सामग्री पर जाएँ

डेनटाईन डिसप्लेसिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

डेनटाईन डिसप्लेसिया दांतों का एक अनुवांशिक रोग है जो की प्रमुख औटोसोमल वंशानुक्रम की वजह से होता है| इस असामान्यता में दांतों का इनेमल तो साधारण होता है पर दांतो के पल्प की आकृति विज्ञान ठीक नही होता|डेनटाईन डिसप्लेसिया २ प्रकार के होते है|अगर दांतों की जड़े छोटी होती है और उनका पल्प कक्ष कमजोर होता है, इस प्रकार की असामान्यता को रेडीकूलर टाइप डेनटाईन डिसप्लेसिया कहते है| और दूसरा प्रकार कॉरोनल टाइप के डेनटाईन डिसप्लेसिया होते है जिसमे पल्प कक्ष बहुत ही बड़े होते है और थीस्ल ट्यूब जैसे दिखाई देते है| यह असामान्यता क्रोमोजोम ४ पर मानचित्र होते है|

सन्दर्भ

[संपादित करें]