जिहाद अल-निकाह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जिहाद अल-निकाह हाल के वर्षों में इस्लाम धर्म के कुछ इराकी सम्प्रदायों की अवधारणा है जिसके तहत कोई मुस्लिम महिला विवाहेतर शारीरिक संबंध बना सकती है।[1] जिहाद को न्यायोचित तरीका मानने वाले कुछ सलफ़ी सुन्नी मुस्लिम संगठन जिहाद अल-निकाह का समर्थन करते हैं।[2][3][4]

हाल के समय में खाड़ी के अधिकांश समाचारपत्रों ने "जिहाद अल-निकाह" खंडन किया है। [5]

ईन्हें भी दी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "ट्यूनीशिया: महिलाओं का जिहाद-अल-निकाह". बीबीसी हिन्दी. २२ सितम्बर २०१३. अभिगमन तिथि ६ जुलाई २०१४.
  2. निकाह जेहाद के लिए आईएसआईएस का टाइम टेबल (ईरान हिन्दी रेडियो)
  3. सीरिया में विद्रोहियों की खातिर ट्यूनिश महिलाएं चला रही हैं "सेक्स जिहाद" (खास खबर)
  4. नोया रायमान (२० सितम्बर २०१३). "Tunisian Women Go on 'Sex Jihad' to Syria, Minister Says" (अंग्रेज़ी में). द टाइम. अभिगमन तिथि ६ जुलाई २०१४.
  5. "جهاد نکاح"؛ واقعیت یا هیاهوی رسانه‌ای؟