ज्योति प्रकाश निराला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कॉर्पोरल
ज्योति प्रकाश निराला
अशोक चक्र
जन्म 15 नवम्बर 1986 [1]
रोहतास, बिहार
देहांत नवम्बर 18, 2017(2017-11-18) (उम्र 31)
बांदीपुरा, जम्मू कश्मीर
निष्ठा Flag of India.svg भारत
सेवा/शाखा Flag of the भारतीय वायु सेना भारतीय वायु सेना
सेवा वर्ष 2005–2017
उपाधि IAF Cpl Arm.png कॉर्पोरल
सेवा संख्यांक 918203
दस्ता राष्ट्रीय राइफल्स (deputed)
गरुड़ कमांडो फाॅर्स
सम्मान Ashoka Chakra ribbon.svg अशोक चक्र

कॉरपोरल ज्योति प्रकाश निराला (१५ नवंबर १९८६ - १८ नवंबर २०१७) मरणोपरांत शांति काल के सर्वोच्च सैन्य सम्मान, अशोक चक्र के प्राप्तकर्ता थे। वह भारतीय वायु सेना के गरुड़ कमांडो फोर्स के सदस्य थे। भारतीय वायु सेना की ओर से सुहास बिस्वास और राकेश शर्मा के बाद इस सम्मान को प्राप्त करने वाले वह तीसरे व्यक्ति थे।[2][3][4]

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

निराला का जन्म १५ नवंबर १९८६ को बिहार के रोहतास जिले के बादिलडिह गांव में तेजनारायण सिंह तथा मालती देवी के घर हुआ था। उनकी चार बहनें भी थी। २०१० में उनकी शादी औरंगाबाद की सुषमा नंद से हुई थी। वह अपनी पत्नी और पुत्री जिज्ञासा के साथ चण्डीगढ़ में रहते थे।

सैन्य जीवन[संपादित करें]

२००५ में ज्योति प्रकाश वायुसेना में भर्ती हुए थे।[5] उनकी इकाई को १३ राष्ट्रीय राइफल्स के लिए नियुक्त किया गया था, और ऑपरेशन रक्षक के तहत वह जम्मू और कश्मीर में तैनात थे। १८ नवंबर २०१७ को सर्च ऑपरेशन के दौरान चंद्रगढ़ गांव में जवानों ने एक घर को घेर लिया। तभी उसमें छिपे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी थी।[6] निराला के पास एक लाइट मशीनगन थी। एनकाउंटर के दौरान गोली लगने के बावजूद उन्होंने दो आतंकवादियों को मार गिराया था। इस एनकाउंटर में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के कुल ६ आतंकवादी मारे गए थे।

सम्मान[संपादित करें]

२६ जनवरी २०१६ को भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा उन्हें मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया गया।[7][8] इसके अतिरिक्त उनके पैतृक गांव बदिलाडीह के समीप एक स्मृतिद्वार तथा गांव के प्राथमिक विद्यालय परिसर में उनकी आदमकद प्रतिमा भी लगाई गयी है।[9]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Martyred Garud commando to be cremated at Chandigarh". DailyPost.in (अंग्रेज़ी में). 2017-11-19. मूल से 27 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-01-27.
  2. "Martyred Corporal Jyoti Prakash Nirala joins elite IAF club tomorrow - Times of India". indiatimes.com. January 25, 2018. मूल से 26 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि January 25, 2018.
  3. "Press Information Bureau". www.pib.nic.in (अंग्रेज़ी में). मूल से 27 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2018-01-27.
  4. "IAF commando Jyoti Prakash Nirala awarded Ashok Chakra for role in Kashmir encounter that killed six terrorists - Firstpost". www.firstpost.com. January 25, 2018. मूल से 29 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि January 25, 2018.
  5. "4 बहनों का एक भाई गरुड कमांडो, 5 आतंकियों को मारकर गिरा था, जानिए कौन?". Amar Ujala. चण्डीगढ़: अमर उजाला. मूल से 29 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 जनवरी 2018.
  6. "2 आतंकियों को मारने वाले शहीद निराला को अशोक चक्र, सम्मान देते हुए भावुक हुए राष्ट्रपति". नई दिल्ली: दैनिक भास्कर. २५ जनवरी २०१८. मूल से 29 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २९ जनवरी २०१८.
  7. "मरणोपरांत मिलेगा वायु सेना के कमांडो ज्योति प्रसाद को अशोक चक्र". नई दिल्ली: नवभारत टाइम्स. २६ जनवरी २०१८. मूल से 29 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २९ जनवरी २०१८.
  8. "शहीद की मां और पत्नी को अशोक चक्र देते वक्त भावुक हुए राष्ट्रपति". फर्स्टपोस्ट. २६ जनवरी २०१८. मूल से 29 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २९ जनवरी २०१८.
  9. "शहीद ज्योति प्रकाश की याद में स्मृतिद्वार का शिलान्यास". रोहतास: दैनिक जागरण. १८ दिसंबर २०१७. मूल से 29 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २९ जनवरी २०१८.