टू जेंटलमेन ऑफ़ वेरोना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एंजेलिका कॉफ़मैन (1789) द्वारा वेरोना के दो सज्जन

टू जेंटलमैन ऑफ़ वेरोना[1] (वेरोना के दो सज्जन आदमी ) विलियम शेक्सपियर का एक कामेडी नाटक है, माना जाता है कि इसे 1589 और 1593 के बीच लिखा गया था। इसे कुछ लोग शेक्सपियर का पहला नाटक मानते हैं, इस नाटक में शेक्सपियर ने कुछ चीज़ें एक प्रयोग के रूप में प्रस्तुत की हैं जिनको शायद उन्होंने अपने अगले नाटकों में इन्हें विस्तार से अपनाया हैं I उदाहरण के लिए, यह उनके नाटकों में से पहला है जिसमें एक नायिका एक लड़के के वेश में भी एक भूमिका निभाती है। नाटक दोस्ती और बेवफाई, दोस्ती और प्यार के बीच संघर्ष और प्यार में लोगों के मूर्ख व्यवहार के विषयों से संबंधित है। नाटक का मुख्य आकर्षण एक पात्र लाउन्स और उसके कुत्ते क्रैब को भी माना जाता हैI लाउन्स, प्रोटियस का एक मसखरा नौकर है I

इस नाटक को अक्सर शेक्सपियर के सबसे कमजोर नाटकों में से एक माना जाता है। शेक्सपियर द्वारा लिखे नाटकों में सबसे कम पात्र/ इसी नाटक में हैं।

पात्र[संपादित करें]

  • वेलेंटाइन - एक जवान आदमी जो वेरोना में रहता है और कहानी का नायक I
  • प्रोटियस - वेलेंटाइन का दोस्त I
  • सिल्विया - मिलान शहर के ड्यूक की पुत्री और कहानी की नायिका I
  • जूलिया - प्रोटियस का प्रेमिका I
  • एंटोनियो - प्रोटियस के पिता I
  • स्पीड - वेलेंटाइन का एक मसखरा नौकर I
  • लाउन्स - प्रोटियस का नौकर I
  • क्रैब - लाउन्स का कुत्ता I
  • पैन्थिनो - एंटोनियो का नौकरI
  • ड्यूक - मिलान शहर का शासक I
  • ड्यूक - मिलान शहर का शासक
  • थुरियो - मिलान शहर का एक अमीर और थोडा ओछा व्यक्ति I
  • सर एग्लैमर - सिल्विया का शुभचिंतक जो उसकी मिलान शहर से भागने में मदद करता है I
  • सेबेस्टियन - एक पेज बॉय जिसका वेश जूलिया धारण करती है I
  • तड़ीपार अपराधी - कुछ युवक जिनको ड्यूक द्वारा सज़ा के तौर शहर से पहले निष्कासित किया हुआ था I

सारांश[संपादित करें]

चार्ल्स एडवर्ड पेरुगिनी (1888) द्वारा बनाया गया सिल्विया का चित्र

नाटक की शुरुआत में एक वेलेंटाइन नाम का जवान आदमी, जो कि वेरोना में रहता है, मिलान शहर जाने की तैयारी कर रहा है ताकि वह जीवन में कुछ नाम कम सके। वह अपने सबसे अच्छे दोस्त प्रोटियस को साथ आने के लिए कहता है, लेकिन प्रोटियस जूलिया के साथ प्यार में है, और वेरोना शहर छोड़कर उसके साथ चलने से इनकार कर देता है। निराश होकर, वेलेंटाइन अकेले चला जाता है। इस बीच, जूलिया अपनी नौकरानी लुसेटा के साथ प्रोटियस के बारे में बातें कर रही है, वह जूलिया को बताती है कि उसे लगता है कि प्रोटियस उससे प्यार करता है। हालाँकि, जूलिया शर्म के कारण लुसेटा को अपने और प्रोटियस के प्यार के बारे में नहीं बताती I लुसेटा एक पत्र दिखाती है और कहती है कि यह पत्र प्रोटियस ने स्पीड के हाथों जूलिया के लिए भेजा है I स्पीड, वेलेंटाइन का एक नौकर है I जूलिया, लुसेटा के सामने अपने प्यार को प्रकट करने के लिए अभी भी तैयार नहीं है, और गुस्से में पत्र को फाड़ देती है। लुसेटा के जाने के बाद वह पछताती है और पत्र के टुकड़ों को उठाती है और उन्हें चूमती है, उन्हें एक साथ वापस जोड़ने की कोशिश करती है।

