डॉ॰ बी॰आर॰ अम्बेडकर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जालंधर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
संस्थान का मुख्य भवन।

डॉ॰ बी. आर. अम्बेडकर राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, जालंधर, पंजाब की स्थापना १९८६ में की गई तथा इसे १७ अक्टूबर २००२ को राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जालंधर के रूप में स्तरोन्नत किया गया था। संस्थान में १३ विभाग हैं तथा यह कैमिकल तथा बायो-इंजीनियरी, सिविल इंजीनियरी (स्ट्रक्चरल इंजीनियरी तथा निर्माण प्रबंधन) कम्प्यूटर विज्ञान तथा इंजीनियरी, इलैक्ट्रॉनिक्स तथा संचार इंजीनियरी, औद्योगिकी इंजीनियरी, इन्स्ट्रूमेंटेशन और नियंत्रण इंजीनियरी, चमड़ा प्रौद्योगिकी, यांत्रिकी इंजीनियरी, मैकेनिकल मशीन डिजाईन तथा आटोमेशन), चीनी तथा कपड़ा प्रौद्योगिकी जैसे विषयों में चार-वर्षीय अवर-स्नातक पाठयक्रम संचालित करता है। यहां लड़कों हेतु पांच तथा लड़कियों हेतु एक छात्रावास है। संस्थान के पास एक सुसज्जित पुस्तकालय है। इस संस्थान में राष्ट्रीय विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी उद्यमिता विकास प्रकोष्ठ की स्थापना की गई थी। ताकि विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करके विद्यार्थियों में उद्यमिता संस्कृति को बढ़ावा दिया जा सके।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "डॉ॰ बी. आर. अम्बेडकर राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, जालंधर". संस्थान का आधिकारिक जालस्थल. अभिगमन तिथि ४ मई २००९. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)