जीसैट-29

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
GSAT-29
मिशन प्रकार संचार उपग्रह
संचालक (ऑपरेटर) इसरो
मिशन अवधि 12 वर्ष (अनुमानित)
अंतरिक्ष यान के गुण
बस आई-3के
निर्माता भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन उपग्रह केंद्र
अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र
लॉन्च वजन 3,423 कि॰ग्राम (7,546 पौंड)[1]
ऊर्जा 2 सौर सरणी बैटरी
मिशन का आरंभ
प्रक्षेपण तिथि 2018 (योजना)
रॉकेट जीएसएलवी मार्क 3 डी2[2]
प्रक्षेपण स्थल सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र द्वितीय लांच पैड
ठेकेदार इसरो
कक्षीय मापदण्ड
निर्देश प्रणाली भूकेंद्रीय
काल भू-स्थिर

जीसैट-29 (GSAT-29) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा विकसित किया जा रहा एक संचार उपग्रह है।[2][3] दो क्यू और का परिचालन पेलोड डिजिटल भारत कार्यक्रम के तहत जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर क्षेत्रों को संचार सेवाएं प्रदान करेंगे।[4] जीएसएटी -29 भारतीय लॉन्च वाहन द्वारा कक्षा में रखा गया सबसे भारी उपग्रह था।[5] [6] जीसैट-29 उपग्रह वजन लगभग 3,423 कि॰ग्राम (7,546 पौंड) है।[7]

लॉन्च[संपादित करें]

उपग्रह को जीएसएलवी मार्क 3 की कक्षीय विकास उड़ान पर 2018 में लॉन्च किया गया।[8] इसके उड़ान का नाम जीएसएलवी मार्क 3 डी2 है। जीएसएलवी एमके III ने सफलतापूर्वक जीएसएटी -29 उपग्रह को जिओसिंक्रोनस ट्रांसफर ऑर्बिट (जीटीओ) में रखा।[9]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. GSAT-29 Archived 9 नवम्बर 2018 at the वेबैक मशीन.. Gunter Dirk Krebs, Gunter's Space Page. Accessed: 9 November 2018.
  2. "GSLV-MkIII-D2/GSAT-29 Mission (Official)". मूल से 12 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 मई 2018.
  3. "Cyclone clouds ISRO's GSAT-29 launch plan".
  4. "Isro to launch communication satellite specifically for J&K and NE on Nov 14". मूल से 11 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 नवंबर 2018.
  5. "ISRO successfully launches its heaviest satellite GSAT-29 from Sriharikota". मूल से 14 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 नवंबर 2018.
  6. "'India masters rocket science': Here's why the new ISRO launch is special". मूल से 15 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 नवंबर 2018.
  7. "'India masters rocket science': Here's why the new ISRO launch is special". मूल से 15 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 नवंबर 2018.
  8. "इसरो का 'बाहुबली' रॉकेट, जो पहली बार भारतीय को अंतरिक्ष में ले जाएगा". मूल से 15 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 नवंबर 2018.
  9. "GSLV MkIII-D2 successfully launches GSAT-29". मूल से 14 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 नवंबर 2018.