डायन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डायन' एक ऐसा शब्द जिससे सुन के ही मन में एक डर्र पैदा हो जाता है , हाला की इसे अंधविश्वास माना जाता है पर अगर इसके बारे में जाने तो ये कही ना कही सच्चाई नजर जरूर आती हैं । अगर साइकोलॉजी की माने तो एक बाएपोलार डिसऑर्डर होता हैं जिसमें प्रभावित इंसान में दो लोगो की छवि नजर आती है ।

मै अरविंद कुमार सुमन सवेम एक नर्स हूं पर मेरे साथ हुए घटनाओं से ये साबित कर सकता हूं कि आज भी डायन होते हैं -

पुराने लोगों की बात को माने तो डायन एक जलन करने वाली औरत होती हैं जो अपने पड़ोसी से या ऐसे लोग जो उससे और उसके घर वाले से आगे बढ़ने लगते तो जलन से वो डायन सीखना शुरू करती हैं - अमावस्या की रात्रि को ये डायन बहुत जादा सक्रिय होती हैं ये उस रात को बिना कपड़ों के गीत गाते हुए नाचती है और खुशियां मनाती हैं इनके पास ऐसे मंत्र होते हैं जो किसी भी दूसरे इंसान के शरीर में प्रवेश कर सकते हैं उनको नुक़सान पहुंचते हैं ।

एक डायनभूत होता है जिसका पुजा वैसी ओरत करती है जिन्हे डायन सीखना होता है ऐसा देखा गया है कि ये डायनभूत बहुत जिद्दी होते है जो भी इसका पुजा करती है उससे वो भूत हमेशा किसी ना किसी का जान मांगते रहता हैं और जब तक उसके इच्छा को पूरा नहीं किया जाता है वो उस डायन से मांगते रहता है यही कारण है जो डायन दूसरे के शरीर में प्रवेश कर के उस इंसान का छती करते रहता हैं । माना जाता है इंसान दो प्रकार के होते हैं एक जिनका छाया पतला होता हैं और दूसरा जिसका छाया मोटा होता है - जो भी डायन होती हैं वो हमेशा पतले छाया वाले इंसान पे अपना प्रभाव दिखती हैं पतला छाया होता है जो बहुत ज्यादा डरपोक होता है , या बहुत ज्यादा घबराया होता है ।

जिस किसी को भी डायन लगता है आप अगर उससे बिना घबराए डांट के जो भी प्रसन्न पूछे वो सारा कुछ बतला देगी वो कोन्न है क्यों परेशान कर रही हैं सारा बात वो बतला देगी ।

आप उसको डांट के जमीन में गिरने बोलिए अगर वो गिर जाती हैं तो वो थोड़े देर के लिए उसके शरीर का तयाग कर देगी जो वो गर्र जयेई तो कुछ देर में वो इंसान खुद उठ जायेगा और उससे आप कुछ पुचीगा तो कुछ भी नहीं बतला पाएगी की उसके साथ क्या हुआ था सिर्फ़ वो यही बोलेगी की उसके सर के दर्द है ।

बहुत बार ऐसा देखा है के जिसपे डायन आती है वो इंसान उस डायन के घर के दरवाजे के पास जा के गिरते है ।

परंतु डोस साबित नहीं रहने के कारण डायन पे कानूनी कार्रवाई नहीं हो सकता है । परंतु ये सच है कि आज भी डायन होती है ।

अगर ऐसे समय में आपको कुछ समझ नहीं आ रहा हो तो हनुमान चालीसा पढ़ना सुरु कर दे ये आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा । और अगर जिसे डायन लगा हो उसे पकड़ के जोर जोर से किसी भी भगवान के मंत्र का उच्चारण किया जाए तो वो डायन उसके शरीर को छोड़ देती हैं ।

मेरे पास बहुत सारे सबूत है इसको सिद्द करने के लिए परंतु ये किसी के भी जान मान्न को हानि पहुंचा सकता है ।


          धन्यवाद

फिर कभी मै इसके बारे में और गहन और विस्तार से जानकारी दूंगा ।

डायन का स्वरूप[संपादित करें]

डायन महिला और पुरुष दोनों हो सकते है , इसमें सच्चाई भले ही आज साइंस कितना भी विकसित हो जाए पर इस सच्चाई को मानने में हिचकिचाते रहती हैं क्यू की साइंस के पास तकनीक तो है पर संस्कृति नहीं है परंतु एक दिन साइंस को भी ये मानना होगा कि कुछ बुरी सक्तिया होती है जो किसी पे भी अपना काबू कर सकती है ,और कुछ वैज्ञानिक भी ये मानते है

्र

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]