दिल्ली के संग्रहालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय की दिल्ली में इंडिया गेट के निकट स्थित इमारत।

यह दिल्ली के संग्रहालयों की सूची है।

क्राफ्ट म्यूजियम[संपादित करें]

क्राफ्ट म्यूजियम प्रगति मैदान में स्थित दिल्ली का प्रमुख पर्यटक स्थल है। इस संग्रहालय में भारत की समृद्ध हस्तशिल्प परंपरा को प्रदर्शित किया गया है। देश के विभिन्नस राज्योंष की सांस्कृ तिक झलक यहां देखी जा सकती है। इस जगह देश के विभिन्न भागों से आए शिल्पकार अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं। इस संग्रहालय में देशभर से लाए गए दुर्लभ कला और हस्त शिल्प का विस्तृदत संग्रह है। यहां आदिवासी और ग्रामीण शिल्प, कपड़ों आदि से संबंधित अलग-अलग दीर्घाएं हैं। क्राफ्ट म्यूजियम में क्राफ्ट म्यूजियम शॉप भी है। संग्रहालय और शिल्पकारों से पूजा का सामान, गहने, शॉल और किताबें खरीदी जा सकती हैं। समय: जुलाई से सितंबर सुबह 9.30-शाम 5 बजे तक अक्टूबर से जून सुबह 9.30-शाम 6 बजे तक, सोमवार और राष्ट्रीय नोट: अवकाश के दिन बंद

राष्ट्रीय संग्रहालय[संपादित करें]

1960 में निर्मित इस संग्रहालय में भारतीय सभ्यता के विकास से संबंधित चीजों को प्रदर्शित किया गया है। इसमें से कुछ चीजें प्रागेतिहासिक काल की हैं। यहां चोल काल के पत्थर और कांसे से बनी मूर्तियां रखी हुई हैं। यहां विश्वि के सर्वाधिक लघु चित्रों का संग्रह है। इसके अलावा घर की सजावट और गहनों का प्रदर्शित करती दीर्घाएं भी यहां हैं। इस राष्ट्रीय संग्रहालय में एक संरक्षण प्रयोगशाला है। इस प्रयोगशाला में अनेक कलाकृतियों को संभाल कर रखा जाता है और छात्रों को प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

भारतीय रेल संग्रहालय[संपादित करें]

दक्षिण दिल्ली के चाणक्यपुरी इलाके में स्थित रल संग्रहालय भारतीय रेल के 140 साल के इतिहास की झलक प्रस्तुत करता है। विभिन्न प्रकार के रेल इंजनों को देखने के लिए देश भर से लाखों पर्यटक यहां आते हैं। यहां पर रेल इंजनों के अनेक मॉडल और कोच हैं जिसमें भारत की पहली रेल का मॉडल और इंजन भी शामिल हैं। इसका निर्माण ब्रिटिश वास्तुकार एम जी सेटो ने 1957 में किया था। 10 एकड़ में फैले इस संग्रहालय में एक टॉय रेल भी है जहां सैर का आनंद लिया जा सकता है। इसके अलावा यहां रेस्टोरेंट और बुक स्टॉल है। तिब्बती हस्तशिल्प का प्रदर्शन भी यहां किया गया है। समय: गर्मियों में सुबह 9.30-शाम 7 बजे तक, सर्दियों में सुबह 9.30-शाम 5 बजे तक

डॉल म्यूजियम[संपादित करें]

इस संग्रहालय की स्था‍पना मशहूर कार्टूनिस्टर के.शंकर पिल्ल्ई ने की थी। यहां विभिन्न परिधानों में सजी गुडि़यां का संग्रह विश्व9 के सबसे बड़े संग्रहों में से एक है। यह संग्रहालय बहादुर शाह जफर मार्ग पर चिल्ड्र न बुक ट्रस्टव की बिल्डिंग में स्थित है। यह संग्रहालय दो हिस्सों में बंटा है। एक हिस्से में यूरोपियन देशों, इंग्लैंेड, अमेरिका, ऑस्ट्रेालिया, न्यूमजीलैंड, राष्ट्र मंडल देशों की गुडि़यां रखी गई हैं। दूसरे भाग में एशियाई देशों, मध्यइ पूर्व, अफ्रीका और भारत की गुडि़यां प्रदर्शित की गई हैं। वर्तमान समय में यहां 85 देशों की करीब 6500 गुडि़यों का संग्रह देखा जा सकता है। समय: सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक, सोमवार को बंद

राष्ट्रीय प्राकृतिक इतिहास संग्रहालय[संपादित करें]

राष्ट्रीय प्राकृतिक इतिहास संग्रहालय नई दिल्ली के बाराखंभा मार्ग पर स्थित है। यह ५ जून १९७२ में स्थापित किया गया संग्रहालय है, जो कि प्राकृतिक इतिहास पर केन्द्रित है। यह भारत सरकार के पर्यावरण और वन मंत्रालय के अधीन आता है।

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय[संपादित करें]

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, या नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट नई दिल्ली में इंडिया गेट के पास स्थित है। इसकी आवश्यकता सन 1949 में कोलकाता के कला-सम्मेलन में महसूस की गई, जिसके परिणामस्वरूप 29 मार्च,1954 में इसकी स्थापना जयपुर हाउस में, की गई। यह कला दीर्घा भारत में अपने आप में ऐसा अद्भुत संग्रहालय है, जिसमें सोलह हज़ार से भि अधिक कलाकृतियों का संग्रह है, तथा इसमें लगातार वृद्धि हो रही है।