ताशक़ुरग़ान​

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(ताशक़ूरग़ान​ से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
ताशक़ुरग़ान​
تاشقورغان بازىرى
塔什库尔干镇
शहर
Tashkurgan Xinjiang.JPG
देशजनवादी गणतंत्र चीन
क्षेत्रशिंजियांग
विभागकाश्गर
ज़िलाताशक़ुरग़ान​
ऊँचाई3094 मी (10,151 फीट)
समय मण्डलचीन मानक समय (यूटीसी+8)

ताशक़ुरग़ान​ (सरिकोली: [tɔʃqyrʁɔn buzur], तॉशक़ुरग़ॉन​; उइग़ुर: تاشقورغان بازىرى‎, ताशक़ूरग़ान बाज़िरी; चीनी: 塔什库尔干镇, ताशिकु'एरगन; अंग्रेज़ी: Tashkurgan) मध्य एशिया में चीन द्वारा नियंत्रित शिनजियांग प्रान्त के ताशक़ुरग़ान​ ताजिक स्वशासित ज़िले की राजधानी है। पाकिस्तान से पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र से आने वाले काराकोरम राजमार्ग पर यह पहला महत्वपूर्ण चीनी पड़ाव है। इस राजमार्ग पर सरहद पर स्थित ख़ुंजराब दर्रे की चीनी तरफ़ ताशक़ुरग़ान​ है और पाकिस्तानी तरफ़ सोस्त है।[1]

नाम[संपादित करें]

'ताशक़ुरग़ान​' के नाम में बिन्दु-वाले 'क़' के उच्चारण पर ध्यान दें - यह 'क' से ज़रा भिन्न है और 'क़ीमत' जैसे शब्दों में मिलता है। इसी तरह बिंदु-वाले 'ग़' के उच्चारण पर भी ध्यान दें - यह 'ग' से भिन्न है और 'ग़रीब' व 'ग़ायब' जैसे शब्दों में मिलता है।

तुर्की भाषाओं में 'ताश' का मतलब 'पत्थर' होता है और यह 'हिन्दूताश' (अर्थ: हिन्दू-पत्थर) और 'ताशकन्द' (अर्थ:पत्थर-शहर) जैसे नामों में मिलता है। 'क़ुरग़ान' का मतलब 'क़िला' या 'बुर्ज' होता है। दोनों मिलाकर 'ताशक़ुरग़ान' का अर्थ 'पत्थर का क़िला या बुर्ज' है।[2]

ऐतिहासिक रूप से इस शहर को 'सरिकोल' (سريكول) या 'सरिक़ोल' (سرقول) भी बुलाया जाता था।

इतिहास[संपादित करें]

ताशक़ुरग़ान​ ऐतिहासिक रूप से रेशम मार्ग पर एक महत्वपूर्ण पड़ाव हुआ करता था। यहाँ से कई व्यापारिक कारवान मार्ग निकलते थे। यह रास्ते उत्तर में काश्गर, पूर्व में क़ारग़िलिक, पश्चिम में बदख़्शान​वाख़ान और दक्षिण पूर्व में चित्राल और गिलगित-बल्तिस्तान के हुन्ज़ा क्षेत्र से होते हुए भारत की मुख्यभूमि की तरफ़ जाते थे।[3] इस क्षेत्र का मध्य एशिया के सुग़्दा इलाक़े से और भारत से गहरा सांस्कृतिक व व्यापारिक सम्बन्ध था और शिलालेखों में यहाँ हिन्द आर्य लोगों के आने-जाने के चिह्न मिले हैं।[4]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. China, Andrew Burke, pp. 838, Lonely Planet, 2007, ISBN 9781740599153, ... However, the border can open late or close early depending on conditions at Khunjerab Pass. Travel formalities are performed at Sost, on the Pakistan border; the Chinese border post is located at Tashkurgan ...
  2. Legend of the Last Vikings - Taklamakan, John Halsted, pp. 262, Abela Publishing Ltd, 2006, ISBN 978-0-9560584-0-9, ... In our language Tashkurgan means 'stone tower' or 'stone fortress', and that's all that Tashkurgan has to offer, or rather had to offer ...
  3. In Xanadu, William Dalrymple, pp. 217, Penguin Books India, 2004, ISBN 978-0-14-303107-9, ... Anyone who has studied the Silk Road might expect Tashkurgan to be a rather exciting place. It was the ancient gateway town to China, the junction point of the Silk Roads leading north from India and east from Afghanistan ...
  4. Three Mountains and Seven Rivers: Prof. Musashi Tachikawa's Felicitation Volume, Musashi Tachikawa, Shoun Hino & Toshihiro Wada (editors), pp. 17, Motilal Banarsidass Publishers, 2004, ISBN 9788120824683, ... the inscription that refers to Tash Qurghan is relevant because it suggests that a millennium or so earlier, Indo-Aryan speaking mummies, before they were mummies, may also have trekked south through the difficult 'central' area. They could have used bridges made of twisted twigs or some of the simpler types of boat mentioned in Panini, Late Vedic or the epic ...