दीपाली बरठाकुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दीपाली बरठाकुर
जन्म 30 जनवरी 1941
निलोमोनी टी एस्टेट, सोनारी, शिवसागर, असम
मृत्यु दिसम्बर 21, 2018(2018-12-21) (उम्र 77)
गुवाहाटी
व्यवसाय गायक
सक्रिय वर्ष 1955-1969
जीवनसाथी नील पवन बरुआ
पुरस्कार पद्मश्री, 1998

दीपाली बरठाकुर (30 जनवरी 1941 – 21 दिसम्बर 2018) असम से एक भारतीय गायिका थी। वे "असम की कोकिला" नाम से विख्यात थीं। वर्ष 1958 में इन्होंने संगीत कैरियर की शुरुआत ऑल इंडिया रेडियों, गुवाहाटी में किया था। वर्ष 1976 में इन्होंने प्रसिद्ध कलाकार और चित्रकार नील पवन बरुआ से शादी की थी। उन्हें वर्ष 1998 में चतुर्थ सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।[1]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

बरठाकुर का जन्म असम के शिवसागर जिले के सोनारी में बिश्वनाथ बरठाकुर और चंद्रकांति देवी के यहाँ हुआ था।[2]

संगीत कैरियर[संपादित करें]

बरठाकुर ने अपने करियर की शुरुआत एक गायक के रूप में की थी। जब वह कक्षा नौ में गा रही थीं, 1958 में, उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो, गुवाहाटी, पर "मोर बोपै लाहौरी" और "लच्छन बोरोफुकन (1959)" फिल्म के लिए गीत "जौबोन अमोनी कोरे चैनदोंह" गाया।[3]

उनके कुछ अन्य लोकप्रिय गीत असमिया हैं:[4]

"सोनार खारु नलज मुख"

"जौबोन आमोनी कोरे, चेनैधोन"

"जुंडोन जुनलाइट"

"कोनमाना बोरोक्सायर सीप"

"सेनई मोई जाउ देई"

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

बारठाकुर ने 1969 में अपना अंतिम गीत "लितो नाज़ी बोई" गाया। [४] के बाद वह एक गंभीर मोटर न्यूरॉन बीमारी से पीड़ित होने लगी जिसने उसके गायन में बाधा डाली और उसे व्हीलचेयर का उपयोग करने के लिए मजबूर किया। 1976 में उन्होंने प्रसिद्ध भारतीय कलाकार बिनंदा चंद्र बैरवा से एक प्रख्यात भारतीय कलाकार और चित्रकार नील पवन बरुआ से शादी की। [5][6]

बारठाकुर का निधन लंबी बीमारी के बाद 21 दिसंबर, 2018 को गुवाहाटी के नेमाकेर अस्पताल में हुआ।[7]

पुरस्कार[संपादित करें]

बारठाकुर को कई बार सम्मानित किया गया, विशेष रूप से 1990-92 में लोक और पारंपरिक संगीत के लिए पद्म श्री पुरस्कार से।

भारत सरकार द्वारा कला में उनके योगदान के लिए पद्म श्री (1998)। [8][9]

सिलिपी बोटा (2010) असम सरकार से।[10]

सैडू असोम लखिका सोमारो समिति द्वारा आइडू हेंडिक सिल्पी अवार्ड (2012)।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "पद्मश्री पुरस्कार" (PDF). गृह मंत्रालय, भारत सरकार. 2015. मूल (PDF) से नवंबर 15, 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि जुलाई 21, 2015.
  2. Suchibrata Ray, Silpi Dipali Barthakuror 71 Sonkhyok Jonmodin, Amar Asom, 31 January 2012, accessed date: 03-02-2012
  3. "Musical Minds". enajori.com. मूल से 2013-04-10 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-04-12.
  4. "Deepali-Borthakur". assamspider.com. मूल से 10 अक्तूबर 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 April 2013.
  5. "A tribute to marriage of arts & minds - Book on celebrity couple". The Telegraph. 26 December 2003. मूल से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 फ़रवरी 2020.
  6. "Where Rubies are Hidden - II". Rukshaan Art. मूल से 17 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 July 2019.
  7. "Dipali Borthakur Passes Away". मूल से 15 फ़रवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 फ़रवरी 2020.
  8. "October 16th, 2010 - October 28th, 2010, The Strand Art Room, Neel Pawan Baruah". ArtSlant. मूल से 15 फ़रवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-04-01.
  9. "Rediff On The NeT: Nani Palkhivala, Lakshmi Sehgal conferred Padma Vibushan". Rediff.co.in. 1998-01-27. अभिगमन तिथि 2013-04-01.
  10. TI Trade (2010-01-18). "The Assam Tribune Online". Assamtribune.com. मूल से 2016-03-03 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-04-01.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]