दिबियापुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दिबियापुर
नगर
उपनाम: दिव्यपुरी,देवीपूर
दिबियापुर की उत्तर प्रदेश के मानचित्र पर अवस्थिति
दिबियापुर
दिबियापुर
उत्तर प्रदेश में स्थान
निर्देशांक: 26°38′09″N 79°34′24″E / 26.63583°N 79.57333°E / 26.63583; 79.57333निर्देशांक: 26°38′09″N 79°34′24″E / 26.63583°N 79.57333°E / 26.63583; 79.57333
देशFlag of India.svg भारत
राज्यउत्तर प्रदेश
जिलाऔरैया
शासन
 • प्रणालीशहरी नगर निकाय
 • सभानगर पंचायत
 • अध्यक्षश्री अरविंद पोरवाल
क्षेत्रफल
 • कुल15 किमी2 (6 वर्गमील)
ऊँचाई145 मी (476 फीट)
जनसंख्या (2011)
 • कुल27,237
 • घनत्व1800 किमी2 (5,000 वर्गमील)
भाषा
 • आधिकारिकहिन्दी
समय मण्डलमानक समय (यूटीसी+5:30)
डाक पता206244
वाहन पंजीकरणUP 79
वेबसाइटhttp://auraiya.nic.in
कानपुर-आगरा क्षेत्र का महत्वपूर्ण शैक्षिक एवं औद्योगिक नगर

दिबियापुर भारत में सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में औरैया ज़िले का एक नगर और एक नगर पंचायत है। यह नगर राज्य राजमार्ग 21 पर स्थित है। यह हावड़ा-दिल्ली मुख्य लाइन के कानपुर-दिल्ली खण्ड पर फफूँद रेलवे स्टेशन से जुड़ा हुआ है जो उत्तर मध्य रेलवे द्वारा संचालित है। नगर का प्रशासनिक मुख्यालय औरैया है।

अनुक्रम

स्थिति[संपादित करें]

दिबियापुर नगर औरैया और कन्नौज के बीच राज्य राजमार्ग 21 पर स्थित है। यहाँ का प्रमुख रेलवे स्टेशन फफूँद रेलवे स्टेशन है जो हावड़ा-दिल्ली मुख्य लाइन के कानपुर-दिल्ली अनुभाग पर है। यह रेलवे स्टेशन कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन 82 किलोमीटर और टूंडला जंक्शन से 148 किमी की दूरी पर स्थित है। इस नगर के मध्य से लोअर गंगा कैनाल स्थित है जिस पर बना सेतु लगभग 150 सालों पुराना है।

सामान्य तथ्य[संपादित करें]

  • निर्देशांक: 26°38′09″N 79°34′24″E
  • जिला: औरैया
  • जिला मुख्यालय: औरैया
  • राज्य: उत्तर प्रदेश
  • मुख्य राजमार्गः एसएच-21
  • मुख्य रेलवे लाइन: हावड़ा-दिल्ली मुख्य लाइन
  • रेलवे स्टेशन की सेवा: फफूँद रेलवे स्टेशन (PHD)
  • स्थाई बस डिपो की सेवा: अभी तक नहीं

आसपास के क्षेत्र[संपादित करें]

यातायात[संपादित करें]

Phaphund railway station
"फफूँद" (दिबियापुर का स्थानीय स्टेशन)

रेल[संपादित करें]

दिबियापुर में स्थानीय "ए" ग्रेड फफूँद रेलवे स्टेशन (PHD) संचालित है जो हावड़ा-दिल्ली मुख्य लाइन और हावड़ा-गया-दिल्ली लाइन के कानपुर-दिल्ली खण्ड पर स्थित है।

फफूँद रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध ट्रेन[संपादित करें]

फफूँद रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध रहने वाली कुछ ट्रेन नीचे सारिणीबध्य हैं-

