जोरावर सिंह कहलुरिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जोरावर सिंह कहलुरिया

A statue depicting Zorawar Singh
जन्म 1786 (1786)
Bilaspur, कहलुर , हिमाचल प्रदेश, India
देहांत 1841 (1842)
तिब्बत
निष्ठा Gulab Singh of Jammu[1][2][3]
(subsidiary to the Sikh Empire)

जोरावर सिंह कहलुरिया (1786-1841) भारत के महान सेनानायक थे। उन्होने लद्दाख, तिब्बत, बल्टिस्तान, इस्कार्दु आदि क्षेत्रों को जीता था जिससे उन्हें 'भारत का नैपोलियन' कहा जाता है।

उनका जन्म हिमाचल प्रदेश के कहलुर रियासत के बिलासपुर में डोगरा राजपूत परिवार में हुआ था। ये महाराजा गुलाब सिंह के सेनानायक थे ।


जोरावर दुर्ग (लद्दाख)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Schofield, Victoria (2000), Kashmir in Conflict: India, Pakistan and the Unending War, I.B.Tauris, पपृ॰ 7–, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-86064-898-4, मूल से 16 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 28 फ़रवरी 2017
  2. Snedden, Christopher (2015), Understanding Kashmir and Kashmiris, Oxford University Press, पपृ॰ 121–, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-84904-342-7, मूल से 16 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 28 फ़रवरी 2017
  3. Gupta, Jyoti Bhusan Das (6 December 2012), Jammu and Kashmir, Springer, पपृ॰ 23–, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-94-011-9231-6, मूल से 16 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 28 फ़रवरी 2017

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]