दिया कुमारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
दिया कुमारी
जयपुर की राजकुमारी
संताने
महाराज कुमार पद्मनाभ सिंह (पुत्र)
राजकुमार महाराज लक्ष राज सिंह (पुत्र)
राजकुमारी गौरवी कुमारी (पुत्री)
पिता महाराजा भवानी सिंह
माता महारानी पद्मीनी देवी
जन्म (1971-01-30) 30 जनवरी 1971 (आयु 45 वर्ष)
जयपुर, राजस्थान, भारत
धर्म हिन्दू

राजकुमारी दिया कुमारी (जन्म 30 जनवरी 1971), अक्सर शैली जयपुर की राजकुमारी दिया कुमारी जयपुर के महाराजा सवाई सिंह और महारानी पद्मिनी देवी की पुत्री हैं।

जीवनी[संपादित करें]

उनकी प्रारम्भिक शिक्षा मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली और महारानी गायत्री देवी गर्ल्स पब्लिक स्कूल, जयपुर में हुई, बाद में सजावटी कला पाठ्यक्रम के लिए लंदन चली गयी।[1] वो परिवार की विरासत को सजाने और सम्भालने का कार्य करती हैं, जिसमें सिटी पैलेस, जयपुर जो उनका आंशिक निवास स्थान भी है, जयगढ़ दुर्ग, आमेर एवं दो ट्रस्ट: महाराजा सवाई सिंह द्वितीय संग्राहलय ट्रस्ट, जयपुर एवं जयगढ़ पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट शामिल हैं। वो दो विद्यालयों का भी कार्यभार सम्भालती हैं: द पैलेस स्कूल और महाराजा सवाई भवानी सिंह स्कूल। वो तीन राजभवन होटलों; होटल राजमहल पैलेस, जयपुर, होटल जयपुर हाउस, माउंट आबु और होटल ला महल पैलेस के प्रबंधन का कार्य भी करती हैं।[2]

इकलोती सन्तान होने के नाते, राजकुमारी दीया कुमारी व्यक्तिगत रूप से अपनी दादी राजमाता गायत्री देवी की देखरेख में पली बढ़ी। वो विरासत की संरक्षक और अस्तित्वमय जयपुर के शाही परिवार की कला और संस्कृति को बनाए रखने के लिए एक राजकुमारी का कार्य कर रही हैं।[3]

राजकुमारी दिया के उनके महाराजा नरेन्द्र सिंह से विवाह के बाद तीन सन्तान हुईं। उनके बड़े पुत्र महाराज पद्मनाथ सिंह का जन्म 2 जुलाई 1998 को हुआ, जो वहाँ के स्वर्गीय महाराजा भवानी सिंह द्वारा 22 नवम्बर 2002 को उनका युवराज घोषित किया गया और 27 अप्रैल 2011 को जयपुर की गद्दी पर विराजमान हुए। उनका द्वितीय पुत्र राजकुमार लक्ष राज सिंह है और उनकी पुत्री राजकुमारी गौरवी कुमारी हैं।[1]

राजनीति[संपादित करें]

अपनी दादी राजमाता गायत्री देवी के कदमों का अनुसरण करते हुए, राजकुमारी दिया कुमारी ने भी अन्ततः राजनीति में प्रवेश कर लिया। उन्होंने 10 सितम्बर 2013 को, जयपुर में एक रैली के दौरान, गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी, तत्कालीन भाजपाध्यक्ष श्री राजनाथ सिंह और वसुन्धरा राजे की उपस्थिति में औपचारिक रूप से भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली।[4][5]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Princess Diya Kumari biography from Maharaja Sawai Mansingh II Museum
  2. http://www.msmsmuseum.com/pagedetail.php?catid=1&subcatid=2
  3. Nona Walia, A princess is like a CEO, Times of India, Oct 12, 2010.
  4. "Jaipur princess joins BJP [जयपुर की राजकुमारी भाजपा में शामील]" (अंग्रेज़ी में). द टेलीग्राफ. 10 सितम्बर 2013. http://www.telegraphindia.com/1130911/jsp/nation/story_17336370.jsp#.UjF3SnuLi3E. अभिगमन तिथि: 10 सितम्बर 2013. 
  5. "सुराज रैली: भाजपा का दावा छह लाख लोग आए". राजस्थान पत्रिका. 10 सितम्बर 2013. http://www.patrika.com/news/traffic-slowdown-due-to-suraj-rally-in-jaipur/955345. अभिगमन तिथि: 22 सितम्बर 2013.