दीपा मलिक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दीपा मलिक
[[File:
Deepa Malik
|frameless|alt=]]
व्यक्तिगत जानकारी
पूरा नाम दीपा मलिक
जन्म 30 सितम्बर 1970 (1970-09-30) (आयु 49)
भैंसवाल, सोनीपत, हरियाणा
खेल
देश Flag of India.svg भारत
प्रतिस्पर्धा शॉटपुट एवं ज्वलीन थ्रो के साथ-साथ तैराकी एवं मोटर रेसलिंग।

दीपा मलिक (जन्म:30 सितंबर 1970), शॉटपुट एवं जेवलिन थ्रो के साथ-साथ तैराकी एवं मोटर रेसलिंग से जुड़ी एक विकलांग भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने 2016 पैरालंपिक में शॉटपुट में रजत पदक जीतकर इतिहास रचा। 30 की उम्र में तीन ट्यूमर सर्जरीज और शरीर का निचला हिस्सा सुन्न हो जाने के बावजूद उन्होंने न केवल शॉटपुट एवं ज्वलीन थ्रो में राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में पदक जीते हैं, बल्कि तैराकी एवं मोटर रेसलिंग में भी कई स्पर्धाओं में हिस्सा लिया है। उन्होंने भारत की राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 33 स्वर्ण तथा 4 रजत पदक प्राप्त किये हैं। वे भारत की पहली महिला हैं जिन्हें हिमालय कार रैली में आमंत्रित किया गया। वर्ष 2008 तथा 2009 में उन्होंने यमुना नदी में तैराकी तथा स्पेशल बाइक सवारी में भाग लेकर दो बार लिम्का बूक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराया। यही नहीं, सन् 2007 में उन्होने ताइवान तथा 2008 में बर्लिन में जवेलिन थ्रो तथा तैराकी में भाग लेकर रजत एवं कांस्य पदक प्राप्त किया। कोमनवेल्थ गेम्स की टीम में भी वे चयनित की गई। पैरालंपिक खेलों में उनकी उल्लेखनीय उपलब्धियों के कारण उन्हें भारत सरकार ने अर्जुन पुरस्कार और राजीव गांधी खेल रत्न प्रदान किया। [1]

रियो पैरालिंपिक खेल- 2016 में दीपा मलिक ने शॉट-पुट में रजत पदक जीता, दीपा ने 4.61 मीटर तक गोला फ़ेंका और दूसरे स्थान पर रहीं। पैरालिंपिक खेलों में मेडल जीतने वाली दीपा पहली भारतीय महिला बन गई हैं।

परिचय[संपादित करें]

दीपा मलिक का जन्म 30 सितंबर 1970 को हरियाणा के सोनीपत में हुआ। दीपा की पृष्ठभूमि एक सैन्य परिवार से है। उनके पिता कर्नल बीके नागपाल हैं। रिटायर्ड कर्नल बिक्रम सिंह, दीपा के पति हैं। उनकी दो बेटियां हैं। उनकी बड़ी बेटी का नाम देविका है और छोटी बेटी का नाम अम्बिका है।[2]

राष्ट्रीय पुरस्कार[संपादित करें]

अंतराष्ट्रीय पुरस्कार[संपादित करें]

  • एशियाई पैरा गेम्स जकार्ता २०१८  - जेवलिन - कांस्य पदक
  • एशियाई पैरा गेम्स जकार्ता २०१८  - डिस्कस  - कांस्य पदक
  • पैराओलिंपिक गेम्स रिओ , ब्राज़ील २०१६  - शॉटपुट - रजत पदक
  • एशियाई पैरा गेम्स इंचिओन २०१४ -  जेवलिन - रजत पदक
  • एशियाई पैरा गेम्स चीन २०१० - शॉटपुट  - कांस्य पदक

लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स[संपादित करें]

  • यमुना नदी के बहाव की उल्टी दिशा में एक किलोमीटर की दूरी तय की - अलाहाबाद - २००८  [3]
  • 58 किलोमीटर तक स्पेशल तरीके से बाइक राइडिंग
  • पैन इंडिया ड्राइविंग में 3278 किमी सफर
  • लद्दाख में सबसे ऊंची रोड पर ड्राइविंग करके पहुंचना

राजनीति[संपादित करें]

दीपा ने मार्च २०१९ में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता हासिल की। [4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. गुप्ता, प्रगति (1 जनवरी 2014). "हर फील्ड में विजेता रही मैं: दीपा मलिक (साक्षात्कार)". जागरण. अभिगमन तिथि 12 जुलाई 2014.
  2. "रियो में सिल्वर मेडल जीतने वाली दीपा मलिक की कुछ ऐसी है फैमली लाइफ". Dainik Bhaskar. 2016-09-14. अभिगमन तिथि 2019-10-19.
  3. From Paralysis to Paralympian: Deepa Malik, Limca Book of Records Record Holder, अभिगमन तिथि 2019-10-19
  4. "लोकसभा चुनावः भाजपा में शामिल हुईं पैरालंपियन दीपा मलिक, इनेलो विधायक रहे केहर सिंह रावत". Amar Ujala. अभिगमन तिथि 2019-10-19.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

[1]


  1. http://khabar.ndtv.com/news/sports/deepa-malik-wins-silver-at-rio-2016-to-become-1st-indian-woman-paralympic-medallist-1457774