ट्रेन संख्या ट्रेन का नाम ट्रेन का प्रकार
12179 Lucknow Jn.-Agra Cantt. INTERCITY Superfast Express
12180 Agra Cantt.-Lucknow Jn. Intercity Express Superfast Express
12311 Howrah-Delhi Kalka Mail Superfast Mail Express
12312 Kalka Mail Superfast Mail Express
12419 Gomti Express Superfast Expresss
12420 Gomti Express Superfast Express
13007 Udyan Abha Toofan Express Mail Express
13008 Udyan Abha Toofan Express Mail Express
14163 Sangam Express Mail Express
14164 Sangam Express Mail Express
14217 Unchahar Express Mail Express
14218 Unchahar Express Mail Express
15483 Sikkim Mahananda Express Mail Express
15484 Sikkim Mahananda Express Mail Express
18101 TATA MURI -HTE - JAT EXPRESS Mail Express
18102 Jat Muri Tata Express Mail Express
19037 Avadh Express Mail Express
19038 Avadh Express Mail Express
19039 Avadh Express Mail Express
19040 Avadh Express Mail Express
64153 CNB-ETW MEMU MEMU
64156 ETW-CNB MEMU MEMU
64161 PHD-SKB MEMU MEMU
64162 PHD-CNB MEMU MEMU
64587 CNB-TDL MEMU MEMU
64588 TDL-CNB MEMU MEMU
64590 PHD-CNB MEMU MEMU
64159 CNB-PHD MEMU MEMU
64589 CNB-PHD MEMU MEMU
64164 SKB-PHD MEMU MEMU

रोड[संपादित करें]

नगर सुचारू रूप से सड़कों से जुड़ा हुआ है। यह आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, इटावा, कन्नौज, हरदोई, शाहजहाँपुर जैसे बड़े शहरों से बस नेटवर्क से जुड़ा हुआ है। यह राज्य राजमार्ग 21 पर स्थित है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग 19 (इससे पहले, राष्ट्रीय राजमार्ग 2) से लगभग 25 किमी दूर है। इसके अलावा यह कन्नौज (दूरी 60 किमी) से जुड़ा है, जो ऐतिहासिक ग्रांड ट्रंक रोड पर स्थित है।

सामान्य तथ्य[संपादित करें]

  • स्थानीय बस डिपो: कोई भी नहीं
  • निकटतम बस डिपो: औरैया (दूरी 22 किलोमीटर)
  • मुख्य राजमार्ग: राज्य राजमार्ग 21
  • निकटतम राष्ट्रीय राजमार्ग: राष्ट्रीय राजमार्ग 19 (इससे पहले, राष्ट्रीय राजमार्ग 2)

अन्य शहरों से दूरी[संपादित करें]

स्थान दूरी (km में)
कन्नौज 64.2
इटावा 70.3 (via NH-19)
कानपुर 100 (via SH 68 और NH 34),

112.5 (via NH 19) एवं 128.9 (via NH 27)

झाँसी 223.8 (via NH 27) और

219.7 (via MP SH 19)

औरैया 20.4
मैनपुरी 95.7 (via MDR 134W और मैनपुरी - किशनी मार्ग)
आगरा 186.5 (via NH19 और आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे)
फ़िरोज़ाबाद 146.7 (via NH19)
लखनऊ 200.1 (via NH19 और कानपुर-लखनऊ मार्ग)

वायु[संपादित करें]

चकेरी हवाई अड्डा कानपुर में स्थित यहाँ का निकटतम हवाई अड्डा है। नगर से इसकी दूरी लगभग 127 किमी है। यहां से दिल्ली और कोलकाता आदि शहरों के लिए उड़ानें उपलब्ध है।

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

वर्ग कुल पुरूष महिला
कुल 27,237 14,323 12,914
बच्चे 3,135 1,689 1,446
साक्षरता 90.3% 82.8% 76.8%
अनुसूचित जाति 4,915 2,604 2,311
अनुसूचित जनजाति 1 0 1
निरक्षर 5,463 2,464 2,999
कर्मी 25.6 % 44.1 % 5.1 %
गैर-श्रमिक 74.4 % 55.9 % 94.9 %
स्त्रोत: censusindia.co.in

धार्मिक जनसांख्यिकी[संपादित करें]

