तोकेलाऊ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
टोकेलाऊ
ध्वज
राष्ट्रवाक्य: "Tokelau mo te Atua" (language?)
(हिन्दी: "ईश्वर के लिए टोकेलाऊ")
टोकेलाऊ के सभी द्वीपों का नक्शा। स्वेन्ज़ आइलैंड को दक्षिण में दिखाया गया है।
टोकेलाऊ के सभी द्वीपों का नक्शा। स्वेन्ज़ आइलैंड को दक्षिण में दिखाया गया है।
राजधानीकोई नहीं[a]
सबसे बड़ा नगर अटाफू
राजभाषा(एँ)
निवासी टोकेलाउअन भाषा
सरकार संवैधानिक राजशाही के अंतर्गत एक डिवॉल्व्ड संसदीय आश्रित क्षेत्र
 -  सामाग्री एलिजाबेथ द्वितीय
 -  प्रशासक रॉस आडर्न
 -  उलू-ओ-टोकेलाऊ कैरिसियानो कालोलो[2]
विधान मण्डल जनरल फोनो
क्षेत्रफल
 -  कुल १० km2
 -  जल (%) नगण्य
जनसंख्या
 -  २०१६ जनगणना १,४९९[3] (२३७वां)
 -  घनत्व ११५/km2 (८६वां)
सकल घरेलू उत्पाद (पीपीपी) २०१७ प्राक्कलन
 -  कुल १० मिलियन यूएस डॉलर[4]
 -  प्रति व्यक्ति ६,२७५ यूएस डॉलर (गैर श्रेणीबद्ध)
मुद्रा न्यूज़ीलैण्ड डॉलर (NZ$) (NZD)
समय मण्डल (यू॰टी॰सी॰+१३:००)
दिनांक प्रारूप dd/mm/yyyy
यातायात चालन दिशा बाएं
दूरभाष कूट +६९०
इंटरनेट टीएलडी .tk

टोकेलाऊ (पूर्व नाम यूनियन आइलैंड्स, तथा १९७६ तक आधिकारिक तौर पर टोकेलाऊ आइलैंड्स)[5] न्यूजीलैंड का एक आश्रित क्षेत्र है।[6] दक्षिणी प्रशांत महासागर में कुल १० वर्ग किमी (४ वर्ग मील) क्षेत्रफल में फैले इस द्वीप समूह में तीन उष्णकटिबंधीय कोरल प्रवालद्वीप - एटाफू, नुकूनोनू और फकोफो शामिल हैं, और इसकी राजधानी प्रतिवर्ष इन तीनों प्रवालद्वीपों के बीच बदलती रहती है।[7] टोकेलाऊ समोआ द्वीपों के उत्तर में, तुवालू के पूर्व में, फीनिक्स द्वीपसमूह के दक्षिण में, लाइन द्वीपसमूह के दक्षिण-पश्चिम में और कुक द्वीपसमूह के उत्तर-पश्चिम में स्थित है। स्वेन्ज़ द्वीप भी भौगोलिक रूप से टोकेलाऊ का हिस्सा है, लेकिन वर्तमान में एक क्षेत्रीय विवाद के अधीन है और संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा अमेरिकी समोआ के हिस्से के रूप में प्रशासित किया जाता है।

टोकेलाऊ की जनसंख्या लगभग १,५०० है, जो किसी भी संप्रभु राज्य या अधीन क्षेत्र में चौथी न्यूनतम जनसंख्या है। २०१६ की जनगणना के अनुसार, लगभग ४५% निवासियों का जन्म विदेशों में हुआ था, विशेषकर समोआ तथा न्यूजीलैंड में।[8] यहाँ की जीवन प्रत्याशा ६९ है, जो अन्य ओशियान द्वीप देशों के समतुल्य है। लगभग ९४% आबादी टोकेलाउअन भाषा को पहली भाषा के रूप में बोलती है। टोकेलाऊ की दुनिया की सबसे छोटी अर्थव्यवस्था है, हालांकि यह अक्षय ऊर्जा में अग्रणी है, और दुनिया का पहला १००% सौर ऊर्जा संचालित क्षेत्र है।[9]

