जिहादवाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जिहादवाद "उग्रवादी इस्लामी आन्दोलनों की ओर इंगित करता है जो कि पश्चिम के अस्तित्व के लिए खतरा हैं" और "राजनीतिक इस्लाम में निहित" है। पाकिस्तानी और भारतीय मीडिया में पहले दिखाई देने पर, पश्चिमी पत्रकारों ने 2001 के 11 सितम्बर के हमलों के बाद इस शब्द को अपनाया। तब से इसे विभिन्न विद्रोही और आतंकवादी आन्दोलनों पर लागू किया गया है। जिनकी विचारधारा जिहाद की इस्लामी धारणा पर आधारित है।

समकालीन जिहादवाद की जड़ें अन्ततः 19वीं सदी के अन्त में और 20वीं सदी की प्रारम्भ में इस्लामी पुनरुत्थानवाद के वैचारिक विकास में हैं। जो आगे कुतुबवाद और 20वीं और 21वीं शताब्दी के दौरान सम्बन्धित इस्लामवादी विचारधाराओं में विकसित हुई। 1979 से 1989 के सोवियत-अफगान युद्ध में भाग लेने वाले इस्लामी आतंकवादी संगठनों ने जिहादवाद के उदय को मजबूत किया, जिसे 1990 और 2000 के दशक में विभिन्न सशस्त्र संघर्षों में प्रचारित किया गया। गिल्स केपेल ने 1990 के दशक के सलाफ़ी आन्दोलन के भीतर विशेष रूप से सलाफ़ी जिहादवाद का निदान किया है।