जूलूस (उपन्यास)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जूलूस हिन्दी उपन्यास है। इसके रचयिता फणीश्वर नाथ ' रेणु ' हैं। यह वर्ष 1966 में भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा प्रकाशित हुआ था।[1][2] यह उपन्यास पूर्वी बंगाल की एक विस्थापित युवती पवित्रा को केंद्र में रखकर चलता है। रेणु विभिन्न विशेषताओं एवं सामाजिक व्यवहार वाले मनुष्यों का एक चित्र सामाजिक जुलूस के रूप में यहां देते हैं। लेकिन आंचलिकता के प्रति उनमें कोई उत्साह यहां दिखाई नहीं देता। इस उपन्यास को पढ़कर बिहार की और बिहार के माध्यम से समूचे देश की राजनीतिक विकृतियों का कुछ पूर्वाभास अवश्य पाया जा सकता है।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 4 नवंबर 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 अगस्त 2015.
  2. JuloosISBN 978-81-263-1537-6 Published by Bhartiya Jnanpith.
  3. मधुरेश, हिंदी उपन्यास का विकास, इलाहाबाद, सुमित प्रकाशन,p.143

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]