टोकेलाऊ को आधिकारिक तौर पर न्यूजीलैंड सरकार और टोकेलाऊ की सरकार, दोनों द्वारा राष्ट्र माना जाता है।[9][10][11] यह एक स्वतंत्र और लोकतांत्रिक राष्ट्र है, जहाँ हर तीन साल में चुनाव होता है। हालांकि, २००७ में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने टोकेलाऊ को गैर-स्वशासित क्षेत्रों की अपनी सूची में शामिल किया। सूची में इसका समावेश विवादास्पद है, क्योंकि टोकेलाऊ के लोगों ने दो बार आगे के आत्मनिर्णय के खिलाफ मतदान किया है और द्वीपों की छोटी आबादी स्व-शासन की व्यवहार्यता को कम करती है।[12] टोकेलाऊ की विधायी, प्रशासनिक और न्यायिक प्रणाली का आधार टोकेलाऊ द्वीप समूह अधिनियम १९४८ है, जिसे कई अवसरों पर संशोधित किया गया है। १९९३ के बाद से, इस क्षेत्र ने सालाना अपनी सरकार के प्रमुख, उलू-ओ-टोकेलाऊ को चुना है। इससे पहले टोकेलाऊ का प्रशासक ही सरकार में सर्वोच्च अधिकारी हुआ करता था, और इस क्षेत्र का प्रशासन सीधे न्यूजीलैंड सरकार के एक विभाग द्वारा किया जाता था।

नामकरण[संपादित करें]

टोकेलाऊ नाम एक पॉलिनेशियन शब्द है, जिसका अर्थ है "उत्तरी हवा"। अज्ञात समय में यूरोपीय खोजकर्ताओं द्वारा इन द्वीपों का नाम यूनियन आइलैंड्स और यूनियन ग्रुप रखा गया था।[13] टोकेलाऊ आइलैंड्स नाम को १९४६ में आधिकारिक नाम के रूप में अपनाया गया था, और फिर ९ दिसंबर १९७६ को इसे छोटा कर सिर्फ 'टोकेलाऊ' कर दिया गया था।

इतिहास[संपादित करें]

प्राचीन इतिहास[संपादित करें]

पुरातात्विक साक्ष्य इंगित करते हैं कि टोकेलाऊ - अताफू, नुकूनोनू और फाकोफो के प्रवालद्वीपों में लोग लगभग १,००० साल पहले बसे थे और पूर्वी पोलिनेशिया में "नेक्सस" हो सकते थे।[14] इन लोगों द्वारा पॉलिनेशियन पौराणिक कथाओं का पालन किया जाता था, और ये स्थानीय देवता टुई टोकेलाऊ की पूजा करते थे।[15] स्थानीय संगीत और कला के विकास में भी इन्हीं लोगों की महत्वपूर्ण भूमिका रही। सामाजिक और भाषाई सामंजस्य बनाए रखते हुए तीनों प्रवालद्वीपों ने स्वतंत्र रूप से कार्य किया। टोकेलाऊ समाज मुख्य रूप से कुलों द्वारा शासित था, और कभी-कभी प्रवालद्वीपों के बीच झड़पों और युद्धों के साथ-साथ अंतर-विवाह भी होते थे। "मुख्य रूप से द्वीप",[16] फकोफो, ने अताफू के फैलाव के बाद अताफू और नौकुन्नो पर कुछ प्रभुत्व रखा। मछली और नारियल पर निर्भरता के साथ, प्रवालद्वीपों का जीवन निर्वाह-आधारित था।[17]

अन्य संस्कृतियों के साथ संपर्क[संपादित करें]

कमोडोर जॉन बायरन ने २४ जून १७६५ को अताफू की खोज की और इसे "ड्यूक ऑफ यॉर्क आइलैंड" का नाम दिया। तट के लोगों ने बताया कि द्वीप में वर्तमान या पिछले निवासियों के कोई संकेत नहीं थे।[18][19] बायरन की खोज के बारे में जानने के बाद कैप्टन एडवर्ड एडवर्ड्स ने ६ जून १७९१ को बाउंटी म्यूटिनरों की तलाश में अताफू का दौरा किया। कोई स्थायी निवासी नहीं थे, लेकिन घरों में कैनोज़ और मछली पकड़ने के गियर थे, जिससे कयास लगाए गए कि द्वीप का उपयोग मछली पकड़ने वाले दलों द्वारा अस्थायी निवास के रूप में किया गया था।[19] १२ जून १७९१ को, एडवर्ड्स दक्षिण की ओर रवाना हुए और नुकनूनू की खोज की, जिसे उन्होंने "ड्यूक ऑफ़ क्लेरन्स आईलैंड" का नाम दिया।[20] एक लैंडिंग पार्टी लोगों के साथ संपर्क नहीं बना सकी, लेकिन उन्होंने "मोरआईस" को देखा - लोगों को दफनाने वाले स्थानों को, और कैनोयों को "उनके मध्य में चरणों" के साथ लैगून में नौकायन करते देखा।[19]

