जिब्राल्टर की राजनीति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जिब्राल्टर का राष्ट्रीय-चिह्न

जिब्राल्टर औबेरियन प्रायद्वीप और यूरोप के दक्षिणी छोर पर भूमध्य सागर के प्रवेश द्वार पर स्थित एक स्वशासी ब्रिटिश प्रवासी शासित प्रदेश है। 6.843 वर्ग किलोमीटर (2.642 वर्ग मील) में फैले इस देश की सीमा उत्तर में स्पेन से मिलती है। जिब्राल्टर ऐतिहासिक रूप से ब्रिटेन के सशस्त्र बलों के लिए एक महत्वपूर्ण आधार रहा है और शाही नौसेना का एक आधार है।[1]

जिब्राल्टर की राजनीति एक संसदीय प्रतिनिधि लोकतांत्रिक ब्रिटिश प्रवासी क्षेत्र की रूपरेखा के अंतर्गत आती है। यूनाइटेड किंगडम के सम्राट, जिनका जिब्राल्टर के राज्यपाल द्वारा प्रतिनिधित्व किया जाता है, राज्य के संवैधानिक प्रमुख हैं। जिब्राल्टर के मुख्यमंत्री सरकार के प्रमुख हैं। एक ब्रिटिश प्रवासी क्षेत्र के रूप में जिब्राल्टर की सरकार यूनाइटेड किंगडम की सरकार के अधीनस्थ नहीं है। हालांकि यूनाईटेड किंगडम सरकार जिब्राल्टर के रक्षा और विदेश विभाग के लिए जिम्मेदार है लेकिन स्थानीय सरकार 2006 के संविधान के तहत पूर्ण आंतरिक स्वशासन की प्रतिनिधित्व है। जिब्राल्टर का यूरोपीय संघ में प्रतिनिधित्व है और यह केवल एकमात्र ऐसा ब्रिटिश विदेशी शासित प्रदेश था परिग्रहण की ब्रिटिश संधि (1973) के तहत यूरोपीय आर्थिक समुदाय में सदस्यता प्राप्त करी थी।[2][3]

जिब्राल्टर में विभिन्न विचारधाराओं का पालन करने वाले राजीनीतिक दल हैं जो स्थानीय मुद्दों को सम्बोधित करने के लिए बने हैं। वर्ष 2006 में जिब्राल्टर के नए सविधान की प्रस्तावना में दुहराया गया है कि महारानी की सरकार कभी भी किसी भी ऐसी व्यवस्था को मान्यता नहीं देगी जिसमें जिब्राल्टर के लोग उनकी मुक्त और लोकतांत्रिक तरीके से व्यक्त इच्छाओं के विरुद्ध किसी अन्य देश की संप्रभुता के अंतर्गत सौप दिए जाएँ। यह वाक्य 1969 में बने जिब्राल्टर के सविधान से लिया गया है।[4]

कार्यकारी शाखा[संपादित करें]

चूँकि जिब्राल्टर एक ब्रिटिश प्रवासी शासित प्रदेश है, इसकी राज्याध्यक्ष एलिज़ाबेथ द्वितीय हैं जिनका जिब्राल्टर में राज्यपाल द्वारा प्रतिनिधित्व किया जाता है। यूनाइटेड किंगडम के पास जिब्राल्टर की सुरक्षा, उसके अंतर्राष्ट्रीय संबंध, आंतरिक सुरक्षा और वित्तीय स्थिरता की जिम्मेदारी है।

निवर्तमान राज्याध्यक्ष एलिज़ाबेथ द्वितीय हैं। जिब्राल्टर के राज्यपाल सर एड्रियन जोन्स हैं। जिब्राल्टर सोशलिस्ट लेबर पार्टी और जिब्राल्टर लिबरल पार्टी के गठबंधन की 2011 के आम चुनाव में हुई जीत के बाद निर्वाचित मुख्यमंत्री बने फेबियन पिकार्डो हैं।

सरकार[संपादित करें]

