दन्तीय चकत्ता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दन्तीय चकत्ता
अत्यधिक चकत्ते से ग्रसित दाँत

दन्तीय चकत्ता या दन्तीय प्लाक (Dental plaque) दांतों की सतह पर बनी एक जैवफिल्म या जीवाणुओं का जमाव है जो मुंह के अन्दर सतह पर बढ़ता है। आरम्भ में यह रंगहीन और चिपचिपा होता है किन्तु जब यह टारटर (दाँत की मैल) का रूप धारण कर लेता है तब इसका रंग भूरा या हल्का पीला होता है। दन्तीय चकत्ते प्रायः दाँतों के बीच में, दाँतों के सामने के सतह पर, दाँतों के पीछे, चबाने वाले सतहों पर, मसूड़ों की रेखा से लगे हुए होता है। जीवाणु-चकत्ता, दन्त-क्षरण तथा मसूड़ों के रोगों का एक प्रमुख कारण हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]