२९ अक्टूबर १८२५ को यूएस स्ट्रॉन्ग ऑफ यूएसएस डॉल्फिन (१८२१) जहाज के अगस्त आर स्ट्रांग ने नुकुनोनू प्रवालद्वीप में अपने चालक दल के आगमन के बारे में लिखा:

जांच करने पर, हमने पाया कि उन्होंने सभी महिलाओं और बच्चों को बस्ती से हटा दिया था, जो काफी छोटी थी, और उन्हें लैगून में एक चट्टान से दूर पड़ी डोंगी में डाल दिया। वे अक्सर किनारे के पास आते थे, लेकिन जब हम पास आते तो वे बड़े शोर-शराबे के साथ बाहर निकल जाते।[21]

१४ फरवरी १८३५ को यूनाइटेड स्टेट्स के व्हेलर जहाज जनरल जैकसन के कैप्टन स्मिथ ने फकोफो की खोज की, और इसे "डी'वुल्फ्स आइलैंड" नाम दिया।[22][23] २५ जनवरी १८४१ को, संयुक्त राज्य अन्वेषण एक्सपेडिशन ने अताफू का दौरा किया और द्वीप पर रहने वाली एक छोटी आबादी की खोज की। निवासी उन्हें अस्थायी लगे; एक प्रमुख की कमी और दोहरी डोंगियों का होना (जो कि अंतर-द्वीप यात्रा के लिए उपयोग की जाती हैं) इस बात का सबूत माना गया था। वे नीले मोतियों और एक लोहे के टुकड़े के वस्तु-विनिमय के इच्छुक थे, जो इस बात का संकेतक था कि वे लोग विदेशियों से पहले भी मिल चुके थे। यह अभियान २८ जनवरी १८४१ को नुनकुनू पहुंचा, लेकिन निवासियों के बारे में कोई जानकारी दर्ज नहीं की। २९ जनवरी १८४१ को, अभियान ने फकोफो की खोज की और इसे "बोडिच" नाम दिया।[24] यहाँ के निवासी भी दिखावट और प्रकृति में अताफू के लोगों के समान ही पाए गए।[25]

१८५६ और १९७९ के बीच, संयुक्त राज्य अमेरिका ने दावा किया कि उसने मुख्य द्वीप और दूसरे प्रवालद्वीपों पर संप्रभुता कायम कर ली थी। हालाँकि १९७९ में, यू.एस. ने स्वीकार किया कि टोकेलाऊ न्यूजीलैंड की संप्रभुता के अधीन था, और फिर तुकेगा की संधि द्वारा टोकेलाओ और अमेरिकी समोआ के बीच एक समुद्री सीमा स्थापित की गई थी।

भूगोल[संपादित करें]

टोकेलाऊ के अंतर्गत तीन प्रवालद्वीप आते हैं, जो दक्षिण प्रशांत महासागर में १७१°पश्चिम और १७३°पश्चिम के अक्षाशों और और ८°दक्षिण और १०°दक्षिण के देशान्तरों के बीच, हवाई और न्यूजीलैंड के लगभग मध्य में स्थित हैं। उत्तर में अताफू से दक्षिण में फकाफो तक, टोकेलाऊ २०० किमी से कुछ कम क्षेत्र तक फैला हुआ है। यह समोआ के उत्तर में लगभग ५०० किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। अताफू और नुकूनोनु, दोनों प्रवालद्वीपों के समूह को पहले ड्यूक ऑफ क्लेरेंस ग्रुप और फाकाओफो को बोर्डिच द्वीप कहा जाता था। उनका संयुक्त भूमि क्षेत्र १०.८ वर्ग किमी है। प्रवाल द्वीपों में कई कोरल द्वीप स्थित हैं, जहाँ गाँव स्थित हैं। टोकलाऊ का उच्चतम बिंदु समुद्र तल से सिर्फ ५ मीटर ऊपर है। यहाँ बड़े जहाजों के लिए कोई बंदरगाह नहीं हैं, हालांकि, तीनों प्रवालद्वीपों के पास एक जेटी है, जहां से सामान और यात्रियों को भेजा जाता है। टोकेलाऊ प्रशांत उष्णकटिबंधीय चक्रवात बेल्ट में स्थित है। स्वांस द्वीप (ओलोहेगा) नामक एक चौथा द्वीप, जो सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और भौगोलिक रूप से टोकेलाऊ का हिस्सा है, १९०० के बाद से संयुक्त राज्य अमेरिका के नियंत्रण में है और १९२५ के बाद से राजनीतिक रूप से अमेरिकी समोआ के हिस्से के रूप में प्रशासित किया जाता है।

