दिलरुबा (वाद्य यंत्र)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

दिलरुबा भारत से एक झुका हुआ तार वाला संगीत वाद्य यंत्र है।[1] यह एसराज से थोड़ा बड़ा होता है और इसमें बड़ा और इसमें अनुनाद बक्सा चौकोर होता है। हालाँकि यह पूर्व में उत्पन्न हुआ था वहाँ पहले से ही काफ़ी लोकप्रिय था, 1960 में द बीटल्स ने इसे अपने साइकेडेलिक चरण (psychedelic phase) में ' Within You Without You ' जैसे गीत पर बजाकर इसे पश्चिम में लोकप्रिय किया था।

इतिहास[संपादित करें]

दिलरुबा का अविष्कार लगभग 300 साल पहले गुरु गोबिंद सिंह (10 वें सिख गुरु) ने किया था, जिन्होंने इसे ताऊस (एक प्राचीन और भारी वाद्य यंत्र)[1][2] से प्रेरित होकर बनाया था। इसके हल्के होने की वजह से यह इसे अलग-अलग जगह ले जाना आसान पड़ता था, जिस कारण यह खालसा (सिख) सेना इसे घोड़े की पीठ पर लादकर लेकर जा सकती थी। इस प्रकार यह उनके लिए एक सुविधाजनक विकल्प के रूप में उभरा।[3]

यह सभी देखें[संपादित करें]


संदर्भ[संपादित करें]

  1. Dutta, Madhumita (2008). Let's Know Music and Musical Instruments of India. Star Publications. पपृ॰ 22–23. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-905863-29-7.
  2. Dharam Singh (2001). Perspectives on Sikhism. Publication Bureau, Punjabi University. पृ॰ 158. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-8-1738-0736-7.
  3. "Rarely played Indian instruments". Radioandmusic.com (अंग्रेज़ी में). 2018-03-29. मूल से 26 जनवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2020-01-26.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]