त्वष्ट्र पैटरे

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बृहस्पति ग्रह के आयो चंद्रमा पर विस्फोट होता त्वष्ट्र ज्वालामुखीय क्षेत्र, जिसका नाम त्वष्ट्र देवता पर रखा गया है

त्वष्ट्र पैटरे, जिसे त्वश्तर पैटरे (Tvashtar Paterae) भी उच्चारित करते हैं, बृहस्पति ग्रह के चंद्रमा आयो पर स्थित एक ज्वालामुखीय क्षेत्र है। यह उस चंद्रमा के उत्तरी ध्रुव के पास स्थित है और इसमें ज्वालामुखीय क्रेटरों की एक शृंखला मौजूद है। इसका नाम त्वष्ट्र नामक हिन्दू ऋग्वैदिक देवता पर रखा गया है जो लोहारों के अधिदेवता माने जाते हैं। गैलिलेयो (अंतरिक्ष यान) ने कई सालों तक इस क्षेत्र का अध्ययन किया था जिस दौरान यहाँ एक स्थल से एक २५ किलोमीटर चौड़ी दरार से लावा फटा जो सतह से १ से २ किमी की ऊँचाई तक पहुँच गया। देखने में यह एक २५ किमी चौड़े और १-२ किमी ऊँचे परदे जैसा लगा। कुछ समय बाद यहाँ एक गैस का फ़व्वारा फटा जो सतह से ३८५ किमी की ऊँचाई तक पहुँच गया और जिसकी सामग्री विस्फोट स्थल से ७०० किमी दूर तक के स्थानों को ढक गई।[1]

विस्फोट चित्र[संपादित करें]

गैलिलेयो (अंतरिक्ष यान) द्वारा लिये दो चित्र - बाई तस्वीर के बीच में हुए लावा विस्फोट से उतपन्न रोशनी इतनी तीख़ी थी की यान के कैमरा उन्हें ठीक रंग में उतार ना पाए और वे श्वेत धब्बे नज़र आ रहें हैं - यह एक लावा के परदे के रूप में सतह से फटकर निकला

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]