त्रिपुरान्तकेश्वर मन्दिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
श्री त्रिपुरान्तकेश्वर महादेव मन्दिर का प्रवेश द्वार

त्रिपुरान्तकेश्वर मन्दिर भारत के कर्नाटक राज्य का एक सुप्रसिद्ध देवालय है। भगवान त्रिपुरान्तक (शिव) को समर्पित यह मन्दिर शिवमोग्गा जिले के बल्लिगावी गाँव में स्थित है। इस प्राचीन मन्दिर का निर्माण सन् १०७० में पश्चिमी चालुक्य वंश के राजाओं ने कराया था। [1] वर्त्तमान काल में यह मन्दिर जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है। मन्दिर की बाहरी दीवारों पर दुर्लभ कामुक मूर्तियाँ हैं। आकर में अत्यन्त लघु होने के कारण इन मूर्तियों को केवल पास से देखा जा सकता है।[2]

मन्दिर में कई अन्य प्रतिमाएँ भी हैं, जैसे की नाग, ब्रह्मा, शिव, विष्णु, होयसल राजा आदि।[2] परिसर में एक अत्यन्त दुर्लभ स्तम्भ है, जिसमें दो सिर वाले गज-भक्षक पक्षी "गंड भेरुण्ड" को दर्शया गया है। इस स्तम्भ का निर्माण बनवासी के कदम्बवंशीय राजा श्री चामुण्डाराय द्वारा कराया गया था। कहा जाता है कि खेतों को नष्ट करने वाले हाथियों को डराकर भगाना इस स्तम्भ का उद्देश्य था।[2]

बल्लिगावी स्थित श्री त्रिपुरान्तकेश्वर महादेव मन्दिर की कामुक प्रतिमाएँ

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Kamat J. "Temples of Karnataka". Timeless Theater - Karnataka. Kamat's Potpourri. अभिगमन तिथि 2008-05-14.
  2. Cousens, Henry (1996) [1926]. The Chalukyan Architecture of Kanarese Districts. नई दिल्ली: Archaeological Survey of India. पपृ॰ 106–146. OCLC 37526233.