी को कूटबन्धन कर याद रखता है। यह दीर्घकालिक स्मृति में जाने से पूर्व सक्रिय स्मृति में जाता है।[1] एक अनुसंधान में यह पता चला कि कोई भी वस्तु या जानकारी जो हम देखते हैं, वह हमारे दिमाग में जल्दी से याद हो जाता है। इसका अर्थ यह है कि यदि हमारा सक्रिय स्मृति जितना अधिक जानकारी ग्रहण करेगा उतना हम अधिक गति से कुछ भी सीख सकेंगे।.[2]

निद्रा[संपादित करें]

निद्रा का कार्य दीर्घकालिक स्मृति में बहुत बड़ा होता है। इसके द्वारा ही नए स्मृति के लिए स्थान बनता है।[3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Baddeley, A. D. (1966). "The influence of acoustic and semantic similarity on long-term memory for word sequences". The Quarterly Journal of Experimental Psychology. 18 (4): 302–309. PMID 5956072. डीओआइ:10.1080/14640746608400047.
  2. Nikolić, D.; Singer, W. (2007). "Creation of visual long-term memory". Perception & Psychophysics. 69: 904–912. डीओआइ:10.3758/bf03193927.
  3. Ruch, S.; Markes, O.; Duss, B. S.; Oppliger, D. Reber; Koenig, T.; Mathis, J.; Roth, C.; Henke, K. (2012). "Sleep stage II contributes to the consolidation of declarative memories". Neuropsychologia. 50: 2389–2396. डीओआइ:10.1016/j.neuropsychologia.2012.06.008.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]