जीवन एक संघर्ष

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जीवन एक संघर्ष
जीवन एक संघर्ष.jpg
जीवन एक संघर्ष का पोस्टर
निर्देशक राहुल रवैल
निर्माता डी रामानायडू
लेखक जावेद अख्तर
अभिनेता राखी गुलज़ार,
अनिल कपूर,
माधुरी दीक्षित
संगीतकार लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
प्रदर्शन तिथि(याँ) 3 अगस्त, 1990
देश भारत
भाषा हिन्दी

जीवन एक संघर्ष 1990 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्माण डी रामानायडू ने किया और निर्देशन राहुल रवैल ने किया। राखी, अनिल कपूर और माधुरी दीक्षित मुख्य भूमिकाओं में है। फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल रही।

संक्षेप[संपादित करें]

विधवा सुलक्षणा देवी (राखी) के तीन बच्चे होते हैं, जिसमें दो पुत्र, अर्जुन (कंवलजीत सिंह) और करन (अनिल कपूर), और पुत्री सुमन (शहनाज कूडिया) हैं। वे लोग किराये के मकान में रहते हैं। उनका मकान मालिक उनके साथ बहुत बुरा सलूक करता है और उनके सारे पैसे लूट लेता है। करन अपने मकान मालिक को लूटने की कोशिश करता है, लेकिन वो पकड़ा जाता है और पुलिस स्टेशन में भेज दिया जाता है। सुलक्षणा देवी मुम्बई में जाने से पहले करन से मिलने की कोशिश करती है, लेकिन उससे पहले ही वो वहाँ से भाग जाता है। करन भी मुम्बई के लिए निकल पड़ता है और वहाँ एक गैराज का मालिक उसे रख लेता है।

एक दिन सड़क के किनारे करन की कुछ लोगों से लड़ाई हो जाती है और करन पुलिस के हत्थे चढ़ जाता है। उसे देवराज कामत (अनुपम खेर) के लिए काम करने का मौका मिलता है, पर करन इंकार कर देता है। लेकिन कामत अपने दुश्मन रतन ढोलकिया (परेश रावल) को इस बारे में बता देता है। रतन उसे एक पुलिस अफसर के खून के इल्जाम में फंसा देता है। जब वो कामत के गिरोह में शामिल होने के लिए मान जाता है तो उसे रिहा कर दिया जाता है। करन अपने परिवार से मिलने की काफी कोशिश करता है, पर सुलक्षणा देवी उसे अपना बेटा मानने से इंकार कर देती है। उसकी मुलाकात मधु (माधुरी दीक्षित) से होती है और उससे प्यार होने के बाद वो अपराध की दुनिया को छोड़ने का फैसला कर लेता है। इसी बीच करन को पूरी तरह तबाह करने के लिए कामत और ढोलकिया एक हो जाते हैं।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत जावेद अख्तर द्वारा लिखित; सारा संगीत लक्ष्मीकांत प्यारेलाल[1] द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."जीवन एक संघर्ष है — I"मोहम्मद अज़ीज़, कविता कृष्णमूर्ति6:00
2."मिल गई ओ मुझे मिल गई"अमित कुमार, अलका याज्ञनिक5:13
3."बच के तू जाएगी कहाँ"अमित कुमार, कविता कृष्णमूर्ति6:00
4."हे बाबा रे बाबा"अमित कुमार, कविता कृष्णमूर्ति6:54
5."हुस्न की मल्लिका मैं"अमित कुमार, कविता कृष्णमूर्ति5:00
6."जीवन एक संघर्ष है — II"मोहम्मद अज़ीज़, कविता कृष्णमूर्ति3:13
कुल अवधि:32:20

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Hara Mandira Siṃha. Hindi filmography: 1981-1999, Volume 2. Satinder Kaur, University of California. पृ॰ 266.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]