दीपोनेगोरो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
पांगेरान दीपोनेगोरो
युवराज दीपोनेगोरो का चित्र, 1835
जीवनसाथी केधातन
रत्नानिंसिह
रत्नानिंरम
संताने
17 पुत्र एवं 5 पुत्रियां
पूरा नाम
मस्ताहार
राजघराना हमेंगकुबवाना
पिता हमेंगकुबवाना III
माता मांगकारावती
जन्म 11 नवम्बर 1785
योगयकार्ता सल्तनत
मृत्यु 8 जनवरी 1855(1855-01-08) (उम्र 69)
ओएदजोयेंग, पानदांग, डच ईस्ट इंडीज़

दीपोनेगोरो (मस्ताहार, अंतावीर्य, 11 नवंबर 1785 - 8 जनवरी 1855), जिसे दीपानेगारा भी कहा जाता है, एक जावाई राजकुमार थे, जिन्होंने डच औपनिवेशिक शासन का विरोध किया था। उन्होंने जावा युद्ध (1825-1830) में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 1830 में, डचों ने उन्हें मकस्सर को निर्वासित कर दिया था।

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

डच शासन के विरुद्ध विद्रोह[संपादित करें]

पराजय और निर्वासन[संपादित करें]

विरासत[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]