तेजपाल सिंह धामा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
तेजपाल सिंह धामा
Tejpal Dhama.tif
तेजपाल सिंह 'धामा'
जन्म2 जनवरी 1971 (1971-01-02) (आयु 49)
नगर खेकड़ा जिला बागपत, उत्तर प्रदेश, (भारत)
उपनाम'धामा'
व्यवसायअवकाशप्राप्त पत्रकारिता संपादक, स्वतन्त्र लेखन
राष्ट्रीयताभारतीय
विधाकविता, लेख, फिल्म पटकथा लेखन, निबन्ध, शोध एवं ऐतिहासिक उपन्यास
विषयहिन्दी साहित्य, इतिहासराजनीति
उल्लेखनीय कार्यहमारी विरासत, अ​ग्नि की लपटें, गौ का गौरव (ऐतिहासिक शोध) एवं स्वाधीनता संग्राम के क्रान्तिकारी साहित्य का इतिहास
उल्लेखनीय सम्मानसंस्कृति मनीषी सम्मान एवं ब्रेवरी गोल्ड अवार्ड
सन्तानप्रज्ञा आर्य (दत्तक पुत्री)[1]


तेजपाल सिंह धामा (जन्म: 2 जनवरी 1971) पत्रकार[2], हिन्दी के लेखक एवं सामाजिक कार्यकर्ता हैं। 'हमारी विरासत' (शोध-ग्रंथ) उनकी प्रसिद्ध रचना है। इन्हें अनेक साहित्यिक एवं सामाजिक पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं। इन्होंने हैदराबाद से प्रकाशित स्वतंत्र वार्ता एवं दिल्ली से प्रकाशित दैनिक विराट वैभव एवं दैनिक वीर अर्जुन [3] के संपादकीय विभागों में दशकों तक कार्य किया। वे मुख्यतः इतिहास पर लिखने वाले साहित्यकार[4] हैं जिनकी इतिहास से सम्बन्धित अनेकों पुस्तकें छप चुकी हैं। शहीदों पर लिखने के कारण इन्हें 2017 में संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार ने संस्कृति मनीषी पुरस्कार से सम्मानित किया है।

जीवन परिचय[संपादित करें]

तेजपाल सिंह धामा का जन्म उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के खेकड़ा नगर में हुआ था। कई समचार पत्रों में उप संपादक के अलावा तेजपाल सिंह धामा हिन्द पॉकेट बुक्स के वरिष्ठ संपादक[5] भी रहे। विश्व प्रसिद्ध कंपनी पेंगुइन रैंडम हाउस(Penguin Books) में कमिशनिंग एडिटर के रूप में भी अपनी सेवाएं दी।

लेखन[संपादित करें]

अब तक उनके 35 ऐतिहासिक उपन्यास, 5 काव्य संग्रह, 1 महाकाव्य और विविध विषयों की कुछ अन्य पुस्तकें छप चुकी चुकी हैं। उनकी प्रथम काव्य रचना आँधी और तूफान बच्चों के साथ-साथ बड़ों में भी अत्यन्त लोकप्रिय हुई। तत्पश्चात् उन्होंने एक उपन्यास शान्ति मठ लिखा, जो एक सम्पादक को इतना पसन्द आया कि उन्होंने अपने साप्ताहिक पत्र में उसे श्रृंखलाबद्ध प्रकाशित किया।[6]गायत्री कमलेश्वर के अनुरोध पर प्रख्यात लेखक कमलेश्वर की अंतिम एवं अधूरी पुस्तक इन्होंने ही पूरी की,[7]जो हिन्द पाकेट बुक्स[8][9]से 'अंतिम सफर' के नाम से प्रकाशित हुई और बेस्ट सैलर रही। इन्होंने राजस्थान की दस प्रमुख रानियों पर खोजपरक उपन्यासों की एक श्रृंखला भी लिखी है, जिसमें रानी पद्मिनी पर[10]अग्नि की लपटें,[11]रानी कर्मदेवी पर अजेय अग्नि, रानी चंपा पर ठंडी अग्नि इत्यादि हैं। इनकी ये पुस्तकें देशभर खासकर राजस्थान में काफी चर्चित रही हैं। इतिहास पर आधारित कई उपन्यास[12]भी अनेक प्रकाशनों से प्रकाशित हुए हैं। 'हमारी विरासत' के अतिरिक्त पृथ्वीराज चौहान एक पराजित विजेता इनका सर्वाधिक बिकने वाला उपन्यास है। डोमिनीक लापिएर एवं लैरी कॉलिन्स समेत इन्होंने कई चर्चित विदेशी लेखकों की इतिहास से संबद्ध पुस्तकों का हिन्दी अनुवाद भी किया।[13]