इसी दौरान, प्रोटियस के पिता, प्रोटियस को वेलेंटाइन के पास मिलान शहर भेजने का फैसला करते हैं I अगले दिन प्रोटियस, जूलिया से भावभीनी विदाई लेता है और दोनों भेंट स्वरूप एक दूसरे को अपनी अंगूठी देते हैं I प्रोटियस जल्द वापिस लौटने का वादा करता है I

मिलान पहुंचकर प्रोटियस को पता चलता है कि वेलेंटाइन और सिल्विया एक दूसरे से प्यार करते हैंI सिल्विया मिलान शहर के ड्यूक ( शासक ) की पुत्री है I प्रोटियस जब सिल्विया को पहली बार देखता है तो वह भी सिल्विया से प्यार करने लग जाता है और उसे हासिल करना चाहता हैI जबकि वेलेंटाइन को प्रोटियस की भावनाओं के बारे पता नहीं I ड्यूक सिल्विया की शादी एक ओछे लेकिन अमीर आदमी थुरियो से करना चाहता हैI सिल्विया इसका विरोध करती है I ड्यूक को सिल्विया और वेलेंटाइन के प्यार का भी अंदेशा हो जाता है और वह सिल्विया को एक टावर ( एक ऊँची इमारत ) में बंद कर देता है जिसकी सिर्फ एक ही चाबी है जो ड्यूक अपने पास रखता है I वेलेंटाइन सिल्विया को रस्सी की सीढ़ी द्वारा बचाने और वहां से भगा कर ले जाने की योजना बनाता है और अपने मित्र प्रोटियस को भी बता देता है I लेकिन शातिर प्रोटियस ये साडी बात ड्यूक को बता देता है ताकि वह वेलेंटाइन को अपने रास्ते से हटा सकेI ड्यूक के सिपाही वेलेंटाइन को मौके पर पहुँच कर पकड़ लेते हैं और वेलेंटाइन को शहर से बाहर निकाल दिया जाता हैI शहर के बाहर घूमते हुए उसे कुछ और तड़ीपार किये हुए अपराधी मिलते हैं I वेलेंटाइन उनसे झूठ कहता है कि उसने एक मुकाबले में एक आदमी को मौत के घात उतार दिया था जिस वजह से उसे शहर से बाहर निकाल दिया गया है I वो सभी तड़ीपार अपराधी बहादुरी से प्रभावित हो कर उसे अपना नेता मान चुन हैं I

विलियम होल्मन हंट (1851) द्वारा बनाया गया चित्र - प्रोटियस से सिल्विया को बचाते हुए वेलेंटाइन ।

इसी बीच, वेरोना में जूलिया अपने प्यार प्रोटियस से मिलने के लिए बेचैन हो जाती है और मिलान जाने का फैसला कर लेती है I वह खुद एक लड़के का वेश धारण करती है जिसमे लुसेटा उसकी मदद करती है I यह सब जूलिया सिर्फ खुद को यात्रा के दौरान सुरक्षित रखने के लिए करती है I लेकिन वहां पहुँच कर उसे पता चलता है कि प्रोटियस तो सिल्विया के प्यार में पागल है I जूलिया अपनी असली पहचान जाहिर नहीं करती और सेबेस्टियन नाम के पेज बॉय ( एक प्रकार का नौकर ) के रूप में स्वयं को प्रोटियस के सामने प्रस्तुत करती है I प्रोटियस भी उसे पहचान नहीं पाता I प्रोटियस सेबेस्टियन को एक अंगूठी उपहार के रूप में सिल्विया को दे कर आने के लिए भेजता हैI ये वही अंगूठी है जो जूलिया ने उसे वेरोना से विदा होते समय दी थी I अब जूलिया को प्रोटियस की बेवफाई का यकीन हो जाता है I लेकिन सिल्विया उसके उपहार को ठुकरा देती है और अपनी घृणा प्रकट करती हैI साथ ही सिल्विया वेलेंटाइन की मृत्यु की खबर से शोक में डूब जाती है I जो कि वास्तव में प्रोटियस द्वारा फैलाई गयी एक अफवाह हैI