यह भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

टिप्पणियां[संपादित करें]

  1. Each atoll has its own administrative centre.

उद्धरण[संपादित करें]

  1. "Tokelau Info". Tokelau-info.tk. मूल से 26 October 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 December 2011.
  2. "Tokelau still pushing for air services in talks with NZ". Radio New Zealand. 8 March 2018. मूल से 2 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 नवंबर 2019.
  3. (November 2016) Final population counts: 2016 Tokelau Census. Statistics New Zealand, पृ॰ 3. (Report). Retrieved 26 नवंबर 2019.
  4. "Tokelau's Gross Domestic Product determined for first time this century". www.tokelau.org.nz. मूल से 30 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 नवंबर 2019.
  5. Tokelau Amendment Act 1976
  6. "Culture of Tokelau - history, people, clothing, traditions, women, beliefs, food, family, social". www.everyculture.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 3 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2017-02-28. Identification. "Tokelau" means "north-northeast."
  7. "Welcome to sunny Tokelau, an untouched Pacific Paradise". मूल से 11 जनवरी 2010 को पुरालेखित.
  8. "संग्रहीत प्रति" (PDF). मूल से 11 फ़रवरी 2018 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 26 नवंबर 2019.
  9. "Tokelau, world first solar power nation | New Zealand Trade and Enterprise". Nzte.govt.nz. 12 जुलाई 2012. मूल से 21 मई 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 दिसंबर 2016.
  10. "Government of Tokelau". Tokelau.org.nz. मूल से 15 फ़रवरी 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2016-12-11.
  11. "Tokelauans – Te Ara Encyclopedia of New Zealand". Teara.govt.nz. मूल से 26 जनवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2016-12-11.
  12. "Official site for the Tokelau Council of Ongoing Government". मूल से 20 February 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 November 2007.
  13. "Tokelau facts, information, pictures | Encyclopedia.com articles about Tokelau". www.encyclopedia.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2017-11-29.
  14. "Archeology of Atafu, Tokelau: Some Initial Results 2008". मूल से 21 June 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 12 November 2010.
  15. Smith, S. Percy (1920). "Notes on the Ellice and Tokelau Groups; translated from the "Karere Mangaia" 1899". Journal of the Polynesian Society. 29: 144–148.
  16. Fakaofo Archived 16 अक्टूबर 2012 at the वेबैक मशीन.
  17. "Tokelau". New Zealand Ministry of Foreign Affairs and Trade. मूल से 7 अगस्त 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 सितम्बर 2007.
  18. Byron, John; Wallis, John Samuel; Carteret, Philip; Cook, James; Banks, Sir Joseph (1773). An Account of the Voyages Undertaken. W. Strahan. पपृ॰ 132–133.
  19. MacGregor, 30
  20. Sharp, Andrew (1960). The Discovery of the Pacific Islands. Clarendon Press. पृ॰ 164.
  21. The Journal of the South Pacific, 110 (3), p. 296
  22. Polynesian Society (N. Z.) (1961). The Journal of the Polynesian Society. Polynesian Society. पृ॰ 102.
  23. "Information Bulletin on Tokelau". New Zealand Ministry of Foreign Affairs and Trade. मूल से 13 May 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 September 2007.
  24. Nathaniel Bowditch (1773–1838) was an American mathematician remembered for his work on ocean navigation.
  25. Wilkes, Charles (1849). Voyage Round the World. Geo. W. Gorton. पृ॰ 538.

विस्तृत पठन[संपादित करें]