ज्योतिरिन्द्रनाथ ठाकुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
ज्योतिरिन्द्रनाथ ठाकुर
JyotirindranathTagore.jpg
जन्म 4 मई 1849
कोलकाता, भारत
मृत्यु 4 मार्च 1925
राँची
व्यवसाय नाटककार, संगीतकार, सम्पादक, और चित्रकार
जीवनसाथी कादम्बरी देवी

ज्योतिरिन्द्रनाथ ठाकुर (4 मई 1849 – 4 मार्च 1925) एक नाटककार, संगीतकार, सम्पादक एवं चित्रकार थे। [1] अपने छोटे भाई रवीन्द्रनाथ ठाकुर की प्रतिभा को उभारने में उनकी बहुत बड़ी भूमिका थी। [2]

कृतियाँ[संपादित करें]

ऐतिहासिक नाटक -पुरुविक्रम (1874), 'सरोजिनी (1875), अश्रुमती (1879), स्वप्नमयी (1882).

व्यंग्य नाटक - किंचित जलजोग (कुछ जलपान, 1873), एम्न कर्म आर करबो ना (ऐसा काम फिर कभी नहीं करूँगा, 1877), हठात नबाब (सहसा शासक, 1884), आलिक बाबू (विचित्र व्यक्ति, 1900).

अनुवाद - कालिदास का अभिज्ञानशाकुन्तलम् और मालतीमाधव (मालती और माधव); सूद्रक का मृच्छकटिक; मार्कस आरेलियस (Marcus Aurelius), मेडिटेशन्स (Meditations), विलियम शेक्सपीय का जुलियस सीजर (नाटक)'; बाल गंगाधर तिलक की 'गीता रहस्य'।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Ahmed, Wakil (2012). "Tagore, Jyotirindranath". प्रकाशित Islam, Sirajul; Jamal, Ahmed A. (संपा॰). Banglapedia: National Encyclopedia of Bangladesh (Second संस्करण). Asiatic Society of Bangladesh.
  2. Bandopadhyay, Hiranmay, Thakurbarir Katha, (Bengali में), pp. 106-113, Sishu Sahitya Sansad.

साँचा:ठाकुर परिवार