फिल्म एवं नाट्य मंचन[संपादित करें]

तेजपाल सिंह धामा फिल्म लेखन एवं नाट्य मंचन के क्षेत्र में भी सक्रिय हैं। जायसी के पदमावत के अलावा[14]इनके उपन्यास अग्नि की लपटो [15][16]के आधार[17]पर[18]ही भंसाली ने अपनी विवादित फिल्म पदमावत् का निर्माण किया है। [19]इन्होंने आरोप लगाया था कि संजय लीला भंसाली ने पद्मावत फिल्म के लिए उनके उपन्यास के लिए कापीराइट लिए हैं, लेकिन अब वे कहानी को काल्पनिक बता रहे हैं,[20][21]जब​कि पद्मिनी इतिहास का हिस्सा हैं। लेकिन फिल्म जब रिलीज हुई थी, तो तब उसमें इनका नाम पर्दे पर दिया[22]गया है।[23]इन्होंने पाकिस्तानी अभिनेत्री वीना मलिक के लिए भी फिल्म का लेखन किया है और जब वे गायब हो गई तो इन्होंने ही खुलासा किया था कि वे गायब नहीं हुई हैं, यह गलत खबर है।[24] दयानंद सरस्वती पर आधारित टीवी सीरियल की वन लाइन स्टोरी, एवं कुछ एपिसोड इन्होंने लिखे थे।[25][26]इन्होंने कई नाटकों का लेखन भी किया, जो देशभर में विभिन्न जगह मंचन किए गए। इनके लिखे एक नाटक ने तो परमार्थ निकेतन में दर्शकों की आंखों में ​आंसू[27]ला दिए थे।[28]इससे पहले श्रीराम सेंटर, दिल्ली में भी इस नाटक का मंचन इन्होंने किया, जिसे इंसानियत का संदेशवाहक बताया गया।[29]इन्होंने उर्दू लेखिका फरहाना ताज[30]की आत्मकथा पर आधारित भी एक बहुचर्चित नाटक[31] लिखा, जिसका देश के विभिन्न शहरों हैदराबाद, तेलंगाना, गुड़गांव, हरियाणा,[32][33][34][35][36]ऋषिकेश, उत्तराखंड,[37][38]श्रीराम सेंटर मंडी हाउस, दिल्ली आदि जगहों पर मंचन हो चुका है। जयपुर अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल (जिफ) 2020[39] में तेजपाल सिंह धामा को सिने जगत की मु​ख्य हस्तियों संग वक्ता के रूप में[40] आमंत्रित[41] किया[42] गया।[43] जिफ की शुरूआत[44] राजस्थान की धरोहर को बयां करती फिल्म चीड़ी बल्ला से हुई। यहां धामा ने कहा कि हॉलीवुड[45] बॉलीवुड फिल्मों से भारतीय संस्कृति की ओर[46][47] आकर्षित[48] हो रहा है। फिल्म से जुड़ी हस्तियों के संग अग्नि की लपटें के लेखक [49] तेजपाल सिंह धामा ने अपने लेखन की सफलता का श्रेय[50] अपनी पत्नी की प्रेरणा को दिया।[51]

समाजोत्थान[संपादित करें]

