डार्क नाबुला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

डाक नेबुला एक अंधेरे नहारका या अवशोषण नहारका अंतरतारकय बादल का एक कार है जो इतने घने क यह सतार क पृठभूम और उसजन या परावतन नीहारकाओं के प म पीछे के वतुओं, से आने वाल काश को धुंधला कर देता है। तार के काश के वलुत होने का कारण बीच आणवक बादल के सबसे ठंडा, सघनतम भाग म िथत धूल के कण है। लटर और अंधेरे नेबुला के बड़े परसर वशाल आणवक बादल के साथ जुड़े ह। पृथक छोटे काले नीहारकाओं को बॉक लोबुस कहा जाता है। अंतरतारकय धूल या सामी क तरह अय धुंधल चीजे रेडयो खगोल वान म रेडयो तरंग का उपयोग या अवरत खगोल वान म अवरत तरंग का उपयोग करके ह दखाई देती ह। लटर और अंधेरे नेबुला के बड़े परसर वशाल आणवक बादल के साथ जुड़े ह। पृथक छोटे काले नीहारकाओं को बॉक लोबुस कहा जाता है। अंतरतारकय धूल या सामी क तरह अय धुंधल चीजे रेडयो खगोल वान म रेडयो तरंग का उपयोग या अवरत खगोल वान म अवरत तरंग का उपयोग करके ह दखाई देती ह। .[1][2]

काले बादल उप-माइोमीटर आकार धूल कण के कारण ऐसी दखाई देती ह और जमे हुए काबन मोनोऑसाइड और नाइोजन से लेपत बादल भावी प से तरंग दैय पर काश के पारत होने का कारण बनती ह। इसके अलावा आणवक हाइोजन, परमाणु हलयम, C18O (18O आइसोटोप के प म ऑसीजन) , CS, NH3 (अमोनया), H2CO (फ़ोमलडीहाइड), c-C3H2 (सैलोोपीनैलडीन) और एक आणवक आयन N2H + (डायज़ैनाइलयम) मौजूद रहते ह जो सभी के लए अपेाकृत पारदश ह। यह बादल के तार और ह का जमथान ह, और उनके वकास को समझना टार गठन के लए आवयक है। 

इस तरह के काले बादल का प बहुत अनयमत है: वे कोई पट प से बाहर सीमाओं को परभाषत नहं ह और कभी कभी जटल टेढ़ा आकार ले लेते हैं। सबसे बड़ा अंधेरे नीहारकाओं नंगी आंख से दखाई देते ह, कोलसैक नेबुला और ेट रट क तरह आकाशगंगा के उजवल पृठभूम के खलाफ काले धबे के प म दखाई देते ह। ये नन आंख क वतुओं को कभी कभी काले बादल तारामंडल के प म जाना जाता है और इनके अनेक कम के नाम।

गैलरी[संपादित करें]

नोट[संपादित करें]