जेम्स रसेल लोवेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

James Russell Lowell oval


जेम्स रसेल लोवेल एक अमेरिकी रोमांटिक कवि, आलोचक, संपादक, और राजनयिक थे। उनका जन्म २२ फरवरी १८१९ को हुआ था। वह एक महत्वपूर्ण न्यू इंग्लैंड परिवार में पैदा हुआ थे। लोवेल के दादा एक वकील थे, जो कॉन्टिनेंटल कांग्रेस का अग्रणी सदस्य था। उन्के चाचा, फ्रांसिस कैबोट लोवेल, उस्स समय के अग्रणी उद्योगपतियों में से एक थे, जिन्होंने मेरिमेक नदी के तट पर फैक्ट्री शहर में पारिवारिक नाम दिया था। उनके चचेरे भाई बोस्टन के लोवेल संस्थान के संस्थापक थे। इन लोवेल्स के वंशज, कवियों एमी और रॉबर्ट ने बीसवीं सदी में पाठकों के सामने पारिवारिक नाम रख दिया था। ऐसे परिवार में पैदा होने का मतलब था कि लोवेल को जन्म से सफलता के लिए प्रयास करना था। चार साल की उम्र से पहले वह पढ़ना सीख गए थे, दस साल से पहले फ्रांसीसी का अनुवाद किया, विलियम वेल्स द्वारा संचालित छोटे शास्त्रीय स्कूल में लैटिन और ग्रीक का अध्ययन किया, और पंद्रह वर्ष के समय तक वह हार्वर्ड (१८३४) में प्रवेश प्राप्त कर लिया था। उन्होंने १८४० में हार्वर्ड के लॉ स्कूल में दाखिला लिया और दो साल बाद बार में भर्ती कराया गया। कानून का अध्ययन करते समय, उन्होंने विभिन्न पत्रिकाओं में कविताओं और गद्य लेखों का योगदान दिया।

शादी और परिवार[संपादित करें]

१८३९ में, लोवेल कि मारिया व्हाइट से मुलाकात हुई ती, वह हार्वर्ड में एक सहपाठी ,विलियम, की बहन थी, और दोनों ने १८४०मैं सगाई करली। मारिया के पिता अबीया व्हाइट, वॉटरटाउन के एक धनी व्यापारी, ने जोर देकर कहा कि उनकी शादी तब तक स्थगित कर दिया जाएगा जब तक लोवेल कोई लाभकारी रोजगार ना करे। लोवेल कि प्रकाशित निबंधों का एक संग्रह प्रकाशित करने के कुछ ही समय बाद 26 दिसंबर, १८४४को उनका विवाह हो गया था। एक दोस्त ने उन्के रिश्ते को "एक सच्चे विवाह की तस्वीर" के रूप में वर्णित किया। उनके चार बच्चे थे, हालांकि केवल एक (मेबेल, जन्म १८४७) जीवित था। लोवेल, अपनी पत्नी मारिया व्हाइट की मौत (१८५३) के बाद, पुनर्विवाह नहीं करना चाहा था। पर्नतु, १८५७ में, अपने दोस्तों को आश्चर्यचकित करते हुए, वह फ्रांसिस डनलप से जुड़े हुए। १६ सितंबर, १८५७ को उनका विवाह हुआ था।

साहित्यिक प्रगति[संपादित करें]

लोवेल की सबसे पुरानी कविताओं को १८४०में "दक्षिणी साहित्यिक मैसेंजर" में पारिश्रमिक के बिना प्रकाशित किया गया था। वह आत्म-समर्थन के प्रति नए प्रयासों से प्रेरित थे और साहित्यिक जर्नल "द पायनियर" की स्थापना में अपने दोस्त रॉबर्ट कार्टर से जुड़ गए थे। पत्रिका ने जनवरी १८४३ में शुरू होने के तीन मासिक संख्याओं के बाद प्रकाशन बंद कर दिया, जिससे लोवेल $ १८००कर्ज में छोड़ दिया गया। पो ने जर्नल के निधन को शोक किया, इसे "शुद्ध स्वाद का कारण - कारण के लिए सबसे गंभीर झटका" कहा। पायनियर की विफलता के बावजूद, लोवेल ने साहित्यिक दुनिया में अपनी रूचि जारी रखी। १८४८ में, लोवेल ने "द बिगलो पेपर्स" प्रकाशित किया, जिसे बाद में ग्रॉलियर क्लब द्वारा वर्ष की सबसे प्रभावशाली पुस्तक के रूप में नामित किया गया। एक सप्ताह के भीतर पहली १५०० प्रतियां बिक गयी।

मृत्यु[संपादित करें]

अपने जीवन के आखिरी कुछ महीनों में, लोवेल ने अपने बाएं पैर में गठिया, कटिस्नायुशूल और पुरानी मतली के साथ संघर्ष किया। १८९१ में डॉक्टरों का मानना ​​था कि लोवेल को उनके गुर्दे, यकृत और फेफड़ों में कैंसर था। उनके आखरी कुछ महीनों में, उन्हे दर्द के लिए अफीम प्रशासित किया गया था और शायद ही कभी पूरी तरह से जागरूक थे। १२अगस्त, १८९१ में एल्मवुड में उनकी मृत्यु हो गई। उनकी मृत्यु के बाद, नॉर्टन ने उन्के निष्पादक का कार्य किया और लोवेल के कार्यों और उनके पत्रों के कई संग्रह प्रकाशित किए।

संदर्भ[संपादित करें]

https://en.wikipedia.org/wiki/James_Russell_Lowell

https://www.britannica.com/biography/James-Russell-Lowell

https://www.poetryfoundation.org/poets/james-russell-lowell