दुर्व्यसन, अस्पृश्यता, पशु पक्षी हत्या, परावलम्बन और प्रकृति के साथ छेड़छाड़ - ये कुछ ऐसी बुराइयाँ[52]हैं जिनके कारण सम्पूर्ण समाज को आर्थिक, सामाजिक व प्राकृतिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। समाज में व्याप्त इन व्याधियों को जड़ से मिटाने के लिये तेजपाल सिंह ने अच्छी-खासी नौकरी छोड़ कर समाज सेवा को ही अपना मुख्य ध्येय बनाया।[53] कृषि विज्ञान में स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त करने वाले धामा जाति प्रथा के नाम पर फैलाई जा रही कुरीतियों के घोर विरोधी हैं।[54]उन्होंने स्वयं भी अन्तर्जातीय विवाह किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने बच्चों के लिये वैदिक बाल संस्था और युवाओं के लिये युवा विकास परिषद जैसी स्वयंसेवी संस्थाओं की स्थापना की। युवा विकास परिषद् के माध्यम से उन्होंने दुर्व्यसन, पशु पक्षी संरक्षण व अस्पृश्यता मुक्ति जैसे आन्दोलन भी चलाये हैं।[55]

सम्मान[संपादित करें]

  • इम्वा अवार्ड 2016[56]
  • संस्कृति मनीषी सम्मान 2016[57][58][59]
  • वीरांगना लक्ष्मीबाई गौरव सम्मान[60]
  • ‘रेड ऐंड व्हाइट गोल्ड अवॉर्ड’, ‘दीनदयाल उपाध्याय सम्मान’, ‘साहित्यश्री सम्मान’, 'सिंह सपूत' की उपाधि[61], ‘देवगुरु बृहस्पति सम्मान’ सहित इन्हें अनेक सामाजिक एवं साहित्यिक पुरस्कारों से विभूषित किया जा चुका है।[62][63][64][65]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "प्रज्ञा आर्य की पेशी" (PDF). आर्य नीति. आर्य नीति. अभिगमन तिथि 25 नवंबर 2018.
  2. "पत्रकारिता पर धामा के शोध ग्रंथ का ऐतिहासिक खुलासा". hindi.webdunia.com. वेबदुनिया एवं वार्ता न्यूज एजेंसी. मूल से 23 मार्च 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जून 2012.
  3. "वीर अर्जुन के उप संपादक 'धामा' की पुस्तक आडवाणी द्वारा विमोचित". दैनिक वीर अर्जुन. वीर अर्जुन. मूल से 12 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मई 2012.
  4. "क्रांतिकारी इतिहासकार की उपाधि". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 नवंबर 2011.
  5. "संपादक धामा का वक्तव्य". अमर उजाला. अमर उजाला. अभिगमन तिथि 18 फरवरी 2014.
  6. हिन्दी साहित्य का गौरवशाली इतिहास, लेखिका फरहाना ताज,हिंदी साहित्य सदन करोल बाग, नई दिल्ली-5, पृष्ठ 98
  7. "कमलेश्वर की अंतिम अधूरी रचना पूरी की". jivani.org. jivani.org. मूल से 12 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 10 मई 2012.
  8. "हिन्द पाकेट बुक्स के श्रेष्ठ लेखकों की सूची में धामा". avnpost.com. avnpost.com. मूल से 5 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 जुलाई 2018.
  9. "प्रख्यात लेखकों की सूची में धामा". हिन्दुस्तान समाचार एजेंसी. हिन्दुस्तान समाचार एजेंसी. मूल से 7 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 जुलाई 2018.
  10. "अनूप जलोटा ने किया अग्नि की लपटें का विमोचन". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 7 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 25 नवंबर 2011.
  11. "तेजपाल सिंह धामा ने रानी पद्मिनी पर किया शोध". indiagatenews.com. इंडियागेट न्यूज. अभिगमन तिथि 16 नवंबर 2017.
  12. "धामा के उपन्यास भाग्यनगर का कैदी की समीक्षा". dainiktribuneonline.com. दैनिक ट्रिब्यून, चंडीगढ़. मूल से 13 जुलाई 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जून 2010.
  13. "तेजपाल सिंह धामा द्वारा अनुवादित फ्रीडम एट मिडनाइट के हिन्दी अनुवाद की समीक्षा". aajtak.intoday.in. इंडिया टुडे. मूल से 8 अगस्त 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 अगस्त 2014.
  14. "पद्मावत फिल्म की कहानी धामा के उपन्यास पर आधारित". timesnownews.com. टाइम्स नाउ न्यूज, मुंबई. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 जनवरी 2018.
  15. "साजिश के तहत हुआ पद्मावत फिल्म का विरोध". hindi.nyoooz.com. हिन्दी न्यूज देहरादून. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 अप्रैल 2018.