जिब्राल्टर की सरकार चार वर्ष की अवधि के लिए चुनी जाती है। सरकार के अध्यक्ष जिब्राल्टर के मुख्यमंत्री होते हैं, जो निवर्तमान समय में जिब्राल्टर सोशलिस्ट लेबर पार्टी के फेबियन पिकार्डो हैं। इनका कार्यकाल 9 दिसम्बर 2011 से शुरू हुआ था, 2011 के आम चुनाव के एक दिन के पश्चात। 2011 जिब्राल्टर आम चुनाव 8 दिसम्बर के दिन आयोजित हुए थे।[5] चुनाव के अंदर जिब्राल्टर सोशलिस्ट लेबर पार्टी और जिब्राल्टर लिबरल पार्टी का गठबंधन विजयी हुआ था।[6] विपक्ष के नेता जिब्राल्टर सोशल डैमोक्रैट्स के सदस्य और पूर्व मुख्यमंत्री पीटर करुआना हैं।

विधायिका[संपादित करें]

जॉन मैकिन्टौश स्क्वयर पर स्थित जिब्राल्टर संसद

जिब्राल्टर संसद (जिसे पहले हाउस ऑफ़ असेम्बली के नाम से जाना जाता था) में सत्रह निर्वाचित सदस्य और एक स्पीकर होता है। वर्ष 1969 से जिब्राल्टर में बहुलता में बड़े मतदान की प्रणाली को अपनाता है जिसके अंर्तगत हर मतदाता को दस उम्मीद्वारों के लिए मतदान करता होता है। ऐसा आवश्यक नहीं है कि ये दस एक ही दल के हों परन्तु समान्यतः ये एक ही दल के होते हैं। जितने वाले उम्मीदवार साधारण बहुलता के अनुसार चुने जाते हैं; परिणामस्वरूप वो दल जो सरकार बनाना चाहता है अपने दस उम्मीदवार चुनाव में उतारता है और सरकार उसी दल या गठबंधन की बनती है जिसके सभी दस उम्मीदवार जीत जाते हैं। बाकि बची सीट 'सर्वश्रेष्ठ' हारे हुए दल या गठबंधन को जाती हैं जो संसद में विपक्ष का कार्य करता है। अंतिम चुनाव 8 दिसम्बर 2011 में आयोजित हुए थे।

राजनीतिक दल और चुनाव[संपादित करें]

जिब्राल्टर की संसद में कुल तीन राजनीतिक दलों के सांसद हैं: जिब्राल्टर सोशल डैमोक्रैट्स, जिब्राल्टर सोशलिस्ट लेबर पार्टी और जिब्राल्टर लिबरल पार्टी। जिब्राल्टर के अन्य सक्रिय दल हैं: न्यू जिब्राल्टर डेमोक्रेसी और प्रोग्रेसिव डैमोक्रेटिक पार्टी।[7]

कई राजनीतिक दल जिन्होंने 2011 के चुनाव में हिस्सा नहीं लिया था और काफ़ी समय से असक्रिय हैं: जिब्राल्टर लेबर पार्टी, जिब्राल्टर रिफोर्म पार्टी, डैमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ ब्रिटिश जिब्राल्टर, जिब्राल्टर डैमोक्रेटिक मूवमेंट, इंटीग्रेशन विद ब्रिटेन पार्टी, कॉमनवेल्थ पार्टी, पार्टी फॉर द ऑटोनोमी ऑफ़ जिब्राल्टर और एसोसिएशन फॉर द एडवांसमेंट ऑफ़ सिसिल राइट्स।[7]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Gibraltar". CIA. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2012.
  2. Oliva, Francis (13 दिसम्बर 2011). "Picardo announces new Govt ministerial portfolios". जिब्राल्टर क्रॉनिकल. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2012.
  3. "Explanatory Notes to European Parliament (Representation) Act 2003". The Office of Public Sector Information. 13 मई 2003. मूल से 13 फ़रवरी 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2012.
  4. "जिब्राल्टर का सविधान" (पीडीऍफ़) (अंग्रेज़ी में). जिब्राल्टर सरकार. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2012.
  5. "Gibraltar general election on 8 दिसम्बर". पनोरमा. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2011.
  6. Oliva, Francis (9 दिसम्बर 2011). "Picardo Edges into Office with 2% Win". जिब्राल्टर क्रॉनिकल. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2011.
  7. "2011 Elections – Poll and Result" (पीडीऍफ़) (अंग्रेज़ी में). जिब्राल्टर की सरकार. अभिगमन तिथि 26 दिसम्बर 2012.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]