त्रिपुरा आदिवासी क्षेत्र स्वशासी जिला परिषद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
त्रिपुरा आदिवासी क्षेत्र स्वशासी जिला परिषद ᱛᱨᱤᱯᱩᱨᱟ ᱟᱹᱫᱤᱵᱟᱹᱥᱤ ᱴᱷᱟᱶ
কোকচাপ নোক
कोकचाप नोक
प्रकार
प्रकार
स्वशासित जिला परिषद of the त्रिपुरा आदिवासी क्षेत्र
नेतृत्व
अध्यक्ष
प्रमुख कार्यकारी अधिकारी
सीटें 30 ज़िला पार्षद
चुनाव
28 एकाधिक मतदान पद्यति
2 राज्यपाल द्वारा नामांकित
बैठक स्थान
Kaunsil Nok.gif
मुख्यालय, खुमुलुङ
वेबसाइट
http://ttaadc.gov.in/

त्रिपुरा आदिवासी क्षेत्र स्वशासी जिला परिषद(टीटीएएडीसी), त्रिपुरा राज्य के त्रिपुरी बहुल इलाकों को प्रशशित करने वाला स्वशासित निकाय है। इसकी सभा व परिषद्, अगरतला से २६ किमी दूर खुमुलुङ नमक नगर में है।

स्थापना[संपादित करें]

संसद द्वारा, त्रिपुरा आदिवासी क्षेत्र स्वशासी जिला परिषद अधिनियम को, स्थानीय त्रिपुरी जनजातियों द्वारा किये गए अनेकों, लोकतान्त्रिक शासन स्थापित करने की मांग के लिए आंदोलन किये जाने के बाद, वर्ष १९७९ में संविधान की ६ठी अनुसूची में दिए गए प्रावधानों के अन्तर्गत पारित किया गया था। एक स्वशासित ज़िला परिषद् स्थापित करने के पीछे मूल लक्ष्य स्थानीय आदिवासी जनों को स्वसं शासन करने हेतु शसक्त करना, यहाँ के समाज के पिछड़े लोगों का चौतरफा विकास, तथा स्थानीय, सभ्यता, संस्कृति व परंपराओं का संरक्षण था। बहरहाल, १९७९ में पारित अधिनियम के अन्तर्गत, इस परिषद् की स्थापना १८ जनवरी १९८२ में हुआ, तथा, तत्पश्चात, ६ठी अनुसूची के प्रावधानों के अनुसार, एवं संविधान के ४९वें संशोधन द्वारा, १ अप्रील १९८५ को इसका उन्नयन किया गया।

क्षेत्रफल व जनसांख्यिकी[संपादित करें]

टीटीएएडीसी का कुल क्षेत्रफल ७,१३२.५६ वर्ग-किमी है। जोकी त्रिपुरा राज्य के कुल क्षेत्रफल (१०,४९१ वर्ग किमी) का लगभग 68% है।

ज़िला परिषद् के अंतर्गत लगभग ७०% भूमि, पहाड़ी वनों से ढंका है। जबकि सभी सादा खेती योग्य भूमि (सभी जिलों और उप-विभागीय मुख्यालयों सहित) टीटीएएडीसी के दायरे से बाहर हैं।

राज्य की ३६,७३,९१७ की कुल आबादी में (२०११ की जनगणना के अनुसार) अनुसूचित जनजाति की कुल जनसंख्या ८,५३,९२० (३०.९५%) है। इनमें से ६,७९,७२० (७९.५९%) जनसंख्या टीटीएएडीसी क्षेत्र के भीतर है।

२००१ की जनगणना के अनुसार त्रिपुरा की कुल आबादी ३१,९१,१६८ थी।

प्रशासन[संपादित करें]

परिषद्[संपादित करें]

टीटीएएडीसी को एक परिषद द्वारा संचालित किया जाता है जिसमें ३० सदस्य हैं। ३० सदस्यों में से, २८ सदस्यों को वयस्क मताधिकार के जरिये चुना जाता है जबकि त्रिपुरा के राज्यपाल द्वारा २ सदस्यों को नामित किया जाता है। २८ निर्वाचित सीटों में से २५ अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित हैं।

कार्यकारी समिति[संपादित करें]

टीटीएएडीसी के पास एक नियमित प्रशासनिक संरचना है। कार्यकारी समिति ९+१=१० सदस्यों से बना है और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) प्रशासन का प्रमुख है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • "त्रिपुरा आदिवासी क्षेत्र स्वशासी जिला परिषद (en)". मूल से 3 September 2011 को पुरालेखित.
  • Tiprasa.com