  16. "पद्मावत फिल्म का विरोध एक साजिश". amarujala.com. अमर उजाला देहरादून. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 अप्रैल 2018.
  17. "भंसाली ने खरीदे थे राइट्स". timesnownews.com. timesnownews.com. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 जनवरी 2018.
  18. "'अग्नि की लपटों' से निकली है 'पद्मावती'". jagran.com. दैनिक जागरण. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 अक्तूबर 2017.
  19. "'पद्मावती' के लिए शोध के अधिकार खरीदे". univarta.com. यूनीवार्ता. मूल से 20 दिसंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 नवंबर 2016.
  20. "एक लेखक ने भंसाली पर लगाया आरोप". hindi.news18.com. न्यूज 18. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 दिसंबर 2017.
  21. "फिल्मकार की लेखक से वादाखिलाफी". citykhabre.com. सिटी खबर. अभिगमन तिथि 15 दिसंबर 2017.
  22. "तेजपाल सिंह धामा से साक्षात्कार, सुनीत निगम द्वारा". युगवार्ता, मासिक. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 मार्च 2018.
  23. "भंसाली ने दिया स्पेशल थैंक्स". kollywoodtoday.net. कोलीवुड टूडे, तमिल मासिक. मूल से 28 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2018.
  24. "वीना मलिक मुंबई में : तेजपाल". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 दिसंबर 2011.
  25. "बाबा रामदेव से टीवी सीरियल पर चर्चा". दैनिक जगरण. दैनिक जागरण. मूल से 28 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 जून 2016.
  26. "रामदेव के विद्रोही सन्यासी में राष्ट्रवाद का हठयोग". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 29 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 अक्टूबर 2017.
  27. "नाटक की शानदार प्रस्तुति पर लेखक सम्मानित". दैनिक अमर उजाला. अमर उजाला. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 अप्रैल 2018.
  28. "तेजपाल धामा लिखित नाटक से भावुक हुए साधु संत!". webvarta.com. वेबवार्ता, न्यूज एजेंसी. मूल से 13 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 अप्रैल 2018.
  29. "धामा के नाटक में इंसानियत की मिसाल पेश". vohnews.com. vohnews.com. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 जुलाई 2017.
  30. "फरहाना ताज के जीवन पर फिल्म". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 12 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 25 अप्रैल 2016.
  31. "घर वापसी नाटक का मंचन". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 23 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  32. "नाटक ने दिया वेदों की ओर लौटने का संदेश". dailyhunt.in. dailyhunt.in. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  33. "वेदों की ओर लौटने का संदेश दिया". वेबवार्ता. webvarta.com. मूल से 23 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  34. "नाटक का मंचन". वाइरल सच. www.viralsach.online. मूल से 23 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  35. "एक अद्भुत नाटक". हरियाणा मेल. www.haryanamail.in. अभिगमन तिथि 19 अगस्त 2019.
  36. "सुशांत लोक, हरियाणा में नाटक ने लोगों को किया भावुक". न्यूज अप टू डेट. newsup2date.com. मूल से 23 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 सितंबर 2018.
  37. "ऋषिकेश में नाटक का मंचन". आज का आदित्य. www.aajkaaditya.in. मूल से 23 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 अप्रैल 2018.
  38. "खेकड़ा के साहित्यकार तेजपाल धामा ऋषिकेश में सम्मानित". अमर उजाला. अमर उजाला. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 अप्रैल 2018.
  39. "JAIPUR FILM MARKET BEGIN on 18th JANUARY". www.mindplusnews.com. mindplusnews. अभिगमन तिथि 10 जनवरी 2020.
  40. "तिग्मांशु धूलिया, पीयूष मिश्रा संग तेजपाल जिफ में आमंत्रित". www.patrika.com. राजस्थान पत्रिका. अभिगमन तिथि 10 जनवरी 2020.
  41. "18 से 20 जनवरी को सजेगा जयपुर फिल्म मार्केट,सिनेमा जगत् की... - Sangri Times". www.sangritimes.com. अभिगमन तिथि 2020-06-06.