दिबियापुर में धार्मिक जनसांख्यिकी
धर्म प्रतिशत
हिन्दू
  
91.78%
मुसलमान
  
7.77%
ईसाई
  
0.11%
सिख
  
0.02%
बुद्ध
  
0.04%
जैन
  
0.28%
अन्य
  
0.00%
नहीं बताया
  
0.01%


कार्मिक जनसांख्यिकी[संपादित करें]

दिबियापुर में कार्मिक जनसंख्या
प्रकार प्रतिशत
कर्मी
  
25.6%
गैर-श्रमिक
  
74.4%
कामकाजी हालत का प्रकार(कार्मिक जनसंख्या में)
कार्य का प्रकार प्रतिशत
मुख्य कर्मी
  
23.1%
उपेक्षित कर्मी
  
2.5%

भाषा[संपादित करें]

  • नगर में आमतौर पर हिन्दी भाषा बोली जाती है।हिंदी में लोग आपस में बातचीत करते हैं।यहाँ पर ब्रज बोली युक्त प्रचलित है।उनमे से बहुत से शब्द कनपुरिया बोली से भी मेल खाते है।
  • दूसरे प्रदेशों से आए लोग स्वतंत्र रूप से अपनी भाषा का प्रयोग करते हैं।
  • अंग्रेजी भाषा भी युवाओं के द्वारा प्रयोग की जाती है।

शिक्षा[संपादित करें]

दिबियापुर कानपुर-आगरा क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण शैक्षणिक शहर है। शिक्षा क्षेत्र में, नगर लोकप्रिय है क्योंकि इस नगर में शिक्षार्थियों को उच्च उत्पादकता प्राप्त करने के लिए तथा ज्ञान को बढ़ावा देने के लिए अच्छी गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान की जाती है।

प्रमुख विद्यालय एवं कॉलेज[संपादित करें]

CBSE मान्यताप्राप्त विद्यालय[संपादित करें]

  • सेंट जोसेफ सीनियर सेकण्डरी स्कूल[1]
  • गेल डी.ए.वी पब्लिक स्कूल[2]
  • केंद्रीय विद्यालय
  • पी.बी.आर.पी. एकडेमी
  • सेंट विवेकानंद पब्लिक स्कूल

प्रमुख राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(यू.पी. बोर्ड) एवं BHSE मान्यताप्राप्त विद्यालय और कॉलेज[संपादित करें]

  • गायत्री पब्लिक इंटर कॉलेज
  • राजकीय बालिका इंटर कॉलेज
  • सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज[3]
  • वैदिक टेक्निकल इंटर कॉलेज
  • वैदिक इंटर कॉलेज
  • सेंट साँई नाथ इंटर कॉलेज
  • स्वामी प्रेम शिवानंद इंटर कॉलेज

अन्य प्रसिद्ध विद्यालय एवं कॉलेज[संपादित करें]

  • राजरानी स्मारक महाविद्यालय
  • विवेकानंद ग्रामोद्योग महाविद्यालय[1]
  • गेल डी.ए.वी. मॉडल स्कूल[2]
  • संजोस एकडेमी
  • ग्रीन वैली पब्लिक स्कूल
  • सरस्वती शिशु मंदिर
  • श्री गोपाल इण्टर कॉलेज

प्रमुख कोचिंग संस्थान[संपादित करें]

  • बंसल क्लासेज प्राइवेट लिमिटेड (स्टडी सेंटर-GAIL Pata) [4]
  • स्पेक्ट्रम एकडेमी
  • टारगेट कोचिंग
  • R.D.कोचिंग
  • लक्ष्य स्टडी सर्कल

संस्कृति[संपादित करें]

नृत्य और संगीत[संपादित करें]

