दंदरौआ मंदिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के मुख्यालय से करीब 70 किलोमीटर दूर , और भिण्ड जिले मे स्थापित दंदरौआ मंदिर पूरे देश मे विख्यात है। यहाँ हनुमान जी को डॉ हनुमान के नाम से जाना जाता है। यहाँ देश विदेश के हज़ारों भक्त रोज़ दर्शन के लिए आते हैं। ऐसी मान्यता है कि डॉ हनुमान उनके सभी असाध्य रोगों का सटीक इलाज करते हैं। यहाँ पर हर मंगलवार भंडारा होता है।

नृत्य की मुद्रा में है हनुमान जी की मूर्ति

दंदरौआ धाम में स्थापित हनुमान जी की मूर्ति नृत्य मुद्रा में है जो पूरे भारत देश मे कहीं नही है।

मूर्ति का इतिहास

दंदरौआ मंदिर के महंत रामदास महाराज के अनुसार प्रभु की यह मूर्ति ३०० वर्ष पुरानी है और यह दिव्य मूर्ति एक तालाब में मिली थी। जिसे मिते बाबा नाम के एक संत ने यहां मन्दिर में स्थापित करवाया। तब से मूर्ति की पूजा अर्चना शुरू हो गयी।

"दर्द हरौआ" से पड़ा "दंदरौआ"

ऐसी मान्यता है कि दंदरौआ सरकार हनुमान जी श्रद्धालुओं के रोग और दर्द दूर करते है , इसलिए पहले उन्हें दर्द हरौआ कहा जाने लगा जो कि अपभ्रंश होकर दंदरौआ हो गया।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]