डीआरडीओ हवाई प्रारंभिक चेतावनी व नियंत्रण विमान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
डीआरडीओ हवाई प्रारंभिक चेतावनी व नियंत्रण विमान

डीआरडीओ हवाई प्रारंभिक चेतावनी व नियंत्रण विमान (DRDO Airborne Early Warning and Control System या AEWACS) भारतीय वायु सेना के लिए एक हवाई प्रारंभिक चेतावनी और नियंत्रण प्रणाली विकसित करने के लिए भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन की एक परियोजना है। इसे डीआरडीओ नेत्र AEW&CS सिस्टम के रूप में भी जाना जाता है।

विकास[संपादित करें]

2003 में, भारतीय वायु सेना और रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने हवाई प्रारंभिक चेतावनी और नियंत्रण प्रणाली के लिए सिस्टम-स्तर की आवश्यकताओं और विकास की व्यवहार्यता का एक संयुक्त अध्ययन किया।[1] सरकार ने तब डीआरडीओ द्वारा AEWAC प्रणाली के विकास के लिए परियोजना को मंजूरी दी थी। परियोजना के लिए प्राथमिक जिम्मेदारी डीआरडीओ के बेंगलुरु स्थित सेंटर फॉर एयरबोर्न सिस्टम्स की थी जिसने सिस्टम के डिजाइन, सिस्टम एकीकरण और परीक्षण का नेतृत्व किया। इलेक्ट्रॉनिक्स और रडार विकास प्रतिष्ठान रडार व्यूह-रचना के डिजाइन के लिए जिम्मेदार था। देहरादून स्थित रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स अनुप्रयोग प्रयोगशाला AEW&CS के लिए डेटा लिंक और संचार प्रणालियों के लिए जिम्मेदार थी।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Press Information Bureau, GoI (11 December 2003). Development of Airborne Early Warning and Control System. प्रेस रिलीज़. Archived from the original on 30 नवंबर 2016. http://pib.nic.in/release/release.asp?relid=123. अभिगमन तिथि: 2008-07-25.