पश्चिमी यू.पी. में प्रचलित लोक संगीत की लोकप्रिय किस्में जैसे अल्लाह, फाग, कजरी और रसिया आदि इस नगर में भी लोकप्रिय हैं, और हर वर्ष अलग-अलग समय पर गाए जाते हैं।नगर के बाहरी इलाकों में ढोल, उंचरी और लांगडीया के नाम से जाने वाले लोक गीत बहुत ही सामान्य हैं। नगर के निवासियों द्वारा संगीत वाद्ययंत्र की उपलब्धि के लिए कोरस में भजन, कीर्तन बहुत पसंद आते है।

लोक संगीत की ग्रामीण शैली और केंद्रीय विषय के साथ नृत्य के संयोजन में कई खुले प्रदर्शन, नगरवासियों के जीवन की एक नियमित विशेषता हैं। बंजशा नामक नृत्य नगरवासियों के लिए लोकप्रिय नृत्यों में से एक है। पौराणिक कथाओं के आधार पर रासलीला,नौटंकी और नाटक का अक्सर मंचन किया जाता है।

त्योहार और मेले[संपादित करें]

दीपावली और जन्माष्टमी नगर में लोकप्रिय त्यौहार हैं। अन्य त्योहार विजयादशमी, मकर संक्रांति, वसंत पंचमी, आयुध पूजा, तीज,छठ पूजा, देवछठ,रामनवमी, महा शिवरात्रि, हनुमान जयंती और ईद हैं। नगर का ज़िक्र हो और होली की बात ही न कि जाए तो अधूरा है।यहाँ की प्रसिद्ध "कपड़ाफाड़" होली दुल्हेंदी के अवसर को देखने को मिलती है।साथ ही साथ यहाँ पर रंगों की होली और होलिका दहन का पर्व भी मनाया जाता है।होली का त्योहार आठ दिनों तक मनाया जाता है।

भोजन[संपादित करें]

नगर में एक सामान्यतः दिन-प्रतिदिन पारंपरिक शाकाहारी भोजन का सेवन किया जाता है, जैसे पश्चिम उत्तर प्रदेशी थाली में रोटी (फ्लैटब्रेड), चावल, दाल, सबजी, रायता और पापद होते हैं। कई लोग अभी भी भोजन के साथ पारंपरिक पेय चाट खाते हैं। उत्सव के अवसरों पर आम तौर पर 'तवा' (रोटी के लिए फ्लैट पैन) को अशुभ माना जाता है, और इसके बजाय तला हुआ भोजन खाया जाता है। एक विशिष्ट उत्सव थाली में पूड़ी, कचौड़ी, सब्जी, पुलाव, पापड़, राइस, सलाद और डेसर्ट (जैसे सेवाई या खियर) होते हैं। गेहूं से लोग मुख्य भोजन बनाते हैं। यहाँ पर आम तौर पर मक्का, जौ, ग्राम और ज्वार जैसे खाद्यान्नों का सेवन किया जाता है। गेहूं व मकई के आटे से तैयार रोटियाँ आम तौर पर दाल दूध से बनी खीर से खाई जाती हैं। यहां खाई जाने वाली दालें उड़द, अरहर, मूंग, चना, मसूर आदि हैं। मिठाई एक महत्वपूर्ण उत्सवी आहार हैं और सामाजिक समारोहों में खाई जाती है। लोग दूध से बने उत्पादों से विशिष्ट मिठाई बनाते हैं, जिनमें मिल्क केक, पेड़ा, गुलाबजामुन, पेठा, जलेबी, मक्खन मलाई, सोनपापड़ी और चमचम शामिल हैं। समोसा, गोलगप्पे, चाट और पान पूरे स्वाद और सामग्री के लिए पूरे क्षेत्र में प्रसिद्ध हो रहे हैं।


पहनावा एवं वस्त्र[संपादित करें]

दिबियापुर के लोग रंगीन और अलग-अलग प्रकार के वस्त्र पहनते हैं। साड़ी सभी संप्रदायों में महिलाओं की सबसे पसंदीदा पोशाक है, हालांकि सलवार कमीज़ संयोजन में महिलाओं को आम तौर पर मुलाकात के दौरान देखा जाता है। गाँव के लोग कुर्ता, लुंगी, धोती और पजामा जैसे पारंपरिक वस्त्र पहनते हैं। 'नेहरु जैकेट' के रूप में जाने वाले कोलरलेस खादी जैकेट भी लोकप्रिय हैं। मुस्लिम महिलाएं परंपरागत 'बुर्का' पहनती हैं और पुरुष अपने सिर पर गोल टोपी पहनते हैं।