  42. "जयपुर फिल्म फेस्टिवल में विशिष्ट अतिथि-वक्ता होंगे धामा". m.dailyhunt.in. डेयली हंट. अभिगमन तिथि 16 दिसंबर 2019.
  43. "फिल्म फेस्टिवल में विशिष्ट अतिथि होंगे तेजपाल". www.jagran.co. दैनिक जागरण. अभिगमन तिथि 16 दिसंबर 2019.
  44. "राजस्थान की धरोहर को बयां करती फिल्म चीड़ी बल्ला". www.khaskhabar.com. खास खबर. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2020.
  45. "बॉलीवुड फिल्मों से भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित हो रहा हॉलीवुड : धामा". m.dailyhunt.in. डेयली हंट. अभिगमन तिथि 20 जनवरी 2020.
  46. "बॉलीवुड फिल्मों से भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित हो रहा हॉलीवुड : धामा". hindusthansamachar.in. हिंदुस्तान समाचार एजेंसी. अभिगमन तिथि 20 जनवरी 2020.
  47. "बॉलीवुड फिल्मों से भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित हो रहा हॉलीवुड". www.welcome2udaipur.com. welcome2udaipu. अभिगमन तिथि 20 जनवरी 2020.
  48. "बॉलीवुड फिल्मों से भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित हो रहा हॉलीवुड". epaper.viraatvaibhav.com. दैनिक विराट वैभव. मूल से 30 जून 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जनवरी 2020.
  49. "अभिनेता अखिलेश पांडे ने तेजपाल से भेंट की". jogiexpress.com. जोगी एक्सप्रेस. अभिगमन तिथि 20 जनवरी 2020.
  50. "Accidently I turned out to be Lyricist". mindplusnews.com. mindplusnews.com. अभिगमन तिथि 21 जनवरी 2020.
  51. "पत्नी के लिए लिखी थी अग्नि की लपटें, जिस पर बनी पद्मावत". mindplusnews.com. mindplusnews.com. अभिगमन तिथि 21 जनवरी 2020.
  52. "कुरूतियों से कराया रूबरू". राजस्थान पत्रिका. राजस्थान पत्रिका. अभिगमन तिथि 30 मई 2017.
  53. "सामाजिक कार्यकर्ता तेजपाल सिंह धामा". प्रभात बुक्स. प्रभात बुक्स. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 अगस्त 2012.
  54. साहित्य कोश, भाग-1, लेखक डॉ. रामरतन शर्मा, हिंदी साहित्य सदन करोल बाग, नई दिल्ली-5, १९८६, पृष्ठ 123
  55. तेजपाल सिंह धामा की साहित्य साधना, लेखक अवधेश कुमार चौबे, संस्करण 1986, सागर प्रकाशन, मुकेश नगर, शाहदरा दिल्ली—32, पृष्ठ 135
  56. "तेजपाल को इम्वा अवॉर्ड". www.crimehilore.in. www.crimehilore.in. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 मई 2016.
  57. "साहित्य हमेशा जीवित रहता है : डॉ. महेश शर्मा". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 22 मई 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 मई 2017.
  58. "साहित्यकार तेजपाल को मिला संस्कृति मनीषी सम्मान". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 मई 2017.
  59. "प्रख्यात इतिहासकार 'धामा' को संस्कृति मनीषी सम्मान". www.thearyasamaj.org. www.thearyasamaj.org. अभिगमन तिथि 26 मई 2017.
  60. "साहित्यकार तेजपाल को 'वीरागना लक्ष्मीबाई गौरव सम्मान'". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 7 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 जून 2013.
  61. "खेकड़ा के लाल को अमृतसर में 'सिंह सपूत' उपाधि". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 7 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 जनवरी 2013.
  62. "अनेक सामाजिक एवं साहित्यिक पुरस्कारों से विभूषित". प्रभात बुक्स. प्रभात प्रकाशन. मूल से 4 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 अगस्त 2012.
  63. "उत्कृष्ट लेखन के लिए तेजपाल सिंह धामा सम्मानित". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 25 दिसंबर 2015.
  64. "साहित्यकार तेजपाल धामा का शामली में सम्मान". दैनिक जागरण. दैनिक जागरण. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 दिसंबर 2015.
  65. "साहित्यकार तेजपाल धामा ऋषिकेश में सम्मानित". अमर उजाला. अमर उजाला. मूल से 5 मई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 अप्रैल 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]