सिल्विया सर एग्लैमर की मदद से मिलान शहर से भागने का फैसला करती है। वे जंगल में भाग जाते हैं, लेकिन उनका सामना उन तड़ीपार अपराधियों से होता है जिन्होंने वेलेंटाइन को अपना नेता माना थाI सर एग्लैमर भाग जाता है और सिल्विया को बंदी बना लिया जाता है। डाकू उसे अपने नेता (वेलेंटाइन) के पास ले जाने के लिए निकल पड़ते हैं, लेकिन रास्ते में, उनका सामना प्रोटियस और सेबस्टियन (जूलिया) से होता हैं। प्रोटियस सिल्विया को बचाता हैI और फिर सिल्विया को उसके प्यार को स्वीकार करने के लिए प्रताड़ित करता है I लेकिन सिल्विया उसके हर प्रकार के प्रस्ताव को नफरत के साथ ठुकरा देती है I वेलेंटाइन छिप कर ये सब कुछ देख रहा है लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं करता I

प्रोटियस फिर से सिल्विया को प्रताड़ित करता है और कहता है कि "मैं तुम्हें मेरी इच्छा के लिए मजबूर कर दूंगा" ( "I'll force thee yield to my desire"), और उसे बलात्कार की धमकी देता है I लेकिन तब वेलेंटाइन सामने आ जाता है और प्रोटियस को उसकी गलत हरकतों और इरादों के लिए फटकारता हैI प्रोटियस अपनी गलतियों के लिए पछतावा प्रकट करता है और खुद को कोसने लगता है I यह देखते हुए कि प्रोटियस का पश्चाताप वास्तविक है, वेलेंटाइन उसे माफ कर देता है और उसे ये पेशकश देता है कि यदि प्रोटियस चाहे तो सिल्विया से शादी कर सकता हैI यह बात सुनकर सेबस्टियन (जूलिया) बेहोश हो जाता है और उसकी असली पहचान सामने आ जाती है I उसे देखते ही, प्रोटियस अचानक उसके प्रति अपने प्यार की याद आ जाती है और एक बार फिर उसके प्रति निष्ठा और सच्चे प्यार की कसम खाता है। ड्यूक और थुरियो जो सिल्विया की तलाश में जंगल में आ गये थे उन्हें वो तड़ीपार अपराधी बंदी बना लेते हैं I और अपने नेता वेलेंटाइन के पास ले जाते हैंI सिल्विया को देखकर थुरियो उस से शादी करने का दावा पेश करता है लेकिन अगले ही पल वेलेंटाइन की चेतावनी सुन भाग जाता हैI ड्यूक, थुरियो की कायरता और वेलेंटाइन की बहादुरी से प्रभावित होकर, उसकी और सिल्विया की शादी के लिए सहमति दे देता है। अब वेलेंटाइन और प्रोटियस अपने अपने प्यार को पाकर खुश हैं, और ड्यूक सभी तड़ीपार अपराधियों को माफ़ कर देता है और उन्हें मिलान शहर में लौटने की इजाजत दे देता है। इस तरह इस रोमांटिक कॉमेडी का सुखद अंत हो जाता है I

  1. "The Two Gentlemen of Verona", Wikipedia (अंग्रेज़ी में), 2019-09-09, अभिगमन तिथि 2019-09-22