उद्योग[संपादित करें]

दिबियापुर औरैया जिले में एक उल्लेखनीय औद्योगिक शहर है, जहाँ भारत के अग्रणी सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के प्रतिष्ठान हैं।

प्रमुख सार्वजनिक प्रतिष्ठान[संपादित करें]

  • GAIL (India) Limited[5]
  • NTPC Limited
  • UPSIDC (प्रस्तावित)

प्रमुख प्लांट[संपादित करें]

  • एनटीपीसी लिमिटेड का साइकिल पावर प्लांट।[6] (पहले राष्ट्रीय थर्मल पावर कॉरपोरेशन)
  • पेट्रोकेमिकल संयंत्र
  • गेल का गैस कंप्रेसर स्टेशन [7]
  • प्लास्टिक सिटी (प्रस्तावित)

नवीन टाउनशिप[संपादित करें]

गेल विहार
CISF अधिकारियों के लिए आवासीय स्थल
  • यहाँ स्थापित पेट्रोकेमिकल प्लांट ने हजारों कर्मचारियों को रोजगार दिया है और गेल गांव में विशेष रूप से गेल के कर्मचारियों एक छोटे से अच्छी सुविधाओं वाले विशेष गाँव में रहते हैं।
  • गेल ने गेल गांव अपने गैस संयंत्र के पास एक कंप्रेसर स्टेशन की स्थापना की है जिसमे गेल की एक और आवासीय सोसायटी गेल विहार की स्थापना की गयी है। गेल के रूप में, गेल कंप्रेसर स्टेशन में काम कर रहे गेल कर्मचारियों के लिए एक छोटी, अच्छी तरह से सुविधाजनक कॉलोनी गेल विहार है।
  • एनटीपीसी के कर्मचारियों के लिए एक आवासीय टाउनशिप भी बनाया गया है।
  • शहर में मुख्य सड़क पर ककराही बाजार और भगवतीगंज नाम से बड़े बाजार है।
  • अनेक शहरों से सड़क द्वारा जुड़ाव एवं मार्गों की कम चौड़ाई के कारण शहर के मध्य से गुजरने वाले लोअर गंगा कैनाल के सेतु और सहायल रोड तिराहा पर भीषण जाम की समस्या आये दिन बनी रहती है।

मीडिया[संपादित करें]

नगर से कई अखबार और पत्रिकाएँ हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू में प्रकाशित की जाती हैं। अमर उजाला, और दैनिक जागरण के पास एक बहुत व्यापक परिसंचरण है, जिसमें कई महत्वपूर्ण शहरों से प्रकाशित स्थानीय संस्करण हैं। प्रमुख अंग्रेजी भाषा के अखबार जो यहाँ बेचे जाते हैं वे टाइम्स ऑफ इंडिया, हिंदुस्तान टाइम्स और द हिंदू हैं। बहुप्रणाली केबल ऑपरेटरों के जरिए हिंदी, अंग्रेजी, बंगाली, नेपाली और अंतरराष्ट्रीय चैनलों का एक मिश्रण प्रदान किया जाता हैं। सेल फोन प्रदाताओं में वोडाफोन, एयरटेल, बीएसएनएल, रिलायंस कम्युनिकेशंस, यूनिनॉर, एयरसेल, टाटा इंडिकॉम, आइडिया सेल्युलर और टाटा डोकोमो शामिल हैं।

यह भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "सेंट जोसेफ सीनियर सेकण्डरी स्कूल". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)
  2. "GAIL D.A.V.Public School". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)
  3. "सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)
  4. "Study Centers of Bansal Classes Private Limited". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)
  5. "Gail Pata". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)
  6. "NTPC Auraiya". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)
  7. "Gail Pata". |first1= missing |last1= in